दुनिया

कोरोना वायरस: मरने वालों की संख्या 700 के पार; संक्रमण के मामले 23 हज़ार से अधिक

कोरोना वायरस से विश्व में 1.90 लाख से ज़्यादा लोगों की मौत. चीन में सिर्फ़ छह नए मामले सामने आए. दक्षिण अफ्रीका में लॉकडाउन में ढील की घोषणा. फिलीपींस में 15 मई तक लागू रहेगा लॉकडाउन. ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय द्वारा बनाए गए टीके का ब्रिटेन में इंसानों पर परीक्षण शुरू.

Jaipur: Residents look out from their windows, during the nationwide lockdown to curb the spread of coronavirus, in Jaipur, Thursday, April 23, 2020. (PTI Photo)(PTI23-04-2020_000167B)

कोरोना वायरस के चलते लागू लॉकडाउन के बीच अपने घरों से झांकते लोग. (फोटो: पीटीआई)

नई दिल्ली/लंदन: देश में शुक्रवार को कोरोना वायरस यानी कोविड-19 की वजह से मरने वाले लोगों की संख्या बढ़कर 718 हो गई और संक्रमण के मामलों की संख्या 23,077 तक पहुंच गई.

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार, कोविड-19 के 17,610 मरीजों का अब भी इलाज चल रहा है, जबकि 4,748 लोग ठीक हो चुके हैं और उन्हें अस्पतालों से छुट्टी मिल चुकी है. एक मरीज विदेश चला गया था.

हालांकि, भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) ने कहा कि कोरोना वायरस के अब तक कुल 23,502 पुष्ट मामले सामने आए हैं.

स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि देश में रिपोर्ट किए गए कोविड-19 के कुल 23,077 मामलों में से 77 विदेशी नागरिक हैं.

मंत्रालय ने कहा कि बृहस्पतिवार शाम से अब तक कुल 32 मौतें हुई हैं, जिनमें से 14 मौतें महाराष्ट्र में, नौ गुजरात में, तीन उत्तर प्रदेश में और दो-दो मौतें दिल्ली, मध्य प्रदेश और तमिलनाडु में हुई हैं.

718 मौतों में से, 283 मौतों के साथ महाराष्ट्र सबसे ऊपर है. इसके बाद गुजरात का नंबर है, जहां 112 मौतें हुई हैं, जबकि मध्य प्रदेश में 83, दिल्ली में 50, राजस्थान और आंध्र प्रदेश में 27-27 मौतें हुई हैं.

उत्तर प्रदेश और तेलंगाना में 24-24, तमिलनाडु में 20 और कर्नाटक में 17 लोगों की मौत हुई है.

पंजाब में 16 मौतें हुई हैं, जबकि पश्चिम बंगाल में 15 मौतें हुई हैं. इस बीमारी ने जम्मू कश्मीर में पांच लोगों की जान ले ली है, जबकि केरल, झारखंड और हरियाणा में में तीन-तीन लोगों की मौत हुई है.

मंत्रालय के अद्यतन आंकड़ों के अनुसार, बिहार में दो मौतें हुई हैं, जबकि मेघालय, हिमाचल प्रदेश, ओडिशा और असम में एक-एक मौत हुई है.

मंत्रालय द्वारा बृहस्पतिवार की सुबह में अपडेट किए गए आंकड़ों के अनुसार, देश में कोविड-19 के सबसे अधिक पुष्ट मामले महाराष्ट्र में हैं, जहां संक्रमण के मामले 6,430 हो गए हैं. इसके बाद गुजरात में 2,624 मामले, दिल्ली में 2,376, राजस्थान में 1,964, मध्य प्रदेश में 1,699 और तमिलनाडु में 1,683 मामले हैं.

कोविड-19 मामलों की संख्या उत्तर प्रदेश में 1,510, तेलंगाना में 960 और आंध्र प्रदेश में 895 हो गई है.

पश्चिम बंगाल में 514, केरल में 447, कर्नाटक में 445, जम्मू कश्मीर में 427, पंजाब में 277 और हरियाणा में 272 मामले सामने आए हैं.

बिहार में कोरोना वायरस के 153 मामले सामने आए हैं, जबकि ओडिशा में 90 मामले हैं. झारखंड में 53 लोग वायरस से संक्रमित हुए हैं, उत्तराखंड में 47 और हिमाचल प्रदेश में 40 लोग संक्रमित हुए हैं.

छत्तीसगढ़ और असम में अब तक 36-36 संक्रमण के मामले सामने आए हैं.

चंडीगढ़ में कोविड-19 के 27 मामले, अंडमान और निकोबार द्वीप समूह में 22, जबकि लद्दाख में 18 मामले सामने आए हैं.

मेघालय में 12 मामले सामने आए हैं, जबकि गोवा और पुदुचेरी में सात-सात मामले हैं. मणिपुर और त्रिपुरा में दो-दो मामले हैं, जबकि मिजोरम और अरुणाचल प्रदेश में एक-एक मामला सामने आया है.

अमेरिका की जॉन्स हॉपकिन्स यूनिवर्सिटी के आंकड़े के मुताबिक, दुनिया भर में अब तक एक लाख 90 हजार 890 लोगों की मौत हो चुकी है और 27 लाख 10 हजार 283 लोग संक्रमित हुए हैं.

कोरोना वायरस से सर्वाधिक प्रभावित देश अमेरिका है. समाचार एजेंसी रॉयटर्स के मुताबिक अमेरिका में बृहस्पतिवार तक तकरीबन 49,000 लोगों की मौत हो चुकी है और संक्रमण के मामले 869,172 हो चुके हैं.

जॉन्स हॉपकिन्स यूनिवर्सिटी के अनुसार, इसके बाद इटली में कोरोना वायरस से 25,549 लोगों की मौत हुई और संक्रमण के 189,973 मामले सामने आ चुके हैं. स्पेन में मरने वालों की संख्या 22,157 हो चुकी है, जबकि संक्रमण के 213,024 मामले दर्ज किए जा चुके हैं.

इसी तरह फ्रांस में अब तक 21,856 लोग अपनी जान गंवा चुके हैं और 159,467 लोगों के संक्रमित होने के मामले सामने आए हैं. ब्रिटेन में 18,738 लोगों की जान जा चुकी हैं और संक्रमण के 139,246 मामले दर्ज किए गए हैं.

कोरोना वायरस से बुरी तरह से प्रभावित देशों में एक ईरान में अब तक 5,481 लोगों की मौत हो चुकी है और संक्रमण के 87,026 मामले दर्ज किए जा चुके हैं.

कोविड-19 टीके का ब्रिटेन में मनुष्य पर परीक्षण शुरू

प्रतिष्ठित ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय द्वारा नोवेल कोरोना वायरस के इलाज के लिए विकसित टीके का मनुष्य पर परीक्षण बृहस्पतिवार को ब्रिटेन में शुरू हुआ और वैज्ञानिकों ने इसके सफल होने की 80 प्रतिशत संभावना जताई है.

(फोटो: रॉयटर्स)

(फोटो: रॉयटर्स)

ब्रिटेन की सरकार ने कोरोना वायरस टीका परीक्षण कार्यक्रम में दो करोड़ पाउंड देने का ऐलान किया है. ब्रिटेन के स्वास्थ्य मंत्री मैट हैनकॉक ने कहा कि सरकार घातक वायरस के खिलाफ टीका विकसित करने के लिए हरसंभव निवेश करेगी.

उन्होंने कहा, ‘दुनिया में सफल टीका विकसित करने का पहला देश होने को लेकर उम्मीदें इतनी ज्यादा हैं कि मैं इस पर सब कुछ लगा रहा हूं.’

टीके को चिंपाजी से प्राप्त एक हानिरहित वायरस से बनाया गया है. ब्रिटेन में परीक्षण में शामिल होने के लिए लोगों को 625 पाउंड की पेशकश की जा रही है और अगले महीने के मध्य तक इस अनुसंधान के लिए 500 लोगों को पंजीकृत करने का लक्ष्य है.

ऑक्सफोर्ड की टीका परियोजना की प्रमुख प्रोफेसर साराह गिलबर्ट हैं और उनके साथ अन्य वैज्ञानिकों ने इस साल जनवरी में टीके के विकास पर काम शुरू किया था.

चीन में नए मामले महज छह; निजी कंपनियों ने जांच सेवाएं शुरू की

बीजिंग: चीन में कोरोना वायरस के नए पुष्ट मामले कम होकर अब एकल-अंक तक रह गए हैं, जबकि अलीबाबा और टेनसेंट जैसी बड़ी प्रौद्योगिकी कंपनियों ने कोविड-19 जांच के लिए बुकिंग सेवाएं शुरू की हैं.

चीन के राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयोग (एनएचसी) ने शुक्रवार को कहा कि गुरुवार को देश में वायरस के छह नए पुष्ट मामले सामने आए, जिनमें से दो बाहर से आए हुए लोग हैं और चार स्थानीय संक्रमण के मामले हैं.

गुरुवार तक चीन में विदेशों से आए हुए लोगों में संक्रमण के कुल 1,618 मामले सामने आए हैं, जिनमें से 32 की हालत गंभीर है. बिना लक्षण वाले 34 नए मामले हैं.

चीन में ऐसे कई मामले सामने आए हैं, जिनमें लोगों की कोविड-19 की जांच रिपोर्ट पॉजिटिव निकली, लेकिन उन्हें बुखार, खांसी या गले में खराश जैसे कोई लक्षण नहीं होते हैं. ऐसे लोगों से बीमारी फैलने की आशंका बनी रहती है.

देश में अब तक कोरोना वायरस से कुल 4,632 लोगों की मौत हो चुकी है. गुरुवार को कोई मौत नहीं हुई.

एनएचसी ने कहा कि चीन में गुरुवार को कोविड-19 के कुल पुष्ट मामले 82,804 हो गए. कोरोना वायरस का केंद्र रहे चीन के हुबेई प्रांत और उसकी राजधानी वुहान में पिछले कुछ दिनों से कोविड-19 का कोई नया मामला न तो सामने आया है और न ही किसी मौत की खबर है.

(फोटो: रॉयटर्स)

(फोटो: रॉयटर्स)

चीन ने आठ अप्रैल को वुहान में लॉकडाउन हटा दी थी और लोगों को शहर के अंदर और बाहर दोनों जगह यात्रा करने की अनुमति दे दी गई.

इस बीच चीनी इंटरनेट और ई-कॉमर्स कंपनियां अलीबाबा ग्रुप, जेडीडॉटकॉम और टेनसेंट ने कोविड-19 जांच के लिए बुकिंग सेवाएं शुरू की हैं.

समाचार एजेंसी शिन्हुआ की रिपोर्ट के मुताबिक, चीन महामारी की रोकथाम और नियंत्रण के लिए कोविड-19 जांच में तेजी लाने का प्रयास कर रहा है, इसलिए ये सेवाएं शुरू की गई हैं.

गुरुवार तक हांगकांग में कोरोना वायरस के 1,035 मामले सामने आए हैं, जिनमें से चार लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि मकाऊ में 45 मामले और ताइवान में 427 मामले सामने आए हैं, जिनमें छह मौतें शामिल हैं. हांगकांग में कुल 699 मरीज, मकाऊ में 27 और ताइवान में 253 मरीज ठीक हो चुके हैं.

फिलीपींस के राष्ट्रपति ने मार्शल लॉ लागू करने की धमकी दी

मनीला: फिलीपींस के राष्ट्रपति रोद्रिगो दुतेर्ते ने साम्यवादी विद्रोहियों पर ग्रामीणों को नकदी एवं भोजन पहुंचाने जा रहे दो सैनिकों की हत्या करने का आरोप लगाया और देश में मार्शल लॉ लगाने की धमकी दी.

फिलीपींस दुनिया के अन्य देशों की तरह कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण से निपटने की कोशिश कर रहा है.

राष्ट्रपति के प्रवक्ता हैरी रोक ने शुक्रवार को कहा कि दुतेर्ते ने कैबिनेट के अधिकारियों के साथ बैठक में मनीला और कई प्रांतों एवं शहरों में बंद की अवधि 15 मई तक बढ़ाने की मंजूरी दी.

दुतेर्ते ने टेलीविजन पर प्रसारित अपने भाषण में साम्यवादी विद्रोहियों से कहा, ‘मैं हरेक को चेतावनी दे रहा हूं और सशस्त्र बलों एवं पुलिस को नोटिस दे रहा हूं कि मैं मार्शल लॉ लागू कर सकता हूं. इसके बाद पीछे नहीं हटा जाएगा.’

दुतेर्ते ने आरोप लगाया कि ‘न्यू पीपुल्स आर्मी’ के गुरिल्ला ने बड़ी कंपनियों से बड़ी राशि जबरन वसूली और मृत जवानों के हथियार चुराए हैं.

विद्रोहियों ने इन आरोपों से इनकार किया और कहा कि वे ग्रामीणों की इस महामारी से लड़ने में मदद कर रहे हैं.

फिलीपींस में कोविड-19 के 7,000 मामले सामने आए हैं और 462 लोगों की इससे मौत हो चुकी है.

बांग्लादेश में बंद पांच मई तक बढ़ा, संक्रमण के मामले बढ़कर 4186 हुए

ढाका: बांग्लादेश में चिकित्सकों और स्वास्थ्यकर्मियों सहित अन्य लोगों के बीच कोविड-19 के संक्रमण का खतरा बढ़ने की चेतावनी के मद्देनजर देशव्यापी बंद (शटडाउन) को पांच मई तक के लिए बढ़ा दिया गया है.

देश में कोरोना वायरस संक्रमण के 414 नए मामले सामने आने के साथ कुल मामले बढ़ कर 4,186 हो गए हैं और शुक्रवार तक मरने वालों की संख्या 127 हो गई थी.

सरकार ने कोरोना वायरस संक्रमण को फैलने से रोकने के लिये 26 मार्च को 10 दिनों के लिए छुट्टी की घोषणा की थी, जिसे क्रमिक रूप से 25 अप्रैल तक बढ़ा दिया गया, क्योंकि देश में कोविड-19 के मामलों में वृद्धि होती रही और संक्रमण से मरने वाले लोगों की संख्या बढ़ी.

मंत्रिमंडल प्रभाग के प्रवक्ता ने कहा कि सरकार देशव्यापी बंद पांच मई तक बढ़ाएगी क्योंकि स्वास्थ्य अधिकारियों के मुताबिक यह महामारी देश के 64 प्रशासनिक जिलों में से 58 में फैल चुकी है, जिससे समुदाय स्तर पर स्थिति बिगड़ने का संकेत मिलता है.

उल्लेखनीय है कि स्वास्थ्य सेवा महानिदेशालय ने कहा है कि कोरोना वायरस संक्रमण से बीते एक दिन में सात और लोगों की मौत हो गई है. ये सभी लोग ढाका से थे.

इस बीच, स्वास्थ्य अधिकारियों ने कहा कि चिकित्सक और स्वास्थ्यकर्मी इस महामारी से सर्वाधिक पीड़ित नजर आ रहे हैं क्योंकि अब तक 186 चिकित्सक सहित 334 स्वास्थ्यकर्मी संक्रमित हुए हैं. संक्रमण के मामलों के पेशेवर वर्गीकरण में पुलिसकर्मी दूसरे स्थान पर हैं. अधिकारियों ने बताया कि बुधवार तक 217 पुलिसकर्मियों के संक्रमित होने की पुष्टि हुई.

ऑस्ट्रेलिया कोरोना वायरस को काबू में करने के लिए अच्छी प्रगति कर रहा हैः प्रधानमंत्री

मेलबर्न: प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन ने बृहस्पतिवार को कहा कि ऑस्ट्रेलिया जानलेवा कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने में अच्छी प्रगति कर रहा है और देश ‘कोविड सुरक्षित अर्थव्यवस्था’ की राह पर लौट रहा है.

(फोटो: रॉयटर्स)

(फोटो: रॉयटर्स)

मॉरिसन ने महामारी पर अपडेट देते हुए यह भी बताया कि सरकार तीन-चार हफ्तों में पाबंदियों में कटौती के बारे में भी विचार कर रही है. उन्होंने कहा कि यह भी अहम है कि हमें आत्म संतुष्टि में नहीं पड़ना चाहिए.

ऑस्ट्रेलिया में कोरोना वायरस के 6600 से ज्यादा मामले हैं और 76 लोगों की मौत हुई है.

प्रधानमंत्री ने कहा, ‘हम पटरी पर लौट रहे हैं और यह उन उपायों से दिख रहा है, जो हमने किए हैं.’

वित्त मंत्री जोश फ्राइडेनबर्ग ने कहा कि ऑस्ट्रेलिया कर कार्यालय समय से पहले पेंशन के लिए करीब 500,000 आवेदनों को मंजूरी दे चुका है, जो कुल 3.8 अरब ऑस्ट्रेलाई डॉलर होता है.

मॉरिसन ने यह भी बताया कि हर दिन करीब 50,000 लोग ‘जॉब सीकर पेमेंट’ और संबंधित योजनाओं में पंजीकृत करा रहे हैं. ‘जॉब सीकर पेमेंट’ योजना कोरोना वायरस से प्रभावित कारोबार और उससे जुड़े लोगों की मदद के लिए शुरू की गई है.

दक्षिण अफ्रीका ने लॉकडाउन में ढील देने के लिए पांच-स्तरीय योजना की घोषणा की

जोहानिसबर्ग: दक्षिण अफ्रीका के राष्ट्रपति सिरील रामाफोसा ने 27 मार्च से देशभर में लगे लॉकडाउन में थोड़ी ढील देने की घोषणा की है.

राष्ट्रपति ने गुरुवार को कहा कि एक मई से लॉकडाउन को वर्तमान स्तर पांच से कम करके चार कर दिया जाएगा, जिसमें कुछ व्यवसाय को सख्त शर्तों के साथ संचालन फिर से शुरू करने की अनुमति होगी. इस लॉकडाउन की वजह से अत्यधिक आर्थिक संकट पैदा हो गया है, जिससे रोजगार का भारी नुकसान हुआ है, व्यापार बंद हो गए और भुखमरी बढ़ गई है.

रामाफोसा ने लॉकडाउन में ढील देने के लिए एक नई पांच-स्तरीय योजना का विवरण साझा किया, जिसमें संक्रमण के खतरे को देखते हुए राष्ट्रीय, प्रांतीय, जिला और महानगरीय स्तर पर किए जाने वाले उपाय शामिल होंगे.

उन्होंने कहा, ‘गुरुवार, 30 अप्रैल के बाद हम लॉकडाउन प्रतिबंधों को कम करने के लिए सोच-समझकर एक सतर्क रुख अपनाते हुए एक जोखिम समायोजित रणनीति को लागू करेंगे.’

(फोटो: रॉयटर्स)

(फोटो: रॉयटर्स)

रामाफोसा ने आगे कहा कि कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए देशव्यापी लॉकडाउन सबसे बेहतर तरीका है, लेकिन इसे अनिश्चित काल के लिए जारी नहीं रखा जा सकता है.

इस देश में कोरोना वायरस से अब तक 75 लोगों की मौत हो चुकी है और संक्रमण के 3,953 मामले दर्ज किए गए हैं.

सिंगापुर में कोरोना से संक्रमित भारतीय नागरिक की मौत

कोरोना वायरस से संक्रमित एक भारतीय नागरिक यहां बृहस्पतिवार को मृत मिला. पुलिस ने बताया कि 46 वर्षीय भारतीय नागरिक यहां के एक अस्पताल की सीढ़ियों पर मृत मिला.

भारतीय उच्चायोग ने यहां कहा कि वह उन वास्तविक परिस्थितियों के विवरण की प्रतीक्षा कर रहा है, जिनमें भारतीय नागरिक की मौत हुई. उच्चायोग ने एक ईमेल में बताया कि हम पूछताछ पूरा होने के बाद पुलिस से मौत के संबंध में जानकारी का इंतजार कर रहे हैं.

सिंगापुर के स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार मृतक कोविड-19 का मरीज था. मानव संसाधन मंत्रालय ने बताया कि मृतक एक निर्माण श्रमिक के रूप में काम करता था. सिंगापुर में अब तक कोरोना वायरस के कुल 11,178 मामले सामने आए हैं और इनमें 12 लोगों की मौत हो चुकी है.

नेपाल में कोरोना वायरस के मामले बढ़कर 47 हुए

काठमांडू: नेपाल में बृहस्पतिवार को कोरोना वायरस संक्रमण के दो नए मामले सामने आने के साथ ही देश में इस महामारी के मामले बढ़कर 47 हो गए.

स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार नेपाल के दक्षिणी भाग के जनकपुर में 19 साल के एक लड़के और पूर्वी भाग के उदयपुर जिले में 55 साल की एक महिला में कोरोना वायरस संक्रमण की पुष्टि हुई.

मंत्रालय के मुताबिक, बृहस्पतिवार को टेकू के सरकारी अस्पताल से सफल उपचार के बाद दो मरीजों को छुट्टी दे दी गई और दोनों ही शहर के सनसिटी अपार्टमेंट के निवासी हैं. इसी के साथ ही नेपाल में अब तक कोरोना वायरस के नौ मरीज स्वस्थ हो चुके हैं.

नेपाल ने सीमापार से कोराना वायरस का संक्रमण रोकने के लिए भारत नेपाल सीमा पर सुरक्षा बढ़ा दी है. मंगलवार को नेपाल सरकार ने देश में कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों के मद्देनजर लॉकडाउन 27 अप्रैल तक बढ़ाने का निर्णय लिया था.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)