भारत

पश्चिम बंगालः हावड़ा में लॉकडाउन का पालन करा रही पुलिस पर हमला, दो पुलिसकर्मी घायल

यह घटना हावड़ा के टिकियापाड़ा की है. लॉकडाउन और सोशल डिस्टेंसिंग नियमों का उल्लंघन करते हुए लोग बड़ी तादाद में स्थानीय बाजार में जमा हो गए थे.

पश्चिम बंगाल के हावड़ा में लॉकडाउन का पालन कराने गई पुलिस की टीम पर हमला. (फोटो: एएनआई)

पश्चिम बंगाल के हावड़ा में लॉकडाउन का पालन कराने गई पुलिस की टीम पर हमला. (फोटो: एएनआई)

कोलकाता: पश्चिम बंगाल के हावड़ा में लॉकडाउन का पालन कराने की कोशिश कर रहे पुलिसकर्मियों पर स्थानीय लोगों ने हमला कर दिया. इस घटना में दो पुलिसकर्मी घायल हो गए.

यह घटना हावड़ा के टिकियापाड़ा में मंगलवार शाम को हुई.

पुलिस को सूचना मिली थी कि इस अल्पसंख्यक बहुल इलाके में लॉकडाउन और सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का उल्लंघन करते हुए लोग बड़ी तादाद में स्थानीय बाजार में जमा हो गए हैं.

पुलिस के एक अधिकारी ने बताया, ‘जैसे ही पुलिस ने उन्हें घर लौटने के लिये कहा, भीड़ ने उन पर पथराव कर दिया और उनकी पिटाई कर दी. घटना में दो पुलिस वाहन भी क्षतिग्रस्त हुये हैं.’

इस घटना के संबंध में वायरल वीडियो में देखा जा सकता है कि जान बचाने के लिए पुलिसकर्मी भाग रहे हैं और लोग उन पर पत्थर फेंक रहे हैं और बदसलूकी कर रहे हैं.

पुलिस ने बताया कि हमले में घायल दो पुलिसकर्मियों को स्थानीय अस्पताल में भर्ती कराया गया है. स्थिति को नियंत्रित करने के लिए रैपिड एक्शन फोर्स (आरएएफ) समेत बड़ी संख्या में पुलिसकर्मियों को मौके पर भेजा गया.

मालूम हो कि हावड़ा पश्चिम बंगाल के उन चार जिलों में से एक है, जिसे कोरोना के मद्देनजर रेड जोन घोषित किया गया है और 75 फीसदी कोविड-19 के मामले यहीं से आए हैं. अन्य तीन जिले कोलकाता, पूर्वी मिदनापुर और 24 उत्तर परगना है.

एनडीटीवी की रिपोर्ट के मुताबिक, पुलिस पर गुस्साई भीड़ के पथराव करने की वजह से पुलिसकर्मियों को तिकियापारा पुलिस चौकी में शरण लेनी पड़ी.

इसके बाद भीड़ ने पुलिस चौकी पर भी पथराव किया. इस दौरान दो पुलिस वाहनों में तोड़फोड़ की गई.

हावड़ा से विधायक और ममता बनर्जी की सरकार में मंत्री राजीव बनर्जी ने कहा, ‘यह घटना दुर्भाग्यपूर्ण है और वे इस बात पर गौर करेंगे कि भीड़ ने किस वजह से हिंसा की. दोषियों पर कड़ी कार्रवाई की जाएंगी.’

पश्चिम बंगाल भाजपा ने ट्वीट कर कहा, ‘पश्चिम बंगाल के हावड़ा जिले के टिकियापाड़ा में लॉकडाउन का अनुपालन कराने गई पुलिस पर भीड़ ने पथराव किया. ममता बनर्जी की तृष्टिकरण को धन्यवाद. उनके विश्वस्त मतदाता अब पुलिस पर पथराव कर रहे हैं.’

बता दें कि इससे पहले गुजरात के सूरत में भी लॉकडाउन लागू कराने की कोशिश कर रहे सुरक्षाकर्मियों पर कुछ स्थानीय लोगों ने कथित तौर पर पत्थर फेंके थे. इस घटना में एक पुलिसकर्मी घायल हो गया था.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)