दुनिया

कोरोना वायरस: देश में मरने वालों की तादाद हज़ार के पार, अमेरिका में संक्रमण के मामले 10 लाख हुए

कोरोना वायरस के कारण अमेरिका में क़रीब 58,000 लोगों की मौत हो चुकी है, जो दुनियाभर में 217,674 लोगों की मौत का एक चौथाई है. सिंगापुर में संक्रमित लोगों की संख्या 15,641 हुई, इनमें से 12,183 लोग प्रवासी कामगार हैं. लॉकडाउन में ढील देने के बीच स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने सतर्कता बरतने की अपील की. 

New Delhi: A girl pedals a cycle as a woman sits on its carrier with a bag of essential items on her head, during ongoing COVID-19 lockdown in New Delhi, Thursday, April 23, 2020. (PTI Photo/Vijay Verma) (PTI23-04-2020 000087B)

भारत की राजधानी नई दिल्ली में लॉकडाउन के बीच जरूरी सामान लेकर साइकिल से घर लौटती युवती. (फोटो: पीटीआई)

नई दिल्ली/वॉशिंगटन/बैंकॉक/पेरिस: देश में कोरोना वायरस से मरने वालों की संख्या बुधवार को 1,007 हो गई है जबकि संक्रमित मामलों की तादाद बढ़कर 31,332 पर पहुंच गई.

स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि संक्रमण से 7,695 मरीज ठीक हो गए हैं और एक देश से चला गया था. वहीं 22,629 लोगों का अब भी संक्रमण का इलाज चल रहा है.

कुल मामलों में 111 विदेशी शामिल हैं.

मंगलवार शाम से अब तक कुल 70 मरीजों की जान गई है, जिनमें से महाराष्ट्र में 31, गुजरात में 19, मध्य प्रदेश में 7, राजस्थान में 5, उत्तर प्रदेश में 3, पश्चिम बंगाल में 2 मौतें हुई हैं जबकि जम्मू कश्मीर, पंजाब तथा तमिलनाडु में एक-एक मरीज ने दम तोड़ा है.

देश में कोविड-19 से हुई 1,007 मौत में से सबसे ज्यादा 400 लोगों की जान महाराष्ट्र में गई है. इसके बाद गुजरात में 181, मध्य प्रदेश में 120, दिल्ली में 54, राजस्थान में 51, उत्तर प्रदेश में 34 और आंध्र प्रदेश में 31 मरीजों की मौत हुई है.

तेलंगाना में 26, तमिलनाडु में 25, पश्चिम बंगाल में 22 मरीजों की मृत्यु हुई है, जबकि कर्नाटक में 20 मरीजों ने संक्रमण के कारण दम तोड़ा है.

बीमारी से पंजाब में 19, जम्मू कश्मीर में आठ, केरल में चार और झारखंड तथा हरियाणा में तीन-तीन लोगों की मौत हुई है.

मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक, बिहार में दो मरीजों ने दम तोड़ा है जबकि मेघालय, हिमाचल प्रदेश, ओडिशा और असम में एक-एक मरीज की मौत हुई है.

मंत्रालय के आंकड़े बुधवार सुबह अपडेट किए गए हैं जो बताते हैं कि देश में सबसे ज्यादा पुष्ट मामले महाराष्ट्र में हैं जहां 9,318 लोग कोविड-19 से संक्रमित हैं. इसके बाद गुजरात में 3,744, दिल्ली में 3,314, मध्य प्रदेश में 2,387, राजस्थान में 2,364, तमिलनाडु में 2,058 और उत्तर प्रदेश में 2,053 लोग संक्रमित हैं.

आंध्र प्रदेश में कोविड-19 के मामलों की संख्या 1,259 और तेलंगाना में 1,004 हो गई है. पश्चिम बंगाल में मामलों की संख्या 725, जम्मू कश्मीर में 565, कर्नाटक में 523, केरल में 485, बिहार में 366 और पंजाब में 322 हो गई है.

हरियाणा में कोरोना वायरस के 310 मामले सामने आए हैं, जबकि ओडिशा में 118 मामले हैं. झारखंड में 103 और उत्तराखंड में 54 लोग वायरस से संक्रमित हुए हैं.

चंडीगढ़ में 56 मामले हैं तो हिमाचल प्रदेश में 40 लोग संक्रमित हुए हैं. छत्तीसगढ़ और असम में 38-38 लोग संक्रमित हुए हैं. अंडमान और निकोबार द्वीपसमूह में 33 मामले हैं जबकि लद्दाख में इस संक्रमण ने 22 लोगों को अपनी चपेट में लिया है.

मेघालय में 12 और पुदुचेरी में आठ मामले हैं जबकि गोवा में कोविड -19 के सात मामले सामने आए हैं. मणिपुर और त्रिपुरा में दो-दो मामले हैं जबकि मिजोरम तथा अरुणाचल प्रदेश में एक-एक मामला है.

अमेरिका में संक्रमण के मामले 10 लाख के पार, मृतक संख्या 58,000 से अधिक

अमेरिका में कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या 10 लाख के पार चली गई और इससे मरने वाले लोगों की संख्या 58,000 से अधिक हो गई है. हालांकि कई राज्यों ने संक्रमण और मौत के मामलों में गिरावट के संकेतों के बीच अपनी अर्थव्यवस्थाओं को फिर से खोलने की प्रक्रिया शुरू कर दी है.

(फोटो: रॉयटर्स)

(फोटो: रॉयटर्स)

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने व्हाइट हाउस में कहा, ‘हम मृतकों के साथ-साथ उन अमेरिकियों के लिए प्रार्थना करते रहेंगे, जिन्होंने अपने प्रियजनों को खो दिया. ऐसा पहले कभी कुछ नहीं हुआ. हम दिल से चोट खाए हुए हैं लेकिन हम मजबूत बने रहेंगे. हम वापसी कर रहे हैं और हम मजबूती से वापसी कर रहे हैं.’

अमेरिका मंगलवार को दुनिया का पहला ऐसा देश बन गया है जहां कोरोना वायरस के मामले 10 लाख के पार चले गए. यह दुनियाभर में आए 31 लाख मामलों का करीब एक तिहाई है.

वहीं अमेरिका में करीब 58,000 लोगों की मौत के साथ ही दुनियाभर में 217,674 लोगों की मौत की यह एक चौथाई संख्या है. पूरे विश्व में इस महामारी के संक्रमण के मामले 3,130,191 हो गए हैं.

ट्रंप ने कहा, ‘अब हमारे विशेषज्ञों का मानना है कि इस वैश्विक महामारी का बुरा दौर बीत चुका है और अमेरिकी हमारे देश को सुरक्षित तथा तेजी से फिर से खोलने की ओर देख रहे हैं.’

उन्होंने कहा, ‘इस परेशानी के वक्त करोड़ों मेहनती अमेरिकियों को बहुत, बहुत बड़े त्याग देने के लिए कहा गया. यह ऐसा बलिदान है, जिसके बारे में किसी ने कभी सोचा भी नहीं होगा, किसी ने नहीं सोचा था कि हम कभी किसी ऐसी स्थिति के बारे में बात करेंगे.’

कैलिफोर्निया में गवर्नर गैविन न्यूसम ने अपने राज्य को चरणबद्ध तरीके से फिर से खोलने की घोषणा की.

कैलिफोर्निया में कोरोना वायरस से 1,800 से अधिक लोगों की जान जा चुकी है. स्कूल और कॉलेज जुलाई-अगस्त से खुल सकते हैं.

कैलिफोर्निया और वॉशिंगटन पहले दो राज्य थे, जिन्होंने घर में रहने का आदेश लागू किया था. अब देश की 95 प्रतिशत से अधिक आबादी अपने घरों में सिमटी हुई है.

टेक्सास के गवर्नर ग्रेग एबॉट ने भी राज्य को फिर से खोलने के पहले चरण की घोषणा की.

टेनेसी ने सोमवार को रेस्तरां फिर से खोलने की मंजूरी दी और इस सप्ताह के अंत तक रिटेल आउटलेट्स भी खुल सकते हैं.

पेन्सिलवेनिया ने तीन मई से राज्य को तीन चरणों में फिर से खोलने की घोषणा की.

दक्षिण कैरोलिना, ओरेगोन, ओक्लाहोमा, ओहियो जैसे राज्यों ने अपनी अर्थव्यवस्थाओें को चरणबद्ध तरीके से फिर से खोलने की घोषणा की है. उटाह राज्य ने मंगलवार को पाबंदियों में छूट देने की घोषणा की और अपने निवासियों को मास्क देने की पेशकश दी.

अमेरिका में कोरोना वायरस का केंद्र बनकर उभरे न्यूयॉर्क में गैर आवश्यक कारोबारों को 15 मई तक बंद रहने का आदेश दिया गया है.

ट्रंप ने कहा, ‘हम दुनिया में अभी तक किसी भी अन्य देश के मुकाबले अधिक जांच कर रहे हैं… इसलिए और अधिक मामले सामने आ रहे हैं.’

उन्होंने कहा कि अमेरिकी अर्थव्यवस्था फिर से खुल रही है.

अमेरिका के बाद दूसरे सर्वाधिक प्रभावित देश इटली में मरने वालों की संख्या 27,359 हो गई हैं, जबकि संक्रमण के कुल मामले 201,505 पहुंच चुके हैं.

अमेरिका की जॉन्स हॉपकिन्स यूनिवर्सिटी के आंकड़ों के अनुसार, इटली के बाद स्पेन में अब तक 23,822 लोग इस महामारी से दम तोड़ चुके हैं और संक्रमण के मामले बढ़कर 232,128 हो गए हैं.

(फोटो: रॉयटर्स)

(फोटो: रॉयटर्स)

इसी तरह फ्रांस में संक्रमण का आंकड़ा 169,053 पहुंच गया है और इस देश में अब तक 23,660 लोग अपनी जान गंवा चुके हैं. ब्रिटेन में मरने वालों की संख्या 21,678 हो गई है, जबकि यहां संक्रमण के मामले 162,350 तक पहुंच चुके हैं.

लॉकडाउन में ढील देने के बीच स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने सतर्कता बरतने की अपील की

कई सरकारों के कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए लगाई पाबंदियों में ढील देने की शुरुआत करने के साथ ही दुनियाभर के स्वास्थ्य अधिकारी लोगों से सतर्क रहने की अपील कर रहे हैं, ताकि इस महामारी के खिलाफ लड़ाई में मुश्किल से हासिल की गई जीत को गंवा न बैठे.

लंबी छुट्टियां मनाने जा रहे दक्षिण कोरियाई लोगों से अधिकारियों ने बुधवार को यात्रा करने से पहले दो बार सोचने और मास्क पहनते रहने, भोजन साझा न करने और अगर बीमार महसूस कर रहे हैं, तो घर पर ही रहने का अनुरोध किया.

दक्षिण कोरिया के उप स्वास्थ्य मंत्री किम गैंग-लिप ने कहा, ‘हमें बड़े पैमाने पर संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए एक पल के लिए भी लापरवाही नहीं बरतनी चाहिए.’

चीन के बाद दक्षिण कोरिया पहला देश था, जहां विषाणु के सबसे अधिक मामले देखे गए लेकिन सबसे ज्यादा प्रभावित कई अन्य क्षेत्रों की तरह यहां मामलों की संख्या में कमी आई है.

बुधवार को वहां महज नौ नए मामले आए, जिससे सरकार ने अपने सामाजिक दूरी बनाने संबंधी दिशा-निर्देशों में ढील दी और स्कूलों को फिर से खोलने के लिए तैयार रहने को कहा.

जापान में भी अधिकारियों ने लोगों से देश में आगामी ‘गोल्डन वीक’ अवकाश के दौरान यात्रा न करने के लिए कहा है. गोल्डन वीक जापान में छुट्टियों के सप्ताह को कहा जाता है.

दुनिया के अन्य देशों की तरह ही अमेरिका में भी यह बहस शुरू हो गई है कि कब और कैसे देश को फिर से खोला जाए. कुछ राज्यों ने तो कोरोना वायरस से संबंधित पाबंदियों को हटाना शुरू कर दिया है.

फ्रांस, स्पेन और यूनान जैसे देशों ने हाल ही में कारोबारों और स्कूलों को फिर से खोलने की रूपरेखा की घोषणा की.

इतालवी बिशपों ने शिकायत की कि इटली की सरकार ने देश को फिर से खोलने की अपनी योजना में धार्मिक सभाओं को बहाल करने की पेशकश नहीं दी, जिसके बाद पोप फ्रांसिस ने धार्मिक गतिविधियों पर पाबंदियों को लेकर बहस छेड़ दी.

पाबंदियों में ढील दिए जाने पर स्वास्थ्य अधिकारी विषाणु के फिर से फैलने के किसी भी संकेत पर करीबी नजर रखेंगे.

जर्मनी में एक हफ्ते पहले छोटे कारोबारों को खोलने की अनुमति दिए जाने के बाद से संक्रमण के मामलों में वृद्धि देखी गई. हालांकि, अभी यह कहना जल्दबाजी होगी कि क्या पाबंदियों में ढील इसके लिए जिम्मेदार है.

(फोटो: रॉयटर्स)

(फोटो: रॉयटर्स)

विषाणु से निपटने के लिए तुरंत हरकत में आने के लिए सराहे गए सिंगापुर में प्रवासी कामगारों में संक्रमण का नया दौर शुरू होने के बाद सरकार को अपने सामाजिक दूरी संबंधी नियमों की अवधि जून तक बढ़ानी पड़ी.

चीन में सरकार ने ऐलान किया कि उसका संसद सत्र अगले महीने आयोजित किया जाएगा. यह इस बात का संकेत है कि चीन काफी हद तक इस वैश्विक महामारी पर काबू पा चुका है.

फ्रांस में राष्ट्रपति एमैनुअल मैक्रों 11 मई से स्कूलों को फिर से खोलना चाहते हैं लेकिन अध्यापक, अभिभावक और कुछ मेयरों ने इस कदम पर चिंता प्रकट की है. सरकार ने कहा है कि यह अभिभावकों पर निर्भर करेगा कि वे अपने बच्चों को कक्षाओं में भेजें या नहीं.

ब्राजील में राष्ट्रपति जैर बोलसोनारो ने कहा है कि कोविड-19 कुछ-कुछ बुखार जैसा है और संक्रमण रोकने के लिए यूरोप तथा अमेरिका में लगाई गई पाबंदी की तरह उपाय करने की जरूरत नहीं है.

लातिन अमेरिका में सबसे घनी आबादी वाले देश ब्राजील में संक्रमण से 5,083 लोगों की मौत हुई है और 73,235 लोग संक्रमित हुए हैं. लेकिन बड़े स्तर पर जांच नहीं होने के कारण संक्रमण के कई मामलों के सामने नहीं आने की भी आशंका है .

रियो डी जेनेरिया और चार बड़े शहरों के चिकित्सा अधिकारी चेता चुके हैं कि उनके अस्पतालों की व्यवस्था ध्वस्त होने के कगार पर है. ऐसे भी संकेत हैं कि घर पर ही कई लोगों की मौत हुई है .

न्यूजीलैंड में मंगलवार को संक्रमण के महज तीन मामले सामने आए . प्रधानमंत्री जेंसिंडा अर्डर्न ने कहा कि संक्रमण की कड़ियां तोड़ने में लोगों ने सराहनीय काम किया है लेकिन आगे भी चौकस रहने की जरूरत है.

टोक्यो के गवर्नर ने आपातकाल बढ़ाने की मांग की

टोक्यो: जापान की राजधानी टोक्यो की गवर्नर यूरिको कोइको ने कोरोना वायरस के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए देश में जारी आपातकाल की अवधि बढ़ाने की बुधवार को मांग की.

(फोटो: रॉयटर्स)

(फोटो: रॉयटर्स)

इसके तहत लोगों को घर में रहना और सामाजिक दूरी बनाए रखना होताहै.

उन्होंने पत्रकारों से कहा, ‘तोक्यो में अब भी स्थिति गंभीर बनी हुई है, इसलिए मैं चाहूंगी यह (आपातकाल) अभी जारी रहे.’

जापान में वायरस के कारण जान गंवाने वाले 394 लोगों में से 100 टोक्यो के थे. यहां संक्रमण 13,736 मामले सामने आ चुके हैं.

आपातकाल छह मई को खत्म हो रही है.

पाकिस्तान में मामले 14,885 हुए, मृतकों की संख्या 327

इस्लामाबाद: पाकिस्तान में कोरोना वायरस के मामलों की संख्या बढ़कर 14,885 हो गई है जबकि महमारी से मरने वालों की तादाद 327 हो गई है.

स्वास्थ्य मंत्रालय की राष्ट्रीय स्वास्थ्य सेवा ने बुधवार को बताया कि संक्रमण से 3425 मरीज ठीक हो चुके हैं जबकि 129 रोगियों की हालत गंभीर हैं.

थरपारकर के उपायुक्त शहजाद ताहिर ने बताया कि सिंध प्रांतीय विधानसभा के अहम हिंदू सदस्य राणा हमीर सिंह मंगलवार को कोरोना वायरस से संक्रमित हो गए.

सिंह थरपारकर जिले के रहने वाले हैं. इस जिले की सीमा भारत के राजस्थान राज्य से लगती है. वह पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी के टिकट पर 2018 के आम चुनाव में जीते थे.

सिंध ने कोरोना वायरस को फैलने से रोकने की कोशिश के तहत रमजान के महीने में सभी धार्मिक सभाओं पर रोक लगा दी है.

सिंगापुर में 690 नए मामले, ज्यादातर विदेशी कामगार संक्रमित

सिंगापुर: सिंगापुर में बुधवार को कोरोना वायरस संक्रमण के 690 नए मामले सामने आए. इसके साथ ही यहां कोविड-19 मरीजों की कुल संख्या बढ़कर 15,641 पहुंच गई, जिनमें ज्यादातर विदेशी कामगार हैं.

स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि 690 मामलों मे सिंगापुर के छह नागरिक हैं या स्थायी निवासी हैं जबकि शेष लोग वर्क परमिट वाले विदेशी नागरिक हैं.

खबरों के मुताबिक ‘डोरमेट्री’ में रहने वाले 3,23,000 प्रवासी कामगारों में अब तक कुल 12,183 लोग संक्रमित हुए हैं.

‘डोरमेट्री’ एक ऐसे बड़े कमरे को कहते हैं, जिनमें ज्यादा संख्या में बिस्तर लगे होते हैं और उसमें रहने वाले लोगों के लिये एक साझा शौचालय होता है.

देश में कोरोना वायरस संक्रमण से अब तक 14 लोगों की मौत हो चुकी है.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)