भारत

मध्य प्रदेशः लॉकडाउन के बीच 18 साल की युवती से गैंगरेप, पांच गिरफ़्तार

घटना बैतूल ज़िले की है. पीड़िता अपने भाई के साथ मोटरसाइकिल से घर लौट रही थी कि जब सात लोगों ने उनका रास्ता रोक लिया. पीड़िता के भाई को एक कुएं में फेंककर उन्होंने पास के जंगल ले जाकर युवती के साथ बलात्कार किया.

Betul

भोपालः मध्य प्रदेश के बैतूल जिले में बुधवार रात सात लोगों ने कथित तौर पर 18 साल की युवती के साथ गैंगरेप किया.

टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक, इस मामले में पांच आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है, जिनमें तीन नाबालिग हैं. वहीं, दो फरार है.

आरोपियों ने पीड़िता के भाई को कुएं में फेंक दिया और लगभग चार घंटों तक युवती का बलात्कार करते रहे.

जानकारी के अनुसार, पीड़िता बुधवार रात लगभग आठ बजे अपने भाई के साथ बाइक में पेट्रोल भरवाकर पास के पाढर से लौट रही थी कि तभी कुछ लोगों ने उनका पीछा करना शुरू कर दिया और एक सुनसान सड़क पर उन्हें रोक लिया.

विरोध करने पर पीड़िता के भाई को कुएं में फेंक दिया गया और युवती को पास के जंगल ले जाकर बलात्कार किया गया.

बैतुल के एसपी डीएस भदौरिया ने बताया, ‘बुधवार शाम को पीड़िता अपने भाई के साथ मोटरसाइकिल से पाढर से अपने गांव लौट रही थी तभी कुछ लोगों ने उनका पीछा करना शुरू कर दिया.’

कोतवाली पुलिस थाने के प्रभारी राजेंद्र धुर्वे ने कहा, ‘आरोपी कप्पा गांव के थे, जो पीड़िता के गांव और पाढर के बीच का पड़ता है. बुधवार रात लगभग आठ बजे आरोपियों ने इन्हें देखकर पीछा करना शुरू कर दिया.’

भदौरिया ने कहा, ‘कुल सात लोग थे. इन्होंने एक सुनसान सड़क पर दोनों को रोक लिया. पीड़िता के बयान के मुताबिक, आरोपियों ने उसके भाई की पिटाई की और उसे कुएं में फेंक दिया.’

धुर्वे ने कहा, ‘आरोपी पीड़िता को बाइक पर बैठाकर पास के जंगल में ले गए, जहां उसका बलात्कार किया गया. पीड़िता लगभग चार घंटों तक उनके कब्जे में रही. रात एक बजे पीड़िता का भाई कुएं से निकलने में कामयाब रहा और उसने गांव वालों को इसकी सूचना दी, जिसके बाद युवती को ढूंढना शुरू किया गया.’

धुर्वे ने बताया कि जब गांव वाले लड़की को ढूंढ रहे थे तभी उन्होंने एक आरोपी को पीड़िता को बाइक पर ले जाते देखा. वह उसे छोड़कर फरार होने लगा तभी गांव वालों ने उसे पकड़ लिया. इस बीच आरोपी ने कुछ नाम लिए, लेकिन वह रात के अंधेरे में बचकर भाग निकलने में सफल रहा.

धुर्वे ने कहा, ‘रात लगभग दो बजे हमारी टीमें मौके पर पहुंची और आरोपियों की तलाश शुरू की. कप्पा गांव से एक आरोपी को गिरफ्तार किया गया. उससे मिली जानकारी के आधार पर चार अन्य लोगों को गिरफ्तार किया गया.’

एसपी ने बताया, ‘दोनों फरार आरोपियों संदीप और शुभम की पहचान की गई, जिनकी तलाश की जा रही है.’

इस मामले में आईपीसी की विभिन्न धाराओं के तहत एफआईआर दर्ज की गई है. लॉकडाउन के दौरान यह मध्य प्रदेश में बलात्कार की चौथी घटना है.