भारत

गुजरात में गोधरा के कोरोना संक्रमित इलाके को सील करने गए पुलिसकर्मियों पर हमला

गोधरा के गुहया मोहल्ले में भीड़ को क़ाबू में करने के लिए पुलिस को आंसू गैस के गोले छोड़ने पड़े. पुलिस ने इस संबंध में आठ लोगों को हिरासत में लिया है, इनमें तीन महिलाएं शामिल हैं.

(प्रतीकात्मक फोटो: पीटीआई)

(प्रतीकात्मक फोटो: पीटीआई)

गोधरा: गुजरात के गोधरा शहर में कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए जारी रोकथाम अभियान के तहत बृहस्पतिवार को एक क्षेत्र को सील करने के लिए गए पुलिसकर्मियों पर स्थानीय निवासियों ने हमला कर दिया, जिसमें एक अधिकारी घायल हो गया.

शाम को शहर के जहूर बाजार के पास गुहया मोहल्ला के निवासियों द्वारा किए गए पथराव में पुलिस निरीक्षक एमपी पांड्या के सिर में चोट लग गई, जिससे वह घायल हो गए.

पुलिस के अनुसार, टीम कोरोना संक्रमित क्षेत्र घोषित होने के बाद गुहया मोहल्ले में बैरिकेड लगाने और उसके प्रवेश और निकास मार्गों को सील करने के लिए गई हुई थी.

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के अनुसार, बृहस्पतिवार को तीन वार्ड- तीन, छह और नौ संक्रमित क्षेत्र घोषित कर दिए गए थे. गुहया मोहल्ला पोलां बाजार से लगा हुआ, जहां बृहस्पतिवार को वायरस के पांच मामले सामने आए थे.

पुलिस दल पर हमला करने के संबंध में आठ लोगों को हिरासत में लिया गया है, जिनमें तीन महिलाएं भी शामिल हैं.

पंचमहाल जिले की एसपी लीना पाटिल ने बताया, ‘इलाके को सील करने के लिए जब पुलिस टीम वहां पहुंची तो एक व्यक्ति स्थानीय लोगों को भड़काने लगा. महिलाएं घर से बाहर निकलकर गली में आ गईं और बर्तन पीटते हुए चेतावनी देने लगीं. वे अन्य लोगों को जमा करने लगे, जब पुलिस ने उन्हें रोकने की कोशिश की तो उन्होंने पथराव शुरू कर दिया.’

पाटिल ने बताया, स्थिति को नियंत्रण में लेने के लिए आंसू गैस के पांच गोले दागे गए. वहां से हमने आठ लोगों को पकड़ा है. एफआईआर की कार्रवाई पूरी होने के बाद गिरफ्तारी की जाएगी. स्थिति अब नियंत्रण में है.

गोधरा शहर में अब तक कोरोना वायरस के 22 मामले सामने आए हैं.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)