भारत

रेलवे की यात्री रेल सेवा 17 मई तक स्थगित

कोरोना वायरस से सुरक्षा के मद्देनज़र देश में लागू लॉकडाउन की समयसीमा 17 मई तक बढ़ा दी गई है. रेलवे की ओर से कहा गया है कि इस दौरान किसी को टिकट बुक करने के लिए या फिर ट्रेन यात्रा के लिए किसी भी स्टेशन पर नहीं जाना चाहिए.

New Delhi: Policemen patrol on a bike along a stationed train during the nationwide lockdown, in wake of coronavirus pandemic, in New Delhi, Tuesday, April 7, 2020. (PTI Photo/Kamal Kishore)(PTI07-04-2020_000240B)

(फोटो: पीटीआई)

नई दिल्ली: रेलवे ने शुक्रवार को कहा कि उसकी सभी यात्री रेल सेवाएं 17 मई तक स्थगित रहेंगी. इस दौरान हालांकि बंद के कारण फंसे प्रवासियों और अन्य लोगों को उनके गंतव्य तक पहुंचाने के लिये विशेष ट्रेनों का संचालन किया जाएगा.

रेलवे ने एक बयान में कहा, ‘कोविड-19 के मद्देनजर उठाए गए कदमों को जारी रखते हुए यह फैसला लिया गया है कि भारतीय रेलवे की सभी यात्री ट्रेन सेवाओं का संचालन 17 मई 2020 तक रद्द रहेगा.’

रेलवे के आधिकारिक ट्विटर एकाउंट से भी इस बात की जानकारी दी है. इसके अनुसार, ‘यह स्पष्ट किया जाता है कि सभी नियमित यात्री ट्रेनों, जिसमें उपनगरीय ट्रेनें भी शामिल है, का संचालन 17 मई 2020 तक निलंबित रहेगा.’

कहा गया है कि इस दौरान किसी को टिकट बुक करने के लिए या फिर ट्रेन यात्रा के लिए किसी भी स्टेशन पर नहीं जाना चाहिए.

बयान के अनुसार, ‘हालांकि विभिन्न स्थानों पर फंसे हुए प्रवासी कामगारों, तीर्थयात्रियों, पर्यटकों, छात्रों और अन्य लोगों की आवाजाही ‘श्रमिक विशेष ट्रेन’ के माध्यम से सुनिश्चित की जाएगी जैसा की राज्य सरकारों की जरूरत हो.’

बयान में कहा गया है कि इस दौरान गृह मंत्रालय द्वारा जारी दिशा-निर्देशों का अनुपालन किया जाएगा.

इसमें कहा गया कि मालगाड़ियों का संचालन अभी की तरह जारी रहेगा. सरकार ने शुक्रवार को लॉकडाउन 17 मई तक बढ़ाने की घोषणा की है.

इससे पहले जब देश में दूसरे चरण के लॉकडाउन की घोषणा 14 अप्रैल से तीन मई तक की गई थी तब भारतीय रेलवे ने भी अपनी यात्री सेवाओं को तीन मई तक निलंबित कर दिया है.

मालूम हो कि कोरोना वायरस से सुरक्षा के मद्देनजर सरकार ने लॉकडाउन की समयसीमा तीसरी बार दो हफ्तों के लिए और बढ़ा दी है. अब देश में 17 मई तक लॉकडाउन लागू रहेगा.

ऐसा तीसरी बार है जब सरकार ने लॉकडाउन की समयसीमा में बढ़ोतरी की है. पहली बार 25 मार्च से 14 अप्रैल तक लॉकडाउन लागू किया था. इसके बाद जब 14 अप्रैल को इसकी अवधि पूरी होने वाली थी तो उसे बढ़ाकर तीन मई कर दिया गया था.

गृह मंत्रालय की ओर से जारी आदेश में कहा गया है कि इस दौरान पूरे देश में हवाई, रेल, मेट्रो और सड़क मार्ग से अंतर्राज्यीय आवागमन पर प्रतिबंध रहेगा.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)