दुनिया

कोरोना वायरस: भारत में मृतक संख्या 1,783 हुई, दुनिया में 2.64 लाख से अधिक लोगों की जान गई

भारत में कोरोना वायरस के संक्रमण के मामले 53 हज़ार के क़रीब पहुंचे, जबकि दुनिया भर में यह आंकड़ा 37 लाख से अधिक हो चुका है.

Jalandhar: COVID-19 suspected patients being taken to a hospital, during a government-imposed nationwide lockdown as a preventive measure against the coronavirus, in Jalandhar, Saturday, May 02, 2020. (PTI Photo)(PTI03-05-2020_000043B)

(फोटो: पीटीआई)

नई दिल्ली: देश में पिछले 24 घंटे में कोरोना वायरस संक्रमण के कारण 89 लोगों की मौत हो जाने के बाद इस बीमारी से मरने वालों की संख्या बढ़कर 1,783 हो गई है. इस दौरान 3,561 संक्रमण के नए मामले सामने आने के साथ ही संक्रमित हुए लोगों की संख्या बढ़कर 52,952 हो गई.

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि संक्रमण से 15,266 मरीज ठीक हो गए हैं और एक रोगी देश से बाहर जा चुका है. कोविड-19 से संक्रमित 35,902 मरीजों का इलाज चल रहा है.

स्वास्थ्य मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया, ‘इस प्रकार करीब 28.83 प्रतिशत मरीज अब तक ठीक हो चुके हैं.’

कुल मामलों में 111 विदेश नागरिक भी शामिल हैं.

प्रधानमंत्री के आर्थिक सलाहकार परिषद की पूर्व सदस्य शमिका रवि की ओर से किए डेटा विश्लेषण के मुताबिक, एक्टिव मामले 6.6 फीसदी की दर से बढ़ रहे हैं और हर 11 दिन में दोगुने हो रहे हैं.

उनके विश्लेषण के मुताबिक, नए मामले मुख्य रूप से महाराष्ट्र, दिल्ली और गुजरात से आ रहे हैं. तमिलनाडु में मामलों की एक बड़ी दूसरी लहर देखी जा रही है लेकिन वहां बड़ी संख्या में मरीज ठीक भी हो रहे हैं.

रवि के डेटा विश्लेषण के मुताबिक, प्रति 10 लाख लोगों पर मौत की दर को दिल्ली ने मामले अधिक होने के बावजूद स्थिर रखा हुआ है, जबकि पश्चिम बंगाल में बड़ा इजाफा हुआ है.

मंत्रालय ने बताया कि बुधवार सुबह से कुल 89 मरीजों की जान गई है. इनमें से महाराष्ट्र में 34, गुजरात में 28, मध्य प्रदेश में नौ उत्तर प्रदेश और पश्चिम बंगाल में चार-चार, राजस्थान में तीन, पंजाब और तमिलनाडु में दो-दो और दिल्ली, हरियाणा तथा ओडिशा में एक-एक मरीज की मौत हुई है.

देश में कोविड-19 से हुई 1,783 मौतों में से सबसे ज्यादा 651 लोगों की जान महाराष्ट्र में गई है. इसके बाद गुजरात में 396, मध्य प्रदेश में 185, पश्चिम बंगाल में 144, राजस्थान में 92, दिल्ली में 65, उत्तर प्रदेश में 60 और आंध्र प्रदेश में 36 मरीजों ने दम तोड़ा है.

तमिलनाडु में मृतक संख्या 35 तक पहुंच गई है, जबकि तेलंगाना और कर्नाटक में 29-29 लोगों की संक्रमण ने जान ली है.

पंजाब में कोरोना वायरस से हुई मौतों की संख्या 27 है. जम्मू कश्मीर में आठ और हरियाणा में सात मरीजों की जान इस संक्रमण ने ली है. केरल और बिहार में चार-चार रोगियों की मौत हुई है.

मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक, झारखंड में तीन लोगों की मौत हुई. ओडिशा और हिमाचल प्रदेश में दो-दो संक्रमितों की मौत हुई है.

मेघालय, चंडीगढ़, उत्तराखंड और असम में एक-एक मरीज की मौत हुई है.

मंत्रालय बृहस्पतिवार सुबह के ताजा आंकड़ों के अनुसार देश में संक्रमण के सबसे अधिक मामले महाराष्ट्र में हैं, जहां 16,758 लोग कोविड-19 से संक्रमित हुए हैं.

इसके बाद गुजरात में 6,625, दिल्ली में 5,532, तमिलनाडु में 4,829, राजस्थान में 3,317, मध्य प्रदेश में 3,138 और उत्तर प्रदेश में 2,998 लोग संक्रमित हुए हैं.

आंध्र प्रदेश में कोरोना वायरस के मामले बढ़कर 1,777 हो गए हैं और पंजाब में 1,516 लोग संक्रमित हैं. पश्चिम बंगाल में 1,456 लोग संक्रमित पाए गए हैं.

तेलंगाना में संक्रमितों की संख्या बढ़कर 1,107, जम्मू कश्मीर में 775, कर्नाटक में 693, हरियाणा में 594 और बिहार में 542 हो गई है.

उत्तराखंड में 61 मामले सामने आए हैं जबकि छत्तीसगढ़ में 59, असम और हिमाचल प्रदेश में 45-45, त्रिपुरा में 43 और लद्दाख में 41 मामले सामने आए हैं.

अंडमान और निकोबार द्वीप समूह में 33 मामले हैं.

मेघालय में 12 और पुदुचेरी में नौ मामले हैं जबकि गोवा में कोविड -19 के सात मामले सामने आए हैं.

मणिपुर में दो मामले सामने आए हैं और मिजोरम, दादर एवं नगर हवेली तथा अरुणाचल प्रदेश में एक-एक मामला सामने आया है.

अमेरिका में 73 हजार से अधिक की मौत

अमेरिका की जॉन्स हॉपकिन्स यूनिवर्सिटी के आंकड़ों के अनुसार, इस महामारी से सर्वाधिक प्रभावित देश अमेरिका में मरने वालों की संख्या 73,431 हो गई है, जबकि संक्रमण के मामले 1,228,609 हो चुके हैं.

(फोटो: रॉयटर्स)

(फोटो: रॉयटर्स)

दुनियाभर में कोरोना वायरस से अब तक 264,111 लोगों ने जान गंवा दी है और संक्रमण के मामले बढ़कर 3,769,150 हो गए हैं.

आंकड़ों के अनुसार, अमेरिका के बाद दूसरे इटली को पछाड़कर ब्रिटेन पहुंच गया है. यहां मरने वालों की संख्या 30,150 हो गई है, जबकि संक्रमण के मामले 202,359 हो गए हैं.

इटली में मृतक संख्या 29,684 पहुंच चुकी है, वहीं संक्रमण के मामले 214,457 हो गए हैं. स्पेन में 25,857 की मौत के मामले सामने आए हैं और संक्रमण के मामले 220,325 हो चुके हैं.

फ्रांस में मरने वालों की संख्या अब 25,812 हो गया है और संक्रमण के मामले बढ़कर 174,224 हो गए हैं.

पाकिस्तान में मौत के 38 नए मामले, संक्रमितों की संख्या 24 हजार के पार

इस्लामाबाद: पाकिस्तान में कोविड-19 से 38 और लोगों की मौत के साथ ही मृतकों की संख्या 564 तक जा पहुंची तथा संक्रमण के 1,523 नए मामलों के साथ संक्रमित लोगों की संख्या 24 हजार से अधिक हो गई है.

देश में कोरोना वायरस के संक्रमण और मौत के मामलों में हर रोज हो रही वृद्धि के बावजूद प्रधानमंत्री इमरान खान बृहस्पतिवार को लॉकडाउन प्रतिबंधों में ढील देने पर चर्चा करेंगे.

राष्ट्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि एक दिन में सामने आए सर्वाधिक 1,523 नए मामलों के साथ कोरोना वायरस संक्रमण के कुल मामलों की संख्या अब 24,073 हो गई है.

इसने कहा कि बुधवार को 38 लोगों की कोविड-19 से मौत होने के बाद मृतकों की कुल संख्या 564 हो गई है.

सिंगापुर में 788 नए मामले, डॉरमेट्री में सुविधाएं सुधारी जाएंगी

सिंगापुर: सिंगापुर ने कहा है कि उसने विदेशी श्रमिकों के डॉरमेट्री (सामुदायिक शयनागार) में सुविधाएं बढ़ाने के लिए कई कदम उठाए हैं. देश में बुधवार को कोविड-19 के 788 नए मामले सामने आए और उनमें भारतीयों समेत ज्यादातर प्रवासी श्रमिक हैं.

देश में कोरोना वायरस के मामले 20,939 हो गए हैं और अब तक 20 लोगों की जान जा चुकी है.

स्वास्थ्य मंत्रालय ने संबंधित आंकड़ों पर अपनी दैनिक सूचना में कहा कि नए मामलों में अधिकांश वर्क परमिट धारक हैं और वे विदेशी श्रमिक डॉरमेट्री में रहते हैं.

मंत्रालय ने कहा कि 11 मामले सिंगापुर के नागिरकों या स्थायी नागरिकों (विदेशियों) के है. संक्रमण के मामलों पर और ब्योरा बाद में साझा किया जाएगा.

इस बीच एजेंसी फॉर साइंस टेक्नोलॉजी एंड रिसर्च के प्रोफेसर अल्फ्रेड हुआन ने कहा, ‘सिंगापुरवासी फिर से उपयोग में आने वाले कपड़े वाले ऐसे मास्क का उपयोग करेंगे, जिसमें बैक्टीरिया के आवागमन से बेहतर सुरक्षा हो और सांस लेने में कोई दिक्कत न हो.

नेपाल ने लॉकडाउन 18 मई तक बढ़ाया, अंतरराष्ट्रीय उड़ानें 31 मई तक स्थगित

काठमांडू: नेपाल ने घातक कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए बुधवार को देशव्यापी लॉकडाउन को 18 मई तक के लिए बढ़ा दिया और अंतरराष्ट्रीय उड़ानों और भारत तथा चीन जैसे पड़ोसी देशों के साथ सीमा पार गतिविधियों को 31 मई तक के लिए स्थगित कर दिया है.

(फोटो: रॉयटर्स)

(फोटो: रॉयटर्स)

सरकारी ‘नेपाल टेलीविजन’ की रिपोर्ट के अनुसार, प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली के बालुवाटर स्थित आवास पर हुई कैबिनेट की बैठक में ये निर्णय लिए गए.

कोविड-19 के प्रसार को रोकने के लिए सरकार ने 24 मार्च को पहली बार लॉकडाउन लगाया था. वर्तमान में जारी लॉकडाउन गुरुवार को समाप्त होने वाला था. सरकार ने चौथी बार लॉकडाउन की अवधि को बढ़ाया है.

रिपोर्ट में कहा गया है कि बैठक में 31 मई तक अंतरराष्ट्रीय उड़ानों और भारत और चीन जैसे पड़ोसी देशों के साथ सीमा पार से होने वाली गतिविधियों को स्थगित करने का फैसला किया गया.

सरकार ने कहा कि वह काठमांडू घाटी में लोगों की आवाजाही को प्रतिबंधित करेगा ताकि कोरोना वायरस के प्रसार पर अंकुश लगाया जा सके. वर्तमान में जारी लॉकडाउन के बावजूद, देश के विभिन्न हिस्सों से सैकड़ों लोग घाटी में आ रहे हैं.

नेपाल में कोरोना वायरस संक्रमण के 17 नए मामले सामने आये हैं, जिसमें दो महीने का एक नवजात भी शामिल है. स्वास्थ्य विभाग ने बुधवार को इसकी जानकारी दी.

मंत्रालय ने बताया कि नेपाल में अब तक 1496 लोगों की कोरोना वायरस संक्रमण का पता लगाने के लिए जांच हुई है. इनमें से 99 लोगों में इस वायरस की पुष्टि हुई है.

मंत्रालय ने बताया कि देश के परसा जिले के बीरगंज शहर में 17 लोगों में इस वायरस के संक्रमण की पुष्टि हुई है, इनमें दो महीने से लेकर 66 वर्ष तक के लोग शामिल हैं.

अधिकारियों ने बताया कि तीन लोग इलाज के बाद स्वस्थ चुके थे, लेकिन दोबारा जांच में संक्रमण पाए जाने पर फिर से उन्हें पृथक केंद्र में भर्ती कराया गया है.

उन्होंने बताया कि ये तीनों क्रमश: 58, 19 एवं 44 साल के हैं और क्रमश: काठमांडू, रौतहट एवं परसा जिले के रहने वाले हैं. इन्हें 23 एवं 26 अप्रैल को अस्पताल से छुट्टी दी गई थी.

उन्होंने बताया कि इस बीच छह भारतीय नागरिकों इलाज के बाद स्वस्थ होने पर अस्पताल से छुट्टी दे दी गई. ये सभी तबलीगी जमात के कार्यक्रम में हिस्सा लेने के बाद नेपाल आए थे और उनमें संक्रमण की पुष्टि हुई थी.

मंत्रालय ने बताया कि निगरानी के लिये उन सबको एक सप्ताह के लिए पृथकवास में रखा जाएगा और इसके बाद उन्हें भारत लौटने की अनुमति दी जायेगी.

अधिकारी ने बताया कि अब तक 22 मरीज ठीक होकर अपने घर जा चुके हैं.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)