भारत

उत्तर प्रदेश: कोरोना वायरस से आगरा में पत्रकार की मौत

मृतक पंकज कुलश्रेष्ठ दैनिक जागरण अखबार में लंबे समय से उप-समाचार संपादक पद पर कार्यरत थे. कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने यूपी सरकार को जान गंवाने वाले पत्रकार के परिवार के लिए आर्थिक सहायता और सभी पत्रकारों के लिए बीमा कवर की घोषणा करने की मांग की है.

पंकज कुलश्रेष्ठ. (फोटो: फेसबुक)

पंकज कुलश्रेष्ठ. (फोटो: फेसबुक)

आगरा/नई दिल्ली: उत्तर प्रदेश के आगरा शहर में कोरोना वायरस से एक पत्रकार की मौत होने का मामला सामले आया है.

आगरा में बीते बृहस्पतिवार को इस महामारी के संक्रमण की वजह से दो लोगों की मौत हो गई, जिनमें एक समाचार पत्र के पत्रकार भी शामिल हैं.

जिलाधिकारी कार्यालय के अनुसार, पत्रकार बुधवार से वेंटिलेटर पर थे. सिकंदरा क्षेत्र की रहने वाली एक महिला की भी इस बीमारी के कारण मौत हो गयी. दोनों का आगरा के एसएन मेडिकल कॉलेज में इलाज चल रहा था.

गुरुवार को कोरोना संक्रमण का शिकार हुए पत्रकार पंकज कुलश्रेष्ठ की मौत हो गई. अशोक नगर निवासी कुलश्रेष्ठ की कोरोना रिपोर्ट एक मई को आई थी. उसमें वह पॉजिटिव निकले थे.

वह स्थानीय दैनिक जागरण अखबार में उप-समाचार संपादक पद पर कार्यरत थे और पिछले कई दिनों से बुखार से ग्रस्‍त थे.

दैनिक जागरण की रिपोर्ट के अनुसार, बीते चार मई को कोरोना संक्रमण की पुष्टि होने के बाद उन्‍हें एसएन मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया. जहां उनकी तबियत बिगड़ती चली गई. उन्‍हें सांस लेने में तकलीफ महसूस होने लगी थी.

रिपोर्ट के अनुसार, लंबे समय से दैनिक जागरण में कार्यरत कुलश्रेष्‍ठ मथुरा में जिला प्रभारी भी रहे थे. गुरुवार रात उन्‍हें अंतिम विदाई दी गई, साथ ही स्‍वास्‍थ्‍य विभाग ने परिजनों के सैंपल भी लिए हैं.

हिंदुस्तान की रिपोर्ट के अनुसार, आगरा में पत्रकार समेत चार लोगों की मौत हो गई. शहर अब तक मरने वालों की संख्या 22 हो गई है. जिलाधिकारी प्रभु एन. सिंह ने बीते गुरुवार को यहां संक्रमण के 11 नए मामले सामने आए थे, जिससे कुल संख्या बढ़कर 678 हो गई है.

पत्रकारों के लिए बीमा कवर की घोषणा करे यूपी सरकार : प्रियंका

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने शुक्रवार को कहा कि कोरोना वायरस संकट के समय उत्तर प्रदेश सरकार को सभी पत्रकारों के लिए बीमा कवर की घोषणा करनी चाहिए.

उन्होंने आगरा में एक पत्रकार की मौत पर दुख जताते हुए यह मांग रखी.

प्रियंका ने ट्वीट किया, ‘कोरोना वायरस की चपेट में आए आगरा के एक वरिष्ठ पत्रकार की मृत्यु की खबर सुनकर बहुत दुख पहुंचा. भावपूर्ण श्रद्धांजलि… उनके परिजनों और पत्रकार जगत के मित्रों के साथ मेरी शोक संवेदनाएं.’

उन्होंने कहा, ‘पत्रकार जन संकट के इस समय में खुद को जोखिम में डाल कर हम तक सूचनाएं पहुंचाने का महत्वपूर्ण काम कर रहे हैं. उत्तर प्रदेश सरकार को कोरोना वायरस की वजह से जान गंवाने वाले पत्रकार के परिवार के लिए आर्थिक सहायता और सभी पत्रकारों के लिए बीमा कवर की घोषणा करनी चाहिए.’

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)