दुनिया

कोरोना वायरस: भारत में 2,109 की मौत, लॉकडाउन में छूट के बाद दक्षिण कोरिया में संक्रमण बढ़ा

भारत में कोरोना वायरस के संक्रमण के कुल मामले बढ़कर 63 हज़ार के क़रीब पहुंच गए हैं. दुनिया में संक्रमण के मामले 40 लाख से अधिक हो गए हैं, जबकि 2.79 लाख से अधिक लोग अपनी जान गंवा चुके हैं.

(फोटो: रॉयटर्स)

(फोटो: रॉयटर्स)

नई दिल्ली/वॉशिंगटन/बीजिंग:  देश में कोविड-19 से मरने वालों की संख्या रविवार को 2,109 हो गई और संक्रमण के कुल मामले बढ़कर 62,939 पर पहुंच गए हैं. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक पिछले 24 घंटे में 128 लोगों की मौत हुई और 3,277 मामले सामने आए हैं.

मंत्रालय ने बताया कि देश में 41,472 लोग अब भी संक्रमण की चपेट में हैं जिनका इलाज चल रहा है, जबकि 19,357 लोग स्वस्थ हो गए हैं और एक मरीज विदेश चला गया है.

संक्रमण के कुल मामलों में 111 विदेशी नागरिक भी शामिल हैं.

कुल 2,109 मृतकों में से सबसे अधिक 779 लोगों की मौत महाराष्ट्र में हुई है. गुजरात में 472, मध्य प्रदेश में 215, पश्चिम बंगाल में 171, राजस्थान में 106, उत्तर प्रदेश में 74, दिल्ली में 73 और आंध्र प्रदेश तथा तमिलनाडु में 44-44 लोगों की मौत हो गई है.

पंजाब में मृतक संख्या 31 और कर्नाटक एवं तेलंगाना में 30-30 है. जम्मू-कश्मीर और हरियाणा दोनों में कोविड-19 से नौ-नौ लोगों की मौत हुई है जबकि बिहार में पांच और केरल में चार लोगों ने इस बीमारी के कारण अपनी जान गंवाई है.

झारखंड में कोविड-19 से तीन लोगों की मौत हुई है. ओडिशा, चंडीगढ़, असम और हिमाचल प्रदेश में दो-दो लोगों ने दम तोड़ा है.

मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक मेघालय और उत्तराखंड में एक-एक व्यक्ति की मौत हुई है.

स्वास्थ्य मंत्रालय के रविवार सुबह जारी किए आंकड़ों के अनुसार, देश में संक्रमितों के सबसे अधिक 20,228 मामले महाराष्ट्र में सामने आए. इसके बाद गुजरात में 7769, दिल्ली में 6542, तमिलनाडु में 6535, राजस्थान में 3708, मध्य प्रदेश में 3614 और उत्तर प्रदेश में 3373 लोग संक्रमित पाए गए.

आंध्र प्रदेश में कोविड-19 के मामले बढ़कर 1930 और पंजाब में 1762 हो गए.

पश्चिम बंगाल में कोरोना वायरस के 1686, तेलंगाना में 1163, जम्मू कश्मीर में 836, कर्नाटक में 794, हरियाणा में 675 और बिहार में 591 मामले सामने आए.

केरल में अभी तक कोरोना वायरस के 505 मामले सामने आए हैं जबकि ओडिशा में 294 मामले सामने आए. चंडीगढ़ में इस जानलेवा संक्रामक रोग से 169 लोग और झारखंड में 156 लोग संक्रमित पाए गए.

त्रिपुरा में 134 मामले सामने आए, जबकि उत्तराखंड में 67, असम में 63, हिमाचल प्रदेश में 50 और लद्दाख में 42 मामले सामने आए.

अंडमान और निकोबार द्वीप में कोविड-19 के 33 मामले सामने आए.

मेघालय में 13, पुदुचेरी में नौ और गोवा में 7 लोग संक्रमित पाए गए. मणिपुर में दो मामले सामने आए. मिजोरम, अरुणाचल प्रदेश और दादर एवं नागर हवेली में एक-एक मामला सामने आया.

दुनिया में 2.79 लाख से अधिक लोगों की मौत

अमेरिका स्थित जॉन्स हॉप्किन्स यूनिवर्सिटी ने बताया कि वैश्विक स्तर पर कोरोना वायरस से 4,026,729 लाख से अधिक लोग संक्रमित हैं और 279,345 लोगों की मौत हो चुकी है.

(फोटो: रॉयटर्स)

(फोटो: रॉयटर्स)

इस महामारी से सबसे प्रभावित देश अमेरिका है. अमेरिका में रविवार तक 78,794 लोगों की मौत हो चुकी थी और संक्रमण के मामले 1,309,541 हो चुके हैं.

अमेरिका के बाद दूसरे सर्वाधिक प्रभावित देश ब्रिटेन में मौत का आंकड़ा 31,662 हो गया है, जबकि संक्रमण के कुल मामले 216,525 पहुंच चुके हैं.

ब्रिटेन के बाद इटली में अब तक 30,395 लोग इस महामारी से दम तोड़ चुके हैं और संक्रमण के मामले बढ़कर 218,268 हो गए हैं.

इसी तरह स्पेन में संक्रमण का आंकड़ा 223,578 पहुंच गया है और इस देश में अब तक 26,478 लोग अपनी जान गंवा चुके हैं.

फ्रांस में मरने वालों की कुल संख्या बढ़कर 26,313 हो गई है, जबकि यहां संक्रमण के मामले 176,782 तक पहुंच चुके हैं. इस महामारी से प्रभावित देश ईरान में रविवार तक मरने वालों का आंकड़ा 6,589 हो चुका था और संक्रमण के मामले बढ़कर 106,220 हो गए हैं.

चीन में कोरोना वायरस संक्रमण के 34 नए मामले आए सामने

चीन में कोरोना वायरस संक्रमण के 34 नए मामले सामने आए हैं जिनमें 20 मामले ऐसे हैं जिनमें रोगियों में संक्रमण का कोई लक्षण नहीं है. इसके बाद देश में इस वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या बढ़कर 82,901 हो गई हैं जिनमें से 4,630 लोगो की मौत हो चुकी है.

चीन के राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयोग (एनएचसी) ने रविवार को बताया कि नए मामलों में 12 लोग देश में ही संक्रमित हुए हैं, जिनमें से एक व्यक्ति हुबेई प्रांत में संक्रमित पाया गया है. हुबेई में पिछले 35 दिन से संक्रमण का कोई मामला सामने नहीं आया था. यह संक्रमण सबसे पहले इसी प्रांत में फैलना शुरू हुआ था.

एनएचसी ने बताया कि संक्रमण के 14 नए मामले शनिवार को सामने आए. इसके अलावा 20 ऐसे लोग भी संक्रमित पाए गए हैं, जिनमें संक्रमण के लक्षण दिखाई नहीं दे रहे है. ऐसे संक्रमित लोगों की संख्या बढ़कर 794 हो गई है, जिनमें लक्षण दिखाई नहीं दे रहे हैं.

सरकारी संवाद समिति ‘शिन्हुआ’ ने बताया कि चीन में इस संक्रमण से 4,633 लोग मारे गए हैं.

दक्षिण कोरिया में संक्रमण के मामले बढ़ने से चिंता

सियोल: दक्षिण कोरिया में पिछले 24 घंटों में कोविड-19 के 34 नए मामले सामने आए हैं. संक्रमण के मामलों में यह वृद्धि क्लब जाने वालों से संबंधित है जो वायरस के खिलाफ जंग में देश को बड़ी मुश्किल से मिली जीत को जोखिम में डाल रहे हैं.

(फोटो: रॉयटर्स)

(फोटो: रॉयटर्स)

कोरिया रोग नियंत्रण एवं बचाव केंद्र द्वारा रविवार को जारी आंकड़ों में 256 लोगों की मौत के साथ कुल 10,874 मामले बताए गए.

एजेंसी ने कहा कि 9,610 लोग ठीक हुए हैं और 10,128 अन्य लोगों की यह पता करने के लिए जांच चल रही है कि वे संक्रमित हैं या नहीं.

एजेंसी ने कहा कि संभावित आकलन दिखाते हैं कि 34 नए मरीजों में से 26 में संक्रमण स्थानीय तौर पर फैला है जबकि अन्य विदेशों से संक्रमित होकर आए हैं.

दक्षिण कोरिया की मीडिया ने खबर दी कि यह करीब एक महीने में पहली बार है जब दक्षिण कोरिया में रोजाना सामने आ रहे मामले 30 से ऊपर गए हैं.

एजेंसी ने तत्काल अन्य ब्योरे उपलब्ध नहीं कराए, लेकिन पिछले कुछ दिनों से सामने आ रहे ज्यादातर नये मामले सियोल के इटेवोन के नाइट क्लब से जुड़े हुए हैं.

अधिकारियों ने शुक्रवार को कहा कि उन्होंने संक्रमण के कम से कम 15 मामलों को 29 वर्षीय एक व्यक्ति से जुड़ा हुआ पाया है जो इटेवोन के तीन क्लब में गया था और उसमें बुधवार को संक्रमण की पुष्टि हुई.

संक्रमण के इन नए मामलों से दक्षिण कोरिया में चिंता बढ़ गई है जहां पिछले कुछ हफ्तों से नए मामलों का सामने आना लगातार कम हो रहा था. मार्च की शुरुआत तक यहां रोजाना 100 से ज्यादा नए मामले सामने आ रहे थे.

दक्षिण कोरिया के राष्ट्रपति ने नागरिकों से बेपरवाह नहीं होने की अपील की है लेकिन साथ ही यह भी कहा कि देश में कोरोना वायरस के मामले बढ़ने से घबराने की जरूरत नहीं है.

राष्ट्रपति मून जेई-इन ने रविवार को दिए एक भाषण में ये टिप्पणियां की जब उनके स्वास्थ्य अधिकारियों को सियोल के इटेवोन जिले के नाइट क्लबों में हाल के दिनों में कई नए मामलों का पता चला है.

इससे पहले दक्षिण कोरिया में संक्रमण के मामले घट रहे थे जिसके बाद अधिकारियों ने सामाजिक दूरी संबंधी नियमों में कुछ राहतें दे दी थी.

मून ने कहा, ‘मनोरंजन केंद्रों पर उभरे संक्रमण के नए मामलों ने इस बात के प्रति जागरूक रहने की जरूरत बताई है कि स्थिरीकरण के चरण में भी, किसी भी वक्त, भीड़-भाड़ वाली किसी भी जगह, पहले जैसी स्थितियां उत्पन्न हो सकती हैं.’

मून ने कहा, ‘दक्षिण कोरिया के पास सही पृथक एवं चिकित्सा तंत्र के साथ ही किसी भी अप्रत्याशित संक्रमण के मामलों से तत्काल निपटने का अनुभव है.’

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)