भारत

बिहार में कोरोना संकट के बीच स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव का तबादला

बिहार सरकार ने स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव का तबादला कर उन्हें पर्यटन विभाग के मुख्य सचिव का पद दे दिया है और पर्यटन विभाग के मुख्य सचिव को अगले आदेश तक स्वास्थ्य विभाग का प्रधान सचिव बना दिया है.

Nitish Kumar reuters

फोटो: रॉयटर्स

पटना: बिहार में कोरोना वायरस के संक्रमण के बढ़ते मामलों के बीच बिहार सरकार द्वारा राज्य के स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव संजय कुमार का तबादला कर दिया गया है.

बिहार सरकार ने संजय कुमार का तबादला अगले आदेश तक पर्यटन विभाग के मुख्य सचिव के पद पर कर दिया है.

वहीं, पर्यटन विभाग के मुख्य सचिव के पद पर तैनात उदय सिंह कुमावत को अगले आदेश तक स्वास्थ्य विभाग का प्रधान सचिव पद पर तैनात किया गया था.

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक, संजय कुमार के तबादले के बाद से उनके और राज्य के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय के बीच का तनाव सतह पर आ गया है.

दरअसल बीते अप्रैल महीने से दोनों के संबंधों में उस समय खटास आनी शुरू हो गई थी, जब संजय कुमार ने कोरोना जांच में लापरवाही बरतने के आरोप में पटना मेडिकल कॉलेज और अस्पताल के माइक्रोबायोलॉजी विभाग के प्रमुख को सस्पेंड कर दिया था ,लेकिन चंद दिनों में ही स्वास्थ्य मंत्रालय ने उनके निलंबन को रद्द कर दिया था.

इसके बाद संजय कुमार ने पूरे बिहार में 362 ऐसे डॉक्टरों की सूची तैयार की थी जो कोविड-19 महामारी के दौरान अपनी ड्यूटी से नदारद थे. संजय कुमार ने इन सभी डॉक्टरों को कारण बताओ नोटिस जारी किया था.

बहरहाल बिहार सरकार द्वारा संजय कुमार का तबादला किए जाने के बाद अब राष्ट्रीय जनता दल (राजद) ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर निशाना साधा है.

राजद नेता और राज्य की पूर्ववर्ती सरकार में स्वास्थ्य मंत्री रह चुके तेज प्रताप यादव ने एक ट्वीट किया है, जिसे इस तबादले से जोड़कर देखा जा रहा है.

तेज प्रताप यादव ने ट्वीट कर कहा, ‘सच्चे और झूठे का स्कोर मैच नहीं कर रहा था इसलिए कोच साहब ने बीच मैच में ही कैप्टन बदल दिया. अमंगल तो थे ही बेईमान भी निकले.’

बता दें कि बिहार में गुरुवार को कोरोना के रिकॉर्ड 324 नए मामले दर्ज किए गए थे जबकि शुक्रवार सुबह तक कोरोना के 114 नए मामले सामने आए हैं, जिसके बाद कोरोना संक्रमितों की संख्या बढ़कर 2,101 हो गई है.