दुनिया

पाकिस्तान का यात्री विमान लैंडिंग से पहले दुर्घटनाग्रस्त, 97 लोगों की मौत

पाकिस्तान इंटरनेशनल एयरलाइंस के विमान ने शुक्रवार दोपहर लाहौर से कराची के लिए उड़ान भरी थी. राष्ट्रीय विमानन कंपनी के एयरबस ए320 में 91 यात्री और चालक दल के आठ सदस्य सवार थे.

कराची के रिहायशी इलाके में विमान के दुर्घटनाग्रस्त होने से कई मकान क्षतिग्रस्त हो गए हैं. (फोटो: रॉयटर्स)

कराची के रिहायशी इलाके में विमान के दुर्घटनाग्रस्त होने से कई मकान क्षतिग्रस्त हो गए हैं. (फोटो: रॉयटर्स)

कराचीः पाकिस्तान इंटरनेशनल एयरलाइंस (पीआईए) का विमान शुक्रवार को लैंडिंग से ठीक एक मिनट पहले ही दुर्घटनाग्रस्त हो गया. इस हादसे में 97 लोगों की मौत हो गई और दो यात्री बच गए हैं.

राष्ट्रीय विमानन कंपनी के एयरबस ए320 में 91 यात्री और चालक दल के आठ सदस्य सवार थे.

अधिकारियों ने बताया कि विमान विमान लाहौर से आ रहा था और कराची शहर के जिन्ना अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे पर उतरने ही वाला था कि एक मिनट पहले मालिर में मॉडल कॉलोनी के निकट जिन्ना गार्डन में दुर्घटनाग्रस्त हो गया.

पीआईए की विमान संख्या 8303 लाहौर से कराची के लिए निकला था. स्थानीय मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक, विमान के दोनों इंजन खराब हो गए थे. प्रत्यक्षदर्शियों का कहना है कि विमान के इंजन में आग लग गई थी.

डॉन न्यूज ने शनिवार को सिंध के स्वास्थ्य अधिकारियों के हवाले से बताया कि 97 लोगों के मारे जाने की पुष्टि हुई है जबकि दो लोग बच गए हैं.

खबर में बताया गया कि जीवित बचे दोनों लोगों की हालत स्थिर है तथा 19 मृतकों की शिनाख्त कर ली गई है.

खबर के मुताबिक पहले एक महिला की पहचान विमान में सवार यात्रियों में से जीवित बची शख्स के तौर पर की गई थी लेकिन बाद में वह उस इलाके की निवासी निकली जहां विमान दुर्घटनाग्रस्त हुआ था. वह उन 11 लोगों में से एक है जो रिहायशी इलाके में विमान दुर्घटनाग्रस्त होने से घायल हुए हैं.

सिंध की स्वास्थ्य मंत्री के मीडिया संयोजक मीरान युसूफ ने बताया कि घायलों में ज्यादातर महिलाएं हैं, क्योंकि जब विमान दुर्घटनाग्रस्त हुआ तो वह शुक्रवार की नमाज का वक्त था. उन्होंने बताया कि घायल हुए सभी निवासियों की हालत स्थिर है.

सिंध की स्वास्थ्य मंत्री अजरा पेचुहो ने बताया कि हादसे में दो लोग बचे हैं जिनमें बैंक ऑफ पंजाब के अध्यक्ष जफर मसूद भी शामिल हैं और उन्होंने अपनी मां को फोन कर अपने कुशल होने की जानकारी दी.

फ्लाइट मॉनिटरिंग साइट फ्लाइट रडार की ओर से जारी डाटा के मुताबिक, विमान ने पाकिस्तान के समयानुसार दोपहर 1.05 मिनट पर लाहौर से उड़ान भरी थी.

दोपहर 2:34 मिनट पर विमान ने लैंड करने की कोशिश की थी लेकिन 275 फीट की ऊंचाई पर इसे अबॉर्ट कर दिया गया और विमान 3,175 फीट की ऊंचाई पर चला गया. इसके बाद दोपहर 2:40 मिनट पर रडार से विमान का संपर्क टूट गया.

ईधी वेलफेयर ट्रस्ट के के फैजल ईधी ने बताया कि ऐसे 25-30 निवासियों को भी अस्पताल ले जाया गया है जिनके घरों को इस विमान हादसे में नुकसान पहुंचा है. उनमें से अधिकतर झुलस गए थे.

क्रैश लैंडिंग के दौरान विमान के पंख आवासीय कॉलोनी के घरों से टकराते गए और इसके बाद विमान दुर्घटनाग्रस्त हो गया.

ईधी ने कहा, ‘इस हादसे में कम से कम 25 मकानों को नुकसान पहुंचा है.’

पीआईए के अधिकारियों के मुताबिक, कैप्टन ने हवाई यातायात टावर को सूचित किया कि उसे विमान के लैंडिंग गियर में कुछ गड़बड़ी लग रही है और इसके बाद विमान रडार से गायब हो गया.

दुर्घटना के कारण की पुष्टि होना अभी बाकी है. पीआईए के मुख्य कार्यकारी एयर वाइस मार्शल अरशद मलिक ने कहा कि पायलट ने यातायात नियंत्रक को बताया था कि वह कुछ तकनीकी मुश्किलों का अनुभव कर रहा है.

मलिक ने उन खबरों को खारिज किया कि विमान में उड़ान से पहले भी गड़बड़ी थी.

उन्होंने कहा, ‘दुर्घटना के असली कारण का पता जांच के बाद चलेगा जो स्वतंत्र व निष्पक्ष होगी तथा मीडिया को उपलब्ध कराई जाएगी.’

उन्होंने कहा कि इस अभियान को पूरा होने में दो से तीन दिन का वक्त लगेगा.

पाकिस्तान ने दुर्घटना की वजह का पता लगाने के लिए चार सदस्यीय बोर्ड ऑफ इन्क्वायरी का गठन किया है.

सरकार के विमानन मंडल द्वारा जारी एक आधिकारिक अधिसूचना के अनुसार बोर्ड को जल्द से जल्द जांच पूरी करने के लिए कहा गया है.

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने ट्वीट कर कहा,’ पीआईए का विमान दुर्घटनाग्रस्त होने की खबर से दुखी और सदमे में हूं. जल्द ही जांच समिति गठित की जाएगी. मृतकों के परिजनों के प्रति संवेदना.’

स्थानीय मीडिया का कहना है कि पाकिस्तान के स्वास्थ्य एवं जनसंख्या कल्याण मंत्री ने विमान दुर्घटनाग्रस्त होने की वजह से कराची के सभी प्रमुख अस्पतालों में आपातकाल घोषित किया है.

उन्होंने कहा कि विमान के दुर्घटनाग्रस्त होने के असल कारणों का पता लगाने के लिए जांच की जाएगी.

कुछ प्रत्यक्षदर्शियों ने समाचार एजेंसी एपी को बताया कि ऐसा लग रहा था कि एयरबस ए320 ने दुर्घटनाग्रस्त होने से पहले दो से तीन बार लैंड करने की कोशिश की थी.

सिविल एविएशन के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि ऐसा लग रहा था कि लैंडिंग करने से पहले तकनीकी दिक्कतों की वजह से विमान के पहिए खुल नहीं पा रहे थे.

भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी ट्वीट कर कहा, ‘पाकिस्तान में विमान दुर्घटना में लोगों के मारे जाने की खबर से दुखी हूं. हमारी संवेदनाएं मृतकों के परिजनों के साथ है और हम घायलों के जल्द ठीक होने की कामना करते हैं.’

बता दें कि पाकिस्तान में कोरोना संकट की वजह से देशव्यापी लॉकडाउन के बाद 16 मई से यात्री विमान सेवाओं को बहाल किया गया था.

पाकिस्तान में सात दिसंबर 2016 के बाद यह पहला बड़ा विमान हादसा है जब चित्राल से इस्लामाबाद आ रहा एक पीआईए एटीआर-42 विमान बीच में ही दुर्घटनाग्रस्त हो गया था. इस हादसे में विमान में सवार सभी 48 लोगों की मौत हो गई थी.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)