भारत

पंजाब: नाबालिग बेटी के बलात्कार का प्रयास करने वाले शख़्स की पत्नी ने की हत्या

घटना लुधियाना के माधोपुरी इलाके की है, जहां एक व्यक्ति ने नशे में अपनी नाबालिग बेटी से बलात्कार का प्रयास किया था, जिसके बाद उसकी पत्नी ने बेटे के साथ मिलकर ये क़दम उठाया. 2014 में यह व्यक्ति अपनी एक और बेटी से रेप की कोशिश के आरोप में जेल जा चुका था. उस बेटी ने कुछ समय बाद आत्महत्या कर ली थी.

(फोटो साभार: विकीपीडिया)

(फोटो साभार: विकीपीडिया)

पंजाब के लुधियाना में शनिवार को एक महिला ने अपने बच्चों के साथ मिलकर अपने पति की गला दबाकर हत्या कर दी. पति ने कथित तौर पर उसकी नाबालिग बेटी से बलात्कार की कोशिश की थी.

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के अनुसार, 46 वर्षीय रमेश (परिवर्तित नाम) किराये के घर में अपने परिवार- पत्नी एक बेटी और दो बेटों के साथ रहता था.

पुलिस ने बताया कि यह इस महिला की दूसरी शादी थी. पहली शादी से उनके दो बच्चे- एक बेटा और एक बेटी थे. 2014 में रमेश ने कथित तौर पर उनकी नाबालिग बेटी का बलात्कार किया था. इसके कुछ समय बाद लड़की ने आत्महत्या कर ली थी.

यह बेटा दिल्ली में रहता है, जो कुछ समय से लुधियाना में था. रमेश से शादी के बाद महिला के तीन और बच्चे हैं- एक बेटी और दो बेटे.

पुलिस के अनुसार शनिवार रात को वह शराब के नशे में घर आया था और अपनी नाबालिग बेटी से बलात्कार की कोशिश की. इसके बाद उसकी पत्नी ने (पहली शादी से हुए) अपने 20 वर्षीय बेटे और 15 साल की बेटी के साथ मिलकर तार से गला दबाकर उसकी हत्या कर दी.

एसीपी (उत्तर) गुरबिंदर सिंह ने बताया, ‘रमेश के सौतेले बेटे ने उसके हाथ पकड़े, मां-बेटी ने तार के टुकड़े से उसका गला दबा दिया. वो नशे में था और घर लौटकर उसका अपनी पत्नी से झगड़ा हुआ था. पत्नी के अनुसार, रमेश ने आकर उससे मारपीट की और उनकी नाबालिग बेटी से बलात्कार की कोशिश की.’

सिंह ने बताया कि रमेश आदतन शराबी था. दो दिन पहले भी उसने अपनी पत्नी से मारपीट की थी और सिर में मारा था. 2014 में रमेश ने कथित तौर पर अपनी सौतेली नाबालिग बेटी से रेप की कोशिश की थी और टिब्बा थाने में मामला दर्ज हुआ था.

सिंह ने बताया, ‘तब वह छह महीने जेल में रहा था. इसके बाद परिवार में समझौता हो गया और वह जेल से बाहर आ गया. हालांकि उसके बाहर आने के बाद उस लड़की ने आत्महत्या कर ली. उसकी ख़ुदकुशी की वजह की अब तक जांच चल रही है.’

पुलिस के सूत्रों ने बताया कि रमेश ने अपनी पत्नी की बहन से भी बलात्कार का प्रयास किया था, लेकिन इस बारे में कोई एफआईआर नहीं दर्ज हुई थी.

शनिवार को रमेश ने जिस बेटी से जबरदस्ती करने की कोशिश की थी, वह आठवीं क्लास में पढ़ती है. उसके दो छोटे भाई भी हैं, जो घटना के समय वहां मौजूद थे, जिन्हें बाद में रिश्तेदारों के यहां भेज दिया गया.

सिंह ने बताया कि दरेसी थाने में रमेश की पत्नी, सौतेले बेटे और नाबालिग बेटी के खिलाफ आईपीसी की धारा 302 के तहत मामला दर्ज कर लिया गया है. उन्होंने यह भी बताया, ‘अभी ऑटोप्सी नहीं हुई है, पर तीनों ने अपना जुर्म कबूल कर लिया है.’