नॉर्थ ईस्ट

भाजपा ने मनोज तिवारी की जगह आदेश कुमार गुप्ता को दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष बनाया

भाजपा ने पार्टी के आदिवासी नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री विष्णु देव साय को छत्तीसगढ़ की कमान सौंपी है और एस. तिकेंद्र सिंह को मणिपुर भाजपा का अध्यक्ष बनाया है.

दिल्ली के नए भाजपा अध्यक्ष आदेश कुमार गुप्ता, छत्तीसगढ़ भाजपा अध्यक्ष विष्णु देव साई और मणिपुर भाजपा अध्यक्ष एस. तिकेंद्र सिंह. (फोटो साभार: ट्विटर)

दिल्ली के नए भाजपा अध्यक्ष आदेश कुमार गुप्ता, छत्तीसगढ़ भाजपा अध्यक्ष विष्णु देव साय और मणिपुर भाजपा अध्यक्ष एस. तिकेंद्र सिंह. (फोटो साभार: ट्विटर)

नई दिल्ली: भाजपा ने मंगलवार को आदेश कुमार गुप्ता को दिल्ली भाजपा का प्रदेश अध्यक्ष नियुक्त किया. वहीं पार्टी ने आदिवासी नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री विष्णु देव साय को छत्तीसगढ़ भाजपा की कमान सौंपी.

पार्टी की ओर से जारी विज्ञप्ति में यह जानकारी दी गई.

गुप्ता उत्तरी दिल्ली के पूर्व महापौर हैं और वह लोकसभा सदस्य एवं मौजूदा अध्यक्ष मनोज तिवारी का स्थान लेंगे. पार्टी सूत्रों के अनुसार, तिवारी ने दिल्ली विधानसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी से हार मिलने के बाद इस्तीफे की पेशकश की थी और उनका कार्यकाल भी समाप्त हो गया था.

बीते फरवरी माह में हुए विधानसभा चुनावों में दिल्ली की 70 विधानसभा सीटों में से पार्टी सिर्फ आठ सीटें ही जीत सकी थी.

इस संबंध में मनोज तिवारी ने ट्वीट कर कहा है, ‘भाजपा प्रदेश अध्यक्ष के रूप में इस 3.6 साल के कार्यकाल में जो प्यार और सहयोग मिला उसके लिए सभी कार्यकर्ता, पदाधिकारी व दिल्लीवासियों का सदैव आभारी रहूंगा. जाने-अनजाने कोई त्रुटि हुई हो तो क्षमा करना. नए प्रदेश अध्यक्ष भाई आदेश गुप्ता जी का असंख्य बधाइयां.’

मनोज तिवारी को साल 2016 में दिल्ली का प्रदेश अध्यक्ष बनाया गया था. समाजवादी पार्टी में एक छोटे से कार्यकाल के बाद साल 2013 में मनोज तिवारी भाजपा में शामिल हुए थे. साल 2014 में वह चुनाव लड़े थे और जीत दर्ज की थी.

एनडीटीवी की एक रिपोर्ट के अनुसार, दो साल बाद जब उन्हें दिल्ली भाजपा अध्यक्ष बनाया गया था तब विजय गोयल और रमेश बिधूड़ी जैसे अन्य अनुभवी नेताओं में नाराजगी थी.

एनडीटीवी से बातचीत में आदेश कुमार गुप्ता ने कहा, ‘मैं केवल इतना कह सकता हूं कि मैं अपनी जिम्मेदारी ईमानदारी और पूरे समर्पण के साथ निभाऊंगा. दिल्ली में हमें जमीनी स्तर पर काम करने की जरूरत है. हमें अधिक से अधिक लोगों तक पहुंचने की जरूरत है और एक सर्वांगीण संगठन बनाना है, ताकि हम अपने मतदाता आधार को बढ़ा सकें.’

समाचार एजेंसी एएनआई से बातचीत में उन्होंने कहा है, ‘मेरे जैसे पार्टी के एक सामान्य कार्यकर्ता को प्रदेश अध्यक्ष बनाए जाने के लिए मैं मोदी जी, नड्डा जी और पार्टी के दूसरे वरिष्ठ नेताओं का आभारी हूं. कोरोना वायरस के मद्देनजर पार्टी का विस्तार और इसे और मजबूती प्रदान करना एक चुनौती होगी.’

दूसरी ओर आदिवासी नेता साय मोदी सरकार के पहले कार्यकाल में केंद्रीय मंत्री थे, लेकिन वर्ष 2019 में उन्होंने लोकसभा चुनाव नहीं लड़ा, क्योंकि भाजपा ने छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव में कांग्रेस से मिली हार के बाद किसी भी मौजूदा सांसद को दोबारा टिकट नहीं देने का फैसला किया था. साय विक्रम उसेंडी का स्थान लेंगे.

एक अन्य नियुक्ति में भाजपा ने एस. तिकेंद्र सिंह को मणिपुर भाजपा का प्रदेश अध्यक्ष बनाया.

कोरोना वायरस की महामारी की वजह से राजनीतिक गतिविधियों के बंद होने के बीच भाजपा में पहली बार संगठन स्तर पर इतनी महत्वपूर्ण नियुक्तियां की गई है.