राजनीति

दिल्ली में फिर से लॉकडाउन लगाने की कोई योजना नहीं है: अरविंद केजरीवाल

दिल्ली में कोरोना वायरस के मामले तेज़ी से बढ़ रहे हैं. दिल्ली में छह दिन के भीतर संक्रमण के 10,000 से अधिक मामले दर्ज़ किए गए हैं. बीते रविवार को 24 घंटे के दौरान रिकॉर्ड 2,224 मामले सामने आए था.

अरविंद केजरीवाल. (फोटो: पीटीआई)

अरविंद केजरीवाल. (फोटो: पीटीआई)

नई दिल्ली: मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सोमवार को कहा कि कोरोना वायरस के मामलों में लगातार वृद्धि के बावजूद दिल्ली में फिर से लॉकडाउन लगाने की कोई योजना नहीं है.

केजरीवाल ने ट्वीट किया, ‘कई लोग अटकल लगा रहे हैं कि क्या दिल्ली में फिर से लॉकडाउन लगाने की योजना बनाई जा रही है. ऐसी कोई योजना नहीं है.’

दिल्ली में कोरोना वायरस को लेकर लगातार गंभीर होती स्थिति के मद्देनजर ऐसी अटकलें लगाई जाने लगी थीं कि यहां पर फिर से लॉकडाउन किया जाएगा.

एक दिन पहले 14 जून को केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने केजरीवाल, उपराज्यपाल अनिल बैजल और तीन महापौरों के साथ कोविड-19 की स्थिति से निपटने की रणनीति पर चर्चा की थी.

अमित शाह ने कहा था कि दिल्ली में कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए अगले दो दिन में कोरोना टेस्टिंग को बढ़ाकर दो गुना किया जाएगा और छह दिन बाद टेस्टिंग को बढ़ाकर तीन गुना कर दिया जाएगा. साथ ही कुछ दिन के बाद कन्टेनमेंट जोन में हर पोलिंग स्टेशन पर टेस्टिंग की व्यवस्था शुरू कर दी जाएगी.

उन्होंने यह भी कहा था कि दिल्ली में कोरोना से संक्रमित मरीजों के लिए बेड की कमी को देखते हुए केंद्र सरकार ने तुरंत 500 रेलवे कोच दिल्ली को देने का निर्णय लिया है. इन रेलवे कोच से न सिर्फ दिल्ली में 8,000 बेड बढ़ेंगे, बल्कि यह कोच कोरोना संक्रमण से लड़ने के लिए सभी सुविधाओं से लैस होंगे.

गृह मंत्री ने कहा था कि दिल्ली के कन्टेनमेंट जोन में कॉन्टैक्ट मैपिंग अच्छे से हो पाए इसके लिए घर-घर जाकर हर एक व्यक्ति का व्यापक स्वास्थ्य सर्वे किया जाएगा, जिसकी रिपोर्ट एक सप्ताह में आ जाएगी. साथ ही अच्छे से मॉनिटरिंग हो, इसके लिए वहां हर व्यक्ति के मोबाइल में आरोग्य सेतु एप डाउनलोड करवाई जाएगी.

रविवार को दिल्ली में कोविड-19 के सर्वाधिक 2,224 नए मामले सामने आए, जिसके बाद सोमवार सुबह तक राष्ट्रीय राजधानी में संक्रमण के कुल मामलों की संख्या 41,000 (41,182) के पार चली गई और मृतक संख्या 1,327 पहुंच गई.

दिल्ली में छह दिन के भीतर कोविड-19 के 10,000 से अधिक मामले

नई दिल्ली: दिल्ली में छह दिन के भीतर कोरोना वायरस के दस हजार से अधिक नए मामले सामने आए और कुल संक्रमण के कुल मामलों की संख्या 40,000 के पार पहुंच गई. इस लिहाज से यहां प्रतिदिन औसतन 1,600 से अधिक नए मामले सामने आए.

दिल्ली सरकार के आंकड़ों के विश्लेषण में यह तथ्य सामने आया.

संक्रमण के मामले 20,000 से 30,000 तक पहुंचने में आठ दिन लगे जबकि 10,000 से 20,000 तक पहुंचने में 13 दिन लगे थे.

नौ जून को संक्रमण के मामले 30,000 के पार पहुंच गए थे और 14 जून को कुल मामले 40,000 से अधिक हो गए.

इससे पहले दिल्ली के उप-मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा है कि जुलाई माह के अंत तक दिल्ली में संक्रमण के 5.5 लाख मामले हो सकते हैं. उन्होंने कहा था कि इसके साथ ही अस्पतालों में 80 हजार बेड की जरूरत पड़ेगी.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)