राजनीति

भारत-चीन सीमा विवाद पर आपत्तिजनक टिप्पणी को लेकर कांग्रेस नेता पर राजद्रोह केस दर्ज

बीते दिनों कारगिल में एक कांग्रेस पार्षद के ख़िलाफ़ भारत और चीन के सैनिकों के बीच हिंसक झड़प और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लेकर आपत्तिजनक टिप्पणी करने के लिए केस दर्ज किया गया था.

(प्रतीकात्मक फोटो: रॉयटर्स)

(प्रतीकात्मक फोटो: रॉयटर्स)

शिमला: हिमाचल प्रदेश के पूर्व कांग्रेस विधायक नीरज भारती के खिलाफ सोशल मीडिया पर लद्दाख की गलवान घाटी में भारत-चीन सीमा गतिरोध को लेकर आपत्तिजनक टिप्पणी करने के आरोप में मामला दर्ज किया गया है.

पुलिस प्रवक्ता खुशहाल शर्मा ने शनिवार को यह जानकारी दी. उन्होंने बताया कि अधिवक्ता नरेंद्र गुलेरिया द्वारा की गई एक शिकायत के आधार पर प्राथमिकी दर्ज की गई.

नीरज भारती कांग्रेस के पूर्व प्रमुख संसदीय सचिव भी रह चुके हैं.

टाइम्स ऑफ इंडिया के अनुसार, भारती ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ और लद्दाख की गलवान घाटी में भारत और चीन के बीच हुई हालिया झड़प पर कुछ टिप्पणी की थी.

कांगड़ा जिले के जवाली से पूर्व विधायक पर आईपीसी की धारा 124 ए (देशद्रोह), 153 ए (विभिन्न समूहों के बीच दुश्मनी को बढ़ावा देना), 504 (शांति भंग करने के इरादे से जानबूझकर अपमान करना) और 505 (सार्वजनिक उपद्रव के लिए विवादित बयान देना) के तहत मामला दर्ज किया गया है.

प्राथमिक शिमला जिले के भराई पुलिस स्टेशन में दर्ज की गई है.

ऐसे ही एक अन्य मामले में बीते 19 जून को लद्दाख पुलिस ने लद्दाख ऑटोनॉमस हिल डेवलपमेंट काउंसिल (कारगिल) के कांग्रेस पार्षद ज़ाकिर हुसैन के खिलाफ भी केस दर्ज किया है.

एक कथित टेलीफोनिक बातचीत में उन्होंने भारत और चीन के सैनिकों के बीच हाल ही में हुई हिंसक झड़प और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लेकर आपत्तिजनक टिप्पणी की थी.

इंडियन एक्सप्रेस से बातचीत में कारगिल एसपी विनोद कुमार ने बताया था, हमने ज़ाकिर हुसैन के खिलाफ आईपीसी की धारा 124, 153 और 505 के तहत केस दर्ज किया गया है. रिपोर्ट में सूत्रों के हवाले से बताया गया है कि उनके खिलाफ राजद्रोह का भी मामला दर्ज किया गया है.

कांग्रेस ने पार्षद की बातचीत से किनारा करते हुए उन्हें कारण बताओ नोटिस जारी किया है.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)