राजनीति

एमपी: पेट्रोल-डीज़ल मूल्य वृद्धि पर कांग्रेस का प्रदर्शन, दिग्विजय सिंह सहित 150 लोगों पर केस

पेट्रोल और डीज़ल के दाम में बढ़ोतरी को लेकर प्रदर्शन करने के लिए भोपाल मध्य से कांग्रेस विधायक आरिफ़ मसूद और उनके पांच समर्थकों के ख़िलाफ़ भी केस दर्ज किया गया है. कांग्रेस नेता और प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह के ख़िलाफ़ इस महीने में यह दूसरी एफ़आईआर दर्ज की गई है.

पेट्रोल-डीजल के लगातार बढ़ते दामों के विरोध में कांग्रेस नेता मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ रैली निकाली. (फोटो साभार: ट्विटर)

पेट्रोल-डीजल के लगातार बढ़ते दामों के विरोध में कांग्रेस नेता मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ रैली निकाली. (फोटो साभार: ट्विटर)

भोपाल: पेट्रोल-डीज़ल के कीमत बढ़ाने के खिलाफ बुधवार को कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने साइकिल रैली निकाली थी. जिसके बाद सरकारी आदेश के नियमों का उल्लंघन करने के आरोप में पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह समेत 150 कांग्रेस कार्यकर्ताओं के खिलाए एफआईआर दर्ज किया गया.

एनडीटीवी के मुताबिक बुधवार को पेट्रोल-डीजल की बढ़ती प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष कमलनाथ ने हर जिला मुख्यालय में विरोध प्रदर्शन का ऐलान किया था.

कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह के नेतृत्व में राजधानी भोपाल के रोशनपुरा चौराहे से मुख्यमंत्री आवास तक साइकिल रैली निकालने के लिए बड़ी संख्या में कांग्रेस कार्यकर्ता इकट्ठा हो गए थे.

इसके बाद बिना अनुमति के रैली निकालने के कारण पुलिस ने अपेक्स बैंक तिराहे के पास उन्हें रोक लिया. पुलिस ने दिग्विजय सिंह समेत 150 कांग्रेसी कार्यकर्ताओं को बिना अनुमति विरोध प्रदर्शन करने, सोशल डिस्टेंसिंग का उल्लंघन करने और कलेक्टर का आदेश न मानने के कारण हिरासत में ले लिया.

बाद में दिग्विजय सिंह ने कहा, ‘डीजल की कीमत बढ़ती है तो इससे सभी जरूरी चीजों की कीमतों में इजाफा होता है. किसानों के लिए खेती करना मुश्किल हो जाता है. पब्लिक ट्रांसपोर्ट का किराया बढ़ता है, लेकिन केंद्र सरकार को सिर्फ अपने राजस्व को बढ़ाने से मतलब है, उसे गरीब की कोई फिक्र नहीं है.’

उन्होंने याद दिलाया कि जब 2008 में पेट्रोल की कीमत 50 रुपये हो गई थी तो मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने साइकिल यात्रा निकाली थी, लेकिन अब तो पेट्रोल की कीमत 80 रुपये है. अगर शिवराज सिंह ईमानदार व्यक्ति हैं तो उन्हें अब भी साइकिल यात्रा निकालना चाहिए.

बुधवार को पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने ट्वीट कर लिखा, ‘पूरे देश में सबसे महंगा पेट्रोल मध्य प्रदेश में है. इसके बाद आज एक और रिकॉर्ड बना . भारतीय इतिहास में पहली बार दिल्ली में डीजल, पेट्रोल से महंगा हुआ. लगातार आज 18वें दिन भी डीज़ल की क़ीमत में वृद्धि. जनता पर निरंतर महंगाई की मार.’

बुधवार को पेट्रोल एवं डीजल की कीमतों में बढ़ोतरी के विरोध में कांग्रेस ने मध्य प्रदेश में प्रदेशव्यापी प्रदर्शन के तहत साइकिल यात्रा निकाली थी.

दैनिक भास्कर की रिपोर्ट के अनुसार, भोपाल मध्य से कांग्रेस विधायक आरिफ मसूद ने पेट्रोल-डीजल के दामों को लेकर बुधवार दोपहर बाद करीब चार बजे बोर्ड ऑफिस पर धरना-प्रदर्शन किया था. एमपीनगर पुलिस ने आरिफ और उनके 5 अन्य समर्थकों के खिलाफ धारा 188 के तहत कार्रवाई की है.

रिपोर्ट के अनुसार, गुरुवार को 19वें दिन फिर कीमतें बढ़ीं. पेट्रोल पर प्रति लीटर 16 पैसे की बढ़ोतरी की गई, जबकि डीजल के दाम 13 पैसे बढ़ाए गए. अब राजधानी भोपाल में पेट्रोल प्रति लीटर 87.55 रुपये और डीजल प्रति लीटर 79.46 रुपये हो गया है.

मालूम हो कि दिग्विजय सिंह के खिलाफ इस महीने में यह दूसरा केस दर्ज किया गया है. इससे पहले 15 जून को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के एक वीडियो के साथ छेड़छाड़ कर उसे सोशल मीडिया पर साझा करने के आरोप में उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई थी.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)