नॉर्थ ईस्ट

कोरोना वायरस: पश्चिम बंगाल के बाद झारखंड ने 31 जुलाई तक बढ़ाया लॉकडाउन

असम में आज से 12 घंटे का रात्रि कर्फ्यू, गुवाहाटी में 14 दिन संपूर्ण लॉकडाउन पश्चिम बंगाल में 31 जुलाई तक लॉकडाउन की घोषणा के बीच रात के कर्फ्यू में एक घंटे की ढील. कोरोना वायरस संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए राजधानी दिल्ली के सभी स्कूल अब 31 जुलाई तक बंद रहेंगे. हैदराबाद के बेग़म बाज़ार में 28 जून से पांच जुलाई तक बंद रहेंगी दुकानें.

New Delhi: A man sits in front of a closed shop at deserted Lajpat Rai market in Chandni Chowk, during ongoing COVID-19 lockdown in New Delhi, Sunday, May 31, 2020. (PTI Photo/Ravi Choudhary) (PTI31-05-2020 000041B)

(फोटो: पीटीआई)

रांची/गुवाहाटी/हैदराबाद: पश्चिम बंगाल के बाद झारखंड सरकार ने राज्य में कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों को देखते हुए राज्य में लॉकडाउन की अवधि 31 जुलाई तक बढ़ाने का निर्णय किया है. हालांकि लॉकडाउन के नियमों का अनुपालन पहले की तरह ही सख्ती से जारी रहेगा.

फिलहाल लॉकडाउन की अवधि 30 जून के लिए ही थी.

राज्य सरकार ने अधिसूचना जारी कर शुक्रवार को बताया कि उच्चस्तरीय बैठक के बाद कोविड-19 मामलों की राज्यस्तरीय कार्यकारिणी समिति के अध्यक्ष एवं झारखंड के मुख्य सचिव सुखदेव सिंह ने आज यह निर्देश जारी किया.

वहीं, पहले के निर्णय के अनुसार राज्य में मंदिर, मस्जिद, गिरिजाघर समेत सभी धार्मिक स्थल, शिक्षण संस्थाएं, सिनेमाहाल, मॉल, सैलून, स्पा, होटल, रेस्टोरेंट, धर्मशाला, बार, अंतरराज्यीय बस सेवा, स्वीमिंग पूल, इंटरटेनमेंट पार्क, जिम, कोचिंग संस्थान बंद रहेंगे और लॉकडाउन के नियमों का अनुपालन सख्ती से जारी रहेगा.

झारखंड में संक्रमण के 2,290 मामले सामने आए हैं और इनमें से 12 लोगों की मौत हो गई है. इनमें 635 सक्रिय मामले हैं, जबकि 1,643 लोग इलाज के बाद संक्रमण मुक्त हो चुके हैं.

असम में आज से 12 घंटे का रात्रि कर्फ्यू, गुवाहाटी में 14 दिन संपूर्ण लॉकडाउन

इधर, असम के स्वास्थ्य मंत्री हिमंता बिस्वा शर्मा ने कहा है कि शुक्रवार से राज्यभर में शाम सात बजे से 12 घंटे का रात्रि कर्फ्यू लागू रहेगा और कोविड-19 के मामलों में वृद्धि को देखते हुए 28 जून आधी रात से कामरूप (महानगर) यानी गुवाहाटी जिले में 14 दिन का संपूर्ण लॉकडाउन रहेगा.

रात का कर्फ्यू शाम सात बजे से सुबह सात बजे तक लागू रहेगा.

मंत्री ने संवाददाताओं से कहा कि गुवाहाटी में 15 जून से अब तक कोरोना वायरस के 762 मामले सामने आ चुके हैं और उनमें से 677 ने हाल ही में कोई यात्रा नहीं की थी.

उन्होंने कहा कि कई लोग राज्य में बाहर से लौटे संक्रमित लोगों के संपर्क में आने से संक्रमण के शिकार हुए होंगे.

उन्होंने कहा कि बीते 25 जून को सामने आए संक्रमण के 276 मामलों में से 133 गुवाहाटी से थे.

उन्होंने कहा, ‘हमारे पास अब 28 जून की आधी रात से 14 दिनों के लिए लॉकडाउन लागू करने के अलावा और कोई विकल्प नहीं है. इस बार हम और कड़ाई करेंगे, क्योंकि पहले सात दिन तक सब्जी और किराना की दुकानें नहीं खोली जाएंगी.’

उन्होंने कहा कि अगले हफ्ते में सिर्फ दवा की दुकानें और अस्पताल खोलने की अनुमति होगी.

कोविड-19 के प्रसार को रोकने के लिए सरकार अन्य शहरों और निकाय क्षेत्रों में 27 जून से हर सप्ताहांत पर संपूर्ण लॉकडाउन लागू करेगी.

असम में संक्रमण के 6,607 मामले सामने आए हैं और इनमें से नौ लोगों की मौत हो गई है. इनमें 2,339 सक्रिय मामले हैं, जबकि 5,196 लोग इलाज के बाद संक्रमण मुक्त हो चुके हैं.

पश्चिम बंगाल में रात के कर्फ्यू में ढील, 31 जुलाई तक है लॉकडाउन

इस बीच बीते शुक्रवार को पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने रात के कर्फ्यू में एक जुलाई से एक घंटे की ढील देने की घोषणा की. यहां कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए बीते 24 जून को लॉकडाउन की अवधि बढ़ाकर 31 जुलाई तक कर दी गई थी.

एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में मुख्यमंत्री ने कहा, ‘हमने निर्णय किया है कि एक जुलाई से रात का कर्फ्यू रात 10 बजे से सुबह पांच बजे तक लागू रहेगा. हम ये भी चाहते हैं कि एक जुलाई से सभी एहतियाती मापदंडों और 100 प्रतिशत सीट क्षमता के साथ मेट्रो सेवा शुरू हो जाए.’

हालांकि मेट्रो में किसी यात्री को खड़ा होने की इजाजत नहीं होगी. इससे पहले रात का कर्फ्यू रात नौ बजे से सुबह पांच बजे तक लागू था.

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के अनुसार, ममता बनर्जी ने शुक्रवार को केंद्र सरकार से आग्रह किया है कि 31 जुलाई तक वह कोरोना वायरस हॉटस्पॉट क्षेत्रों से कोलकाता आनी वाली घरेलू और अंतरराष्ट्रीय उड़ानों को बंद कर दे.

ममता बनर्जी ने कहा, ‘हाल ही में हमें पता चला कि कुछ कोरोना वायरस संक्रमित लोग चेन्नई से आए हैं और एयरपोर्ट पर उनकी स्क्रीनिंग नहीं की गई. बाद में ये लोग खुद मिदनापुर के अस्पताल में भर्ती हुए. हम कोरोना हॉटस्पॉट क्षेत्रों से कोलकाता आने वाले घरेलू और अंतरराष्ट्रीय उड़ानों के साथ विशेष ट्रेनों पर 31 जुलाई तक रोक लगाने के लिए केंद्र सरकार को पत्र लिखने की योजना बना रहे हैं.’

राज्य सरकार ने सभी शैक्षणिक संस्थाओं को 31 जुलाई तक बंद रखने की भी घोषणा की है.

पश्चिम बंगाल में कोरोना वायरस संक्रमण के 16,190 मामले सामने आ चुके हैं और 616 लोगों की मौत हो चुकी है. यहां संक्रमण के 5,039 सक्रिय मामले हैं, जबकि 10,535 लोग संक्रमण मुक्त हो चुके हैं.

राजधानी दिल्ली के सभी स्कूल 31 जुलाई तक बंद रहेंगे

इस बीच कोरोना वायरस संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली के सभी स्कूलों को 31 जुलाई तक बंद करने की घोषणा की गई है. बीते शुक्रवार को उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने इस बात की जानकारी दी.

दिल्ली में जूनियर कक्षाओं (नर्सरी से कक्षा 8 तक) में 11 मई से ग्रीष्मकालीन अवकाश था, बाकी के लिए कक्षाएं 29 मई से बंद हो गई थीं. कोरोना वायरस से सुरक्षा के मद्देनजर बीते 25 मार्च से लागू लॉकडाउन के पहले से ही देश के सभी शैक्षणिक संस्थान बंद कर दिए गए थे.

स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार, पूरे देश में कोरोना वायरस संक्रमण के मामले बढ़कर 508,953 हो गए हैं. इनमें से 15,685 लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि 295,881 लोग संक्रमण मुक्त हो चुके हैं. देश में कोरोना वायरस के सक्रिय मामलों की संख्या 197,387 है.

वहीं राजधानी दिल्ली में संक्रमण के कुल 77,240 मामले सामने आ चुके हैं और 2,492 लोगों की मौत हो चुकी है. यहां संक्रमण के 27,657 सक्रिय मामले हैं, जबकि 47,091 लोग संक्रमण मुक्त हो चुके हैं.

तेलंगाना: हैदराबाद के बेगम बाजार में 28 जून से पांच जुलाई तक बंद रहेंगी दुकानें

कोविड-19 के मामलों में हालिया वृद्धि और कुछ व्यापारियों में संक्रमण की पुष्टि होने के चलते हैदराबाद स्थित बेगम बाजार का थोक बाजार रविवार से आठ दिन के लिए बंद रहेगा.

शहर के किराना व्यापारी संघ ने शुक्रवार को यह जानकारी दी.

शहरी निकाय क्षेत्र के गोशामहल डिवीजन में स्थित बाजार में कोरोना वायरस संक्रमण के 400 से अधिक मामले सामने आने के बाद बृहस्पतिवार को व्यापारी संघ की कार्यकारी समिति की आपातकालीन बैठक में यह निर्णय लिया गया.

व्यापारी संघ के अध्यक्ष लक्ष्मीनारायण राठी ने बताया कि दुकानों को 28 जून से पांच जुलाई तक के लिए बंद करने का निर्णय एहतियात के तौर पर लिया गया है.

राठी ने कहा, ‘हमारे कुछ व्यापारियों की जांच में भी कोरोना वायरस की पुष्टि हुई है. व्यापारियों, उनके परिजन और ग्राहकों की सुरक्षा के लिए हमने यह फैसला किया है.’

बेगम बाजार और कुछ थोक बाजार में दुकानें पहले से कम समय के लिए खोली जा रही हैं.

तेलंगाना में कोरोना वायरस संक्रमण के 12,349 मामले सामने आ चुके हैं और 630 लोगों की मौत हो चुकी है. यहां संक्रमण के 7,346 सक्रिय मामले हैं, जबकि 4,766 लोग संक्रमण मुक्त हो चुके हैं.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)