भारत

उत्तर प्रदेश: बांदा और चित्रकूट में बच्चियों के साथ बलात्कार, दोनों आरोपी मामा गिरफ़्तार

उत्तर प्रदेश में बांदा ज़िले के तिंदवारी थाना क्षेत्र में एक घटना 27 जून की रात की है, जबकि चित्रकूट ज़िले के भरतकूप क्षेत्र में हुई दूसरी घटना 20 जून की है, इस मामले में 27 जून को केस दर्ज कराया गया.

(प्रतीकात्मक फोटो: रॉयटर्स)

(प्रतीकात्मक फोटो: रॉयटर्स)

बांदा/चित्रकूट: उत्तर प्रदेश के दो जिलों में मामाओं द्वारा बच्चियों से कथित बलात्कार के दो मामले सामने आए हैं.

बांदा जिले में तिंदवारी थाना क्षेत्र के एक गांव में 27 जून की रात नानी के साथ सो रही नौ साल की बच्ची को घर से जंगल ले जाकर उसके सगे मामा ने कथित रूप से बलात्कार किया है. पुलिस ने आरोपी मामा को गिरफ्तार कर लिया है.

तिंदवारी थाना के प्रभारी निरीक्षक राम दिनेश तिवारी ने सोमवार को बताया कि शनिवार की रात क्षेत्र के एक गांव में अपने ननिहाल में रहकर तीसरी कक्षा की पढ़ाई कर रही नौ साल की बच्ची रोजाना की तरह अपनी नानी के साथ सो रही थी. सोते समय उसका सगा मामा चंदू उसे उठाकर जंगल ले गया और वहां मुंह में कपड़ा ठूंसकर उसके साथ बलात्कार किया.

उन्होंने बताया कि घटना को अंजाम देने के बाद आरोपी बच्ची को बेहोशी की हालत में घर से करीब डेढ़ किलोमीटर दूर तिंदवारी-बबेरू मार्ग पर क्योटरा गांव के पास जंगल में छोड़कर फरार हो गया.

तिवारी ने बताया कि ग्रामीणों की सूचना पर रविवार को पहुंची पुलिस ने बच्ची को जंगल से बेहोशी की हालत में बरामद कर इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती करवाया है, जहां उसकी हालत नाजुक बनी हुई है.

एसएचओ ने बताया कि इस सिलसिले में बच्ची के पिता की तहरीर पर मुकदमा दर्जकर आरोपी मामा को गिरफ्तार कर लिया गया है. पुलिस पूछताछ में आरोपी ने बच्ची के साथ बलात्कार का अपराध स्वीकार किया है.

उधर, चित्रकूट जिले में भरतकूप थाना क्षेत्र के एक गांव में दस साल की बच्ची के साथ उसके मामा द्वारा कथित रूप से बलात्कार किए जाने का मामला सामने आया है. पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है.

भरतकूप थाने के प्रभारी निरीक्षक संजय उपाध्याय ने सोमवार को बताया कि दस साल की बच्ची के साथ उसके मामा द्वारा बलात्कार की घटना 20 जून की रात की है, लेकिन इसका मुकदमा 27 जून को दर्ज करवाया गया है.

दर्ज प्राथमिकी के आधार पर उपाध्याय ने बताया कि बच्ची अपनी मां के साथ एक शादी समारोह में शामिल होने ननिहाल आयी थी, जहां 20 जून की रात छत पर सोते समय उसके रिश्ते के मामा ने डरा-धमकाकर बच्ची के साथ बलात्कार किया है.

उन्होंने बताया कि डर की वजह से बच्ची ने उस वक्त घटना की जानकारी किसी को नहीं दी, लेकिन जब 24 जून को गांव पहुंचने पर उसकी तबियत खराब हुई, तब बच्ची ने पूरी घटना बताई और 27 जून को मुकदमा दर्ज करवाया गया.

एसएचओ ने बताया कि बलात्कार करने, जान से मारने की धमकी देने और पॉक्सो अधिनियम की संबंधित धाराओं में मुकदमा दर्ज करने के बाद रविवार को आरोपी युवक गोरेलाल को उसके गांव से गिरफ्तार कर लिया गया.

उन्होंने कहा कि बच्ची को चिकित्सीय जांच के लिए सरकारी अस्पताल भेजा गया है.