भारत

उत्तर प्रदेश: अस्पताल का बिल नहीं चुकाने पर कथित तौर पर मरीज़ की पीट-पीटकर हत्या

उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ की घटना. परिवार का आरोप है अस्पताल द्वारा मरीज़ से मिलने के नाम पर 4000 रुपये अतिरिक्त मांगा जा रहा था, जिसे लेकर विवाद शुरू हुआ है. पुलिस केस दर्ज कर मामले की जांच कर रही है.

(प्रतीकात्मक फोटो साभार: India Rail Info)

(प्रतीकात्मक फोटो साभार: India Rail Info)

नोएडाः उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ के एक निजी अस्पताल के कर्मचारियों ने कथित तौर पर बिल नहीं चुकाने पर एक मरीज की पीट-पीटकर हत्या कर दी.

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक, मृतक की पहचान अलीगढ़ जिले के इगलस गांव के रहने वाले सुल्तान खान (44) के रूप में हुई है.

पीड़ित के परिवार का आरोप है कि 4,000 रुपये का बिल नहीं चुकाने पर अस्पताल के कर्मचारियों ने उनसे मारपीट की, जिसके बाद सुल्तान की मौत हो गई.

पीड़ित परिवार का कहना है कि अस्पताल ने विजिट के नाम पर अतिरिक्त पैसे मांगे थे, जो नहीं चुकाने की स्थिति में हम लौट गए थे.

इंडियन एक्सप्रेस ने निजी अस्पताल के प्रबंधन से संपर्क किया था, लेकिन किसी ने कोई टिप्पणी नहीं की.

अलीगढ़ के एसपी अभिषेक का कहना है कि पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज बरामद की है, जिसमें अस्पताल के स्टाफ द्वारा की गई मारपीट साफ देखी जा सकती है.

अभिषेक ने कहा, ‘क्वारसी पुलिस थाने के एसएचओ ने एफआईआर दायर की है और वीडियो फुटेज और साक्ष्यों जांचने का कहा है. एक बार पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने पर स्पष्ट हो जाएगा कि मौत की असली वजह क्या थी. उसके अनुसार जांच होगी.’

एसपी ने कहा, ‘मृतक सुल्तान खान गुरुवार को इलाज कराने के लिए अस्पताल आए थे. परिवार की शिकायत के आधार पर इलाज की रकम को लेकर विवाद था, जिससे बाद मारपीट के दौरान मरीज की मौत हो गई.’

परिवार का आरोप है कि अस्पताल ने इलाज नहीं करने के बावजूद उनसे अधिक पैसे वसूले.

परिवार के एक सदस्य चमन ने कहा कि बीते कुछ दिनों से सुल्तान को पेशाब करने में दिक्कत हो रही थी इसलिए चेकअप के लिए उन्हें क्वारसी इलाके के निजी अस्पताल लाया गया था.

चमन ने कहा, ‘अस्पताल ने हमसे कहा कि अल्ट्रासाउंड कराने की जरूरत है. हमने एडमिशन फीस के बारे में पूछताछ की और उनसे कहा कि हम इलाज की रकम चुकाने में सक्षम नहीं है. इसके बाद अस्पताल ने बिना अल्ट्रासाउंड किए सिर्फ दवाइयों का 4,000 रुपये का बिल हमें थमा दिया.’

चमन ने कहा कि परिवार बिल के मुताबिक दवाइयों के 3,783 रुपये चुकाने को तैयार हो गया था, लेकिन अस्पताल ने विजिट के नाम पर 4,000 रुपये और मांगे.

चमन ने कहा कि परिवार ने अस्पताल अधिकारियों को बताया कि वे विजिट के नाम पर काउंटर पर 200 रुपये जमा कर चुके हैं और अब अतिरिक्त पैसा मांगा जा रहा है.

चमन ने कहा, ‘जैसे ही हम बाहर निकले, एक आदमी ने हमें रोक लिया. उस वक्त थोड़ी सी कहासुनी हुई लेकिन कुछ मीटर दूर जाने पर अस्पताल के चार से पांच लोग आए और हमसे मारपीट करने लगे. सुल्तान को इतनी बेरहमी से मारा गया कि उसकी मौत हो गई. हमें भी चोटें आईं.’

मालूम हो कि घटना की सीसीटीवी फुटेज में कुछ लोग स्कूटी पर सवार परिवार के सदस्यों को पीटते नजर आ रहे हैं. वीडियो में पीड़ित परिवार की कुछ महिलाएं हमले के दौरान भागती देखी जा सकती है.

परिवार का कहना है कि उन्हें स्कूटी पर ही घेर लिया गया और पीटा गया. पीड़ित के सैंपल को कोरोना वायरस टेस्ट के लिए भी भेजा गया है.