भारत

कोरोना वायरस फैलने के बाद से मुंबई में 15 लाख से अधिक लोग क्वारंटीन में रहे: बीएमसी

बीएमसी ने कहा है कि इनमें से 5.34 लाख लोगों की पहचान उच्च जोख़िम वाले संपर्क के रूप में की गई है. साथ ही यह भी बताया गया कि अब तक कुल 13.28 लाख लोग 14 दिन का क्वारंटीन पूरा कर चुके हैं.

New Delhi: A view of a newly created COVID-19 care facility with over 10,000 beds at Radha Soami Beas, in New Delhi, Friday, June 26, 2020. A team of over 1,000 doctors, nurses and paramedic staff of the ITBP and other paramilitary forces have been earmarked to work at the facility. (PTI Photo)(PTI26-06-2020 000211B)

(प्रतीकात्मक फोटो: पीटीआई)

मुंबई: कोविड-19 महामारी फैलने के बाद संक्रमितों के संपर्क में आने वाले लोगों की पहचान करते हुए अब तक मुंबई में 15 लाख से अधिक लोगों को क्वारंटीन में भेजा गया है. बृहन्मुंबई नगर निगम (बीएमसी) ने यह जानकारी दी.

बीएमसी ने कहा कि इनमें से 5.34 लाख लोगों की पहचान उच्च जोखिम वाले संपर्क के रूप में की गई है. साथ ही यह भी बताया गया कि अब तक कुल 13.28 लाख लोग 14 दिन का क्वारंटीन पूरा कर चुके हैं.

बीएमसी ने अपने वेबसाइट पर यह जानकारी दी है कि फिलहाल 2.46 लाख लोग अपने घरों में आइसोलेशन में हैं, जबकि 14,288 लोग संस्थागत क्वारंटीन में हैं.

बीएमसी के मुताबिक संस्थागत क्वारंटीन में रह रहे 14,288 लोगों में से 11,409 लोग 328 सीसीसी-1 (कोविड देखभाल केंद्र) में हैं जबकि 2,879 लोग 57 सीसीसी-2 में रखे गए हैं.

सीसीसी-1 की कुल मिलाकर बिस्तर क्षमता 50,000 है जबकि सीसीसी-2 की बिस्तर क्षमता 61,00 है.

सीसीसी-1 को मुख्यत: होटलों, समारोह स्थलों में स्थापित किया गया है, जहां 24 घंटे निगरानी की सुविधा नहीं है, जबकि सीसीसी-2 सरकारी केंद्र है, जहां 24 घंटे डॉक्टर और नर्स उपलब्ध रहते हैं.

बीएमसी ने शहर में एक या एक से अधिक संक्रमण के मामले पाए जाने के बाद 6,552 इमारतों, 750 चॉल और झुग्गी बस्तियों को संक्रमण से प्रभावित क्षेत्र घोषित कर दिया गया है.

इस महामारी से देश में महाराष्ट्र सबसे प्रभावित राज्य है. महाराष्ट्र में संक्रमण के सबसे अधिक 217,121 मामले सामने आए हैं और 9,250 लोगों की मौत हो चुकी है.

सोमवार तक मुंबई में कोविड-19 के 85,329 मामलों की पुष्टि हो चुकी थी जिनमें से 4,935 मरीजों की जान जा चुकी है.