भारत

जम्मू कश्मीर: भाजपा नेता, उनके पिता और भाई की गोली मारकर हत्या, 10 पुलिसकर्मी गिरफ़्तार

मामला उत्तर कश्मीर के बांदीपोरा का है. जम्मू कश्मीर पुलिस ने बताया कि भाजपा के 27 वर्षीय पूर्व ज़िलाध्यक्ष वसीम अहमद बारी और उनके परिवार की सुरक्षा में लगाए गए 10 पुलिसकर्मियों को उनकी सुरक्षा करने में नाकाम होने के कारण गिरफ़्तार कर लिया गया है.

भाजपा के पूर्व जिलाध्यक्ष शेख वसीम अहमद बारी. (फोटो: ट्विटर/DrJitendraSingh)

भाजपा के पूर्व जिलाध्यक्ष शेख वसीम अहमद बारी. (फोटो: ट्विटर/DrJitendraSingh)

श्रीनगर: उत्तर कश्मीर के बांदीपोरा में बुधवार रात को आतंकवादियों ने एक भाजपा नेता, उनके पिता और भाई की गोली मारकर हत्या कर दी, जिसके बाद जम्मू कश्मीर प्राधिकारियों ने नेता की सुरक्षा में कथित लापरवाही के मामले में 10 पुलिसकर्मियों को गिरफ्तार किया है.

जम्मू कश्मीर के पुलिस महानिदेशक दिलबाग सिंह ने बताया कि आतंकवादियों ने भाजपा के 27 वर्षीय पूर्व जिलाध्यक्ष वसीम अहमद बारी को उनकी दुकान के बाहर रात करीब नौ बजे उन्हें गोली मार दी, जिसमें उनकी मौत हो गई.

पुलिस ने बताया कि इस घटना में बारी के अलावा उनके भाई उमर और पिता बशीर अहमद की भी मौत हो गई.

पुलिस ने बताया कि आतंकियों ने साइलेंसर लगी रिवॉल्वर से गोली मारी. उन्होंने बताया कि जिस जगह इस वारदात को अंजाम दिया गया वो जगह मुख्य थाने से महज 10 मीटर दूर है.

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के अनुसार, जम्मू कश्मीर पुलिस ने बताया कि बारी और उनके परिवार की सुरक्षा में लगाए गए 10 पुलिसकर्मियों को उनकी सुरक्षा करने में नाकाम होने के कारण गिरफ्तार कर लिया गया है. पुलिस ने कहा कि हमले के दौरान सुरक्षाकर्मी मौजूद नहीं थे.

पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला और बांदीपोरा के पूर्व विधायक उस्मान मजीद ने इस घटना पर खेद व्यक्त किया.

भाजपा नेता सुरिंदर अम्बरदार ने इस घटना की कड़ी निंदा की. कांग्रेस और पीडीपी ने भी घटना की कड़ी आलोचना की है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा सहित पार्टी के शीर्ष नेताओं ने भी बारी एवं मारे गए परिवार के अन्य सदस्यों को श्रद्धांजलि दी तथा कहा कि उनके बलिदान व्यर्थ नहीं जाएंगे.

प्रधानमंत्री कार्यालय में राज्यमंत्री जितेंद्र सिंह के मुताबिक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उन्हें फोन कर वसीम बारी की हत्या के बारे में जानकरी ली और परिजनों के प्रति संवेदना व्यक्त की.

इससे पहले सिंह ने ट्वीट कर कहा, ‘हताशा और निराशा में आतंकवादी अब आसान निशाना ढूंढ रहे हैं. इस बर्बर हमले से मैं पूरी तरह हिल गया हूं.’

नड्डा ने ट्वीट कर कहा, ‘जम्मू एवं कश्मीर के बांदीपोरा में एक कायराना हमले में हमने शेख वसीम बारी, उनके पिता और भाई को गंवा दिया, यह पार्टी के लिए बहुत बड़ा नुकसान है.’

परिवारवालों के प्रति अपनी संवेदना व्यक्त करते हुए नड्डा ने कहा दुख की इस घड़ी में पूरी पार्टी उनके साथ खड़ी है.

उन्होंने कहा, ‘मैं आपको आश्वस्त करता हूं कि उनके बलिदान व्यर्थ नहीं जाएंगे.’

भाजपा महासचिव राम माधव ने कहा कि कश्मीर घाटी के कुछ हिस्सों में भारतीय, देशभक्त और भाजपा का कार्यकर्ता होना कभी आसान नहीं होता. कई लोगों को इसके लिए जीन की कीमत चुकानी पड़ती है.

उन्होंने कहा, ‘कश्मीर के आतंकवाद के इतिहास में देशभक्तों और राष्ट्रवादियों के बलिदान की ताजा गाथा में वसीम बारी, उनके भाई और पिता का नाम शुमार हो गया है.’

भाजपा के कश्मीर मामलों के प्रमुख रणनीतिकारों में शुमार माधव ने बारी और उनके परिवार के सदस्यों की हत्या के बारे में फेसबुक पोस्ट लिखा और उन्हें श्रद्धांजलि दी.

उन्होंने कहा कि इनकी हत्या दर्शाती है कि कश्मीर घाटी में किन परिस्थितियों में भाजपा के कार्यकर्ता काम करते हैं.

उन्होंने कहा, ‘जब हम कहते हैं कश्मीर हमारा है तो हमारा ये मतलब भी होता है कि सभी कश्मीरी भी हमारे हैं. कुछ गुमराह हो गए हैं. हम उन्हें गुमराह होने से बचाएंगे. कुछ पर सरकार और सुरक्षा बलों को ध्यान देने की आवश्यकता है. ये हम उन पर छोड़ देते हैं, लेकिन बहुत हमारे और आपके जैसे हैं, उन्हें गले लगाते हैं.’

उन्होंने भाजपा के ‘फीड द नीडी’ कार्यक्रम के तहत लॉकडाउन के दौरान खाना बांटते वसीम बारी का एक वीडियो भी साझा किया.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)