भारत

बिहार: वाहन ओवरटेक करने पर एंबुलेस​कर्मियों से पुलिस द्वारा मारपीट के विरोध में हड़ताल

मामला बिहार के समस्तीपुर ज़िले का है. एंबुलेंसकर्मियों का कहना है कि हसनपुर प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र की एंबुलेंस ने बीते नौ जुलाई को मरीज़ ले जाते समय पुलिस की गाड़ी को ओवरटेक कर दिया था तो पुलिसकर्मियों ने एंबुलेंस रोककर उनके साथ मारपीट की थी.

(फोटो: एएनआई)

(फोटो: एएनआई)

समस्तीपुर: पुलिस द्वारा मारपीट और गाली गलौज को लेकर बिहार के समस्तीपुर जिले भर के एंबुलेंस कर्मचारी आरोपी पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग करते हुए बीते रविवार से अनिश्चितकालीन हड़ताल पर चले गए हैं.

दैनिक भास्कर के मुताबिक कर्मचारियों का कहना है कि बीते नौ जुलाई को जिले के हसनपुर पीएचसी के 102 नंबर एंबुलेंस के कर्मचारी जब एक मरीज को लाने के लिए जा रहे थे तो रास्ते में पुलिस वाहन को ओवरटेक करने पर हसनपुर थाने के पुलिसकर्मियों का वाहन रोक कर उनके साथ मारपीट व गाल-गलौज की थी.

प्रदर्शनकारियों का आरोप है कि इस मामले में शिकायत के बावजूद भी प्रशासन द्वारा कोई कार्रवाई नहीं की गई है. उसके बाद 102 नंबर एंबुलेंसकर्मियों ने अपने-अपने वाहनों को लगाकर सदर अस्पताल में धरने पर बैठ गए.

एंबुलेंस कर्मचारी संघ के अध्यक्ष धर्मेंद्र कुमार ने कहा कि हसनपुर थाने के पेट्रोलिंग इंचार्ज व अन्य पुलिसकर्मियों पर कार्रवाई नहीं की गई तो जिले के सभी कर्मचारी हड़ताल पर चले जाएंगे.

दैनिक जागरण के मुताबिक पुलिस द्वारा एंबुलेंसकर्मी सुबोध कुमार के साथ मारपीट की गई.

धर्मेंद्र कुमार ने कहा, ‘हसनपुर में नौ जुलाई की रात्रि में ड्यूटी के दौरान एंबुलेंसकर्मी के साथ गाली-गलौज करते हुए मारपीट की घटना अशोभनीय है. इसमें दोषी पुलिसकर्मियों पर उचित कार्रवाई करने की मांग की गई है. साथ ही सदर अस्पताल के भी एंबुलेंसकर्मियों पर दर्ज झूठे मुकदमे को वापस लेने की मांग की गई है.’

उन्होंने कहा कि जब तक सभी मामलों पर कार्रवाई नहीं होती है सभी बाध्य होकर अनिश्चितकालीन हड़ताल पर रहेंगे.