भारत

केंद्रीय सुरक्षा बलों में कोरोना संक्रमितों की संख्या 7000 के पार, अब तक 36 कर्मचारियों की मौत

केंद्रीय सुरक्षा बलों में बीते बुधवार तक सामने आए कोविड-19 के 242 नए मामलों में सीआरपीएफ से सबसे ज़्यादा 77 मामले सामने आए. उसके बाद बीएसएफ से 68, आईटीबीपी से 43, सीआईएसएफ से 41 और एसएसबी से 13 मरीज़ मिले हैं.

प्रतीकात्मक फोटो: पीटीआई

प्रतीकात्मक फोटो: पीटीआई

नई दिल्ली: केंद्रीय गृह मंत्रालय के तहत आने वाले केंद्रीय पुलिस बलों में कोरोना वायरस संक्रमण की संख्या बुधवार को 242 नए मामलों के सामने आने के बाद 7000 के पार पहुंच गए.

ये मामले केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ), सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ), केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (सीआईएसएफ), भारत-तिब्बत सीमा पुलिस (आईटीबीपी), सशस्त्र सीमा बल (एसएसबी), नेशनल सिक्योरिटी गार्ड (एनएसजी) और राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ) में सामने आए हैं.

नवीनतम आंकड़ों के मुताबिक, इन बलों में अब तक कोविड-19 के 7,059 मरीज सामने आ चुके हैं, जिनमें से 3,233 का इलाज चल रहा है, जबकि अन्य मरीज इलाज के बाद ठीक हो चुके हैं.

आंकड़ों के मुताबिक, सबसे अधिक 2,229 मामले देश के सबसे बड़े अर्द्धसैनिक बल (सीआरपीएफ) में सामने आए. इस बल में करीब 3.25 लाख कर्मचारी हैं.

इसके बाद बीएसएफ में 2,093 और सीआईएसएफ में संक्रमण के 1,306 मामले मिले हैं.

करीब ढाई लाख कर्मचारियों वाले बीएसएफ के पास पाकिस्तान और बांग्लादेश से लगी सीमाओं की सुरक्षा की जिम्मेदारी है जबकि सीआईएसएफ हवाईअड्डों, प्रमुख औद्योगिक और दूसरे संस्थानों की सुरक्षा की जिम्मेदारी निभाता है.

आईटीबीपी में कोरोना वायरस संक्रमण के 732 मामले सामने आए जबकि एसएसबी में 300, एनडीआरएफ में 313 और एनएसजी में 86 कोविड-19 के मरीज मिले.

आईटीबीपी 3488 किलोमीटर लंबी भारत-चीन वास्तविक नियंत्रण रेखा की निगरानी करता है, जबकि एसएसबी के पास भारत से लगने वाली नेपाल और भूटान की खुली सीमा की सुरक्षा की जिम्मेदारी है.

आंकड़ों के मुताबिक, बुधवार को सामने आए कोविड-19 के 242 नए मामलों में सीआरपीएफ से सबसे ज्यादा 77 मामले सामने आए. उसके बाद बीएसएफ से 68, आईटीबीपी से 43, सीआईएसएफ से 41 और एसएसबी से 13 मरीज मिले हैं.

आंकड़ों में बताया गया कि बलों के 691 कर्मचारियों के नमूने लिए गए हैं और इनके नतीजों का इंतजार है.

केंद्रीय सुरक्षा बलों में अब तक इस महामारी से 36 कर्मचारियों की जान भी जा चुकी है.