भारत

कर्नाटक: बढ़ते कोविड मामलों के बीच बोले स्वास्थ्य मंत्री, कोरोना से सिर्फ भगवान ही बचा सकते हैं

कोरोना पर कर्नाटक के स्वास्थ्य मंत्री बी. श्रीरामुलु के बयान के बाद कांग्रेस ने कहा कि उनका बयान दिखाता है कि येदियुरप्पा सरकार कोविड संकट से लड़ने में नाकाम रही है. बाद में स्वास्थ्य मंत्री ने सफाई देते हुए कहा कि मीडिया के एक वर्ग ने उनके बयान को ग़लत तरीके से पेश किया.

कर्नाटक स्वास्थ्य मंत्री बी. श्रीरामुलु (फोटो साभार: @sriramulubjp)

कर्नाटक स्वास्थ्य मंत्री बी. श्रीरामुलु (फोटो साभार: ट्विटर/@sriramulubjp)

बेंगलुरु: कर्नाटक में कोविड-19 के मामलों में लगातार हो रही वृद्धि के बीच राज्य के स्वास्थ्य मंत्री बी. श्रीरामुलु ने कहा है कि राज्य को केवल भगवान ही बचा सकते हैं.

साथ ही उन्होंने कहा कि महामारी को फैलने से रोकने के लिए जनता का सहयोग आवश्यक है.

राज्य सरकार के कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने में विफल रहने के कांग्रेस के आरोपों के बाद चित्रदुर्ग में बुधवार को मंत्री ने यह बयान दिया.

हालांकि बाद में अपने बयान पर स्पष्टीकरण देते हुए मंत्री ने कहा कि मीडिया के एक वर्ग ने उनके बयान को गलत तरीके से पेश किया.

श्रीरामुलु ने बुधवार को संवाददाताओं से कहा, ‘बताइये इसे (महामारी को नियंत्रित करने का) किसका काम है. केवल भगवान ही हमें बचा सकते हैं. लोगों के बीच जागरूकता पैदा करना ही एकमात्र उपाय है. ऐसी स्थिति में कांग्रेस के नेता राजनीति के सबसे निचले स्तर पर पहुंच चुके हैं. यह किसी के लिए ठीक नहीं है.’

एनडीटीवी के मुताबिक, श्रीरामुलु ने कहा, ‘दुनिया भर में कोरोना वायरस के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं. हम सबको सावधान रहना चाहिए. चाहे आप सत्ता में हो या विपक्ष में, अमीर हों या गरीब. वायरस किसी में भेद नहीं करता है.’

स्वास्थ्य मंत्री ने कहा, ‘मुझे 100 फीसदी विश्वास है कि अगले दो महीनों में केस बढ़ेंगे ही. लोग शिकायत कर सकते हैं कि यह सब सरकार की लापरवाही की वजह से हो रहा है या फिर मंत्रियों के बीच असहयोग इसकी वजह है लेकिन यह सब सच्चाई से बहुत दूर है. अब बस भगवान ही हमें कोरोना से बचा सकते हैं.’

स्वास्थ्य मंत्री श्रीरामुलु ने यह भी कहा कि सरकार एक कठिन परिस्थिति में भी अच्छा प्रदर्शन कर रही है.

उनके इस बयान के बाद विपक्ष सरकार पर निशाना साधने लगी और कोविड-19 से निपटने के सरकार के कदमों पर सवाल उठाने लगी.

कांग्रेस नेता डीके शिवकुमार ने ट्वीट कहा, ‘कर्नाटक के स्वास्थ्य मंत्री का कहना है कि ‘अब बस भगवान ही कर्नाटक को बचा सकते हैं’. उनका यह बयान दिखाता है कि येदियुरप्पा सरकार कोविड संकट से लड़ने में नाकाम रही है. हमें ऐसी सरकार की जरूरत क्या है, जो महामारी नहीं संभाल पा रही है? इस सरकार के निकम्मेपन ने जनता को भगवान भरोसे छोड़ दिया है.’

बयान पर बवाल मचने के बाद मंत्री ने कहा कि मीडिया के एक वर्ग ने उनके बयान को गलत तरीके से पेश किया.

श्रीरामुलु ने स्पष्टीकरण देते हुए कहा कि उनका मतलब यह था कि जब तक कोविड-19 का टीका जब तक नहीं बन जाता, तब तक भगवान ही हमारी रक्षा कर सकते हैं.

उन्होंने बुधवार देर रात को एक वीडियो जारी कर कहा, ‘मैंने कहा था कि लोगों के सहयोग के अलावा भगवान को भी हमारी रक्षा करनी चाहिए लेकिन मीडिया के एक वर्ग ने इसका यह अर्थ निकाला कि श्रीरामुलु कोरोना वायरस फैलने को लेकर असहाय हो चुके हैं.’

उन्होंने कहा, ‘यह कहने के पीछे मेरा मंतव्य था कि जब तक टीका नहीं आ जाता, भगवान ही हमें बचा सकते हैं. इसे गलत तरीके से पेश नहीं किया जाना चाहिए.’

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)