भारत

‘अकेला सलीम 53 श्रद्धालुओं को बचा ले गया, लेकिन पूरी ट्रेन एक जुनैद को न बचा सकी’

मोदी की कश्मीर-नीति पर बरसी कांग्रेस, राहुल गांधी बोले- मोदी की नीतियों के कारण आतंकियों को कश्मीर में मौका मिला, सिंघवी ने कहा- मोदी राष्ट्रीय सुरक्षा को खतरे में डालने की जिम्मेदारी लें.

rahul diggi (1)

कश्मीर में अमरनाथ यात्रियों पर हमले के बाद विपक्षी पार्टी कांग्रेस ने सीधा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर हमला बोलते हुए उनकी कश्मीर-नीति पर सवाल उठाया है. राहुल गांधी ने कहा, प्रधानमंत्री की नीतियों के कारण कश्मीर में आतंकवादियों को मौका मिला है. इसके साथ ही पार्टी ने सवाल किया कि क्या मोदी को राष्ट्रीय सुरक्षा को खतरे में डालने की जिम्मेदारी नहीं लेनी चाहिए?

दूसरी तरफ कांग्रेस के महासचिव दिग्विजय सिंह ने भीड़ की हिंसा पर तंज करते हुए ट्वीट किया, ‘अकेला सलीम 53 श्रद्धालुओं को बचा ले गया, लेकिन पूरी ट्रेन एक जुनैद को न बचा सकी’. उनके इस ट्वीट पर काफी लोगों ने उन्हें भला बुरा कहते हुए कोसा भी.

दिग्विजय ने यात्रा से संबंधित कुछ अन्य ट्वीट में लिखा, ‘मोदी भक्तों से यही प्रार्थना है कृपा करके हर मुसलमान को देशद्रोही साबित करना बंद करें. देश हिंदू मुसलमान सिक्ख ईसाई और सभी धर्मों का है…लाखों हिंदू तीर्थ यात्रियों को यात्रा कराने में हज़ारों मुसलमान सहयोग करते हैं, उन्हें रोज़गार भी मिलता है.’

एक अन्य ट्वीट ने दिग्विजय ने लिखा, ‘अमरनाथ यात्रा हिंदू मुस्लिम एकता का प्रतीक है. बूटा मलिक मुस्लिम गुर्जर ने अमरनाथ जी के शिव लिंग की खोज की थी.’

मोदी पर बरसे राहुल

कश्मीर-नीति को लेकर कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर सीधे हमला बोलते हुए बुधवार को कहा कि उनकी नीतियों के कारण कश्मीर में आतंकवादियों को मौका मिला है. इसके साथ ही उनकी पार्टी ने सवाल किया कि क्या मोदी को राष्ट्रीय सुरक्षा को खतरे में डालने की जिम्मेदारी नहीं लेनी चाहिए?

अमरनाथ यात्रियों पर आतंकवादियों द्वारा जम्मू कश्मीर में किए गए हमले के दो दिन बाद कश्मीर मुद्दे पर कांग्रेस उपाध्यक्ष ने कई ट्वीट कर मोदी सरकार को घेरा. राहुल ने ट्वीट करके कहा, मोदी की नीतियों के कारण कश्मीर में आतंकवादियों को मौका मिला. भारत के लिए करारा रणनीतिक झटका.

मोदी के निजी लाभ के कारण भारत को नुकसान

राहुल ने जम्मू कश्मीर के सुरक्षा हालात के लिए राज्य की पीडीपी-भाजपा गठबंधन सरकार को भी परोक्ष रूप से निशाने पर लिया. उन्होंने कहा कि मोदी ने तात्कालिक लाभ लेने के लिए पीडीपी से गठबंधन किया जिसके कारण भारत को नुकसान उठाना पड़ा है.

उन्होंने कहा, पीडीपी गठबंधन से मोदी को मिले तात्कालिक लाभ के कारण भारत को बड़ा नुकसान उठाना पड़ा है. राहुल ने प्रधानमंत्री पर यह भी आरोप लगाया कि उनके निजी लाभ के कारण भारत को सामरिक नुकसान उठाना पड़ रहा है और निर्दोष भारतीय लोगों का बलिदान हो रहा है.

उन्होंने कहा, मोदी का निजी लाभ भारत का सामरिक नुकसान, निर्दोष भारतीय रक्त का बलिदान.

महत्वपूर्ण मुद्दों पर मौन धारण क्यों

कांग्रेस के प्रवक्ता अभिषेक सिंघवी ने अमरनाथ तीर्थयात्रियों पर हुए हमले का उल्लेख करते हुए पूछा, क्या प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को हमारी राष्ट्रीय सुरक्षा को खतरे में डालने की जिम्मेदारी नहीं लेनी चाहिए?

उन्होंने अमरनाथ यात्रियों पर हमला होने के बारे में 27 जून को खुफिया सूचनाओं में सतर्क रहने की जरूरत बताए जाने की बात की ओर ध्यान दिलाते हुए कहा कि अमरनाथ हमले को हुए करीब 36 घंटे बीत चुके हैं किन्तु न तो प्रधानमंत्री और न ही गृह मंत्री ने सामने आकर भारी सुरक्षा विफलता की बात को स्वीकार किया है, न ही देश को निर्णायक कदम उठाने का आश्वासन दिया है.

सिंघवी ने ध्यान दिलाया कि अमरनाथ यात्रा की सुरक्षा को लेकर मोदी सरकार और भाजपा के विभिन्न मंत्री अलग-अलग एवं परस्पर विरोधाभासी सुरों में बोल रहे हैं. उन्होंने कहा कि 56 इंच और लाल आंख दिखाने की बात करने वाले हमारे कुशल वक्ता प्रधानमंत्री अमरनाथ यात्रियों पर हमला सहित हर महत्वपूर्ण मुद्दे पर मौन क्यों धारण कर लेते हैं.

मोदी पर राहुल के ट्वीट का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि इसमें मूल बात यही है कि भाजपा पार्टी और उनकी सरकार का एकमात्र एजेंडा है कि मोदी को सर्वोपरि रखते हुए उनकी छवि को चमकाया जाए. इस रुख के कारण न केवल देश की आर्थिक नीति को क्षति पहुंच रही है बल्कि राष्ट्रीय सुरक्षा के साथ भी समझौता किया जा रहा है.