राजनीति

कर्नाटक: पूर्व मुख्यमंत्री सिद्धारमैया भी कोरोना संक्रमित, अस्पताल में भर्ती

कर्नाटक के मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा भी कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए हैं. उधर, बिहार में भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी के सचिव और दो बार विधायक रह चुके सत्यनारायण सिंह का निधन कोरोना वायरस के कारण हो गया है.

कर्नाटक के मुख्यमंत्री सिद्धारमैया. (फोटो साभार: विकिपीडिया)

कर्नाटक के मुख्यमंत्री सिद्धारमैया. (फोटो साभार: विकिपीडिया)

बेंगलुरुः कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एस. सिद्धारमैया कोरोना संक्रमित पाए गए हैं. उन्होंने मंगलवार को ट्वीट कर इसकी जानकारी दी.

उन्हें बेंगलुरु के मणिपाल अस्पताल में भर्ती कराया गया है

उन्होंने ट्वीट कर बताया, ‘मैं कोरोना पॉजिटिव पाया गया हूं और डॉक्टरों की सलाह पर अस्पताल में भर्ती हूं. मैं अपने संपर्क में आए सभी लोगों से आग्रह करता हूं कि वह कोरोना लक्षणों को लेकर सावधान रहें और खुद को क्वारंटीन कर लें.’

सिद्धारमैया को बेंगलुरु के मणिपाल अस्पताल में भर्ती कराया गया है. इसी अस्पताल में येदियुरप्पा भी भर्ती हैं.

मणिपाल अस्पताल ने इसकी पुष्टि कर बयान जारी कर कहा, ‘कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री और विपक्ष के नेता सिद्धारमैया इलाज के लिए मणिपाल अस्पताल में भर्ती हैं. उन्हें बुखार था और उनका एंटीजन टेस्ट पॉजिटिव आया था. फिलहाल वह ठीक हैं और उनकी हालत स्थिर है.’

कर्नाटक में कोरोना वायरस से संक्रमित होने वाले सिद्धारमैया दूसरे बड़े नेता हैं. इससे पहले राज्य के मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा भी इस वायरस की चपेट में आ चुके हैं.

येदियुरप्पा ने कन्नड़ में एक ट्वीट कर सिद्धारमैया को टैग करते हुए उनके जल्दी ठीक होने की कामना की है.

उन्होंने ट्वीट कर कहा, ‘पूर्व मुख्यमंत्री और विपक्ष के नेता सिद्धारमैया के कोरोना संक्रमण की खबर सुनकर हैरान हूं. मेरी कामना है कि वह जल्दी इससे ठीक हो जाएं और लोगों की सेवा में फिर से जुटें.’

येदियुरप्पा की बेटी और उनके ऑफिस में काम करने वाले छह कर्मचारी भी कोरोना संक्रमित हैं.

बिहार: कोरोना संक्रमित सीपीआई नेता सत्यनारायण सिंह का निधन

इधर, बिहार में भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (सीपीआई) के सचिव सत्यनारायण सिंह का रविवार रात निधन हो गया. वह कोरोना संक्रमित थे.

उनका पटना के एम्स में इलाज चल रहा था. एक हफ्ते पहले ही उनकी कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी. इसके बाद उन्हें इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया था.

द हिंदू की रिपोर्ट के मुताबिक, उनके निधन पर शोक जताते हुए पार्टी महासचिव डी. राजा ने कहा, ‘यह सामान्य तौर पर वामपंथी आंदोलन के लिए और विशेष रूप से सीपीआई के लिए बहुत बड़ा नुकसान है, वह भी ऐसे समय में जब राज्य विधानसभा चुनाव की तरफ बढ़ रहा है.’

बिहार के खगड़िया के देवका कैथी गांव में 1942 में जन्मे सिंह दो बार विधायक रह चुके हैं.

वह शुरुआत में जगजीवन राम कॉलेज में प्रोफेसर थे, जहां से इस्तीफा देकर वह सीपीआई में शामिल हो गए थे.

बिहार में पार्टी के सचिव के तौर पर उनका दूसरा कार्यकाल समाप्त होने में कुछ ही महीने बचे थे.

बता दें कि इससे पहले केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह, मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और तमिलनाडु के राज्यपाल बनवारीलाल पुरोहित, कांग्रेस सांसद कार्ति चिदंबरम, भाजपा की उत्तर प्रदेश इकाई के अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह और उत्तर प्रदेश सरकार के जलशक्ति मंत्री महेंद्र सिंह भी कोरोना संक्रमित पाए गए हैं.

वहीं, उत्तर प्रदेश की कैबिनेट मंत्री कमल रानी का कोरोना संक्रमण की वजह से निधन हो गया था.