भारत

केरल के कोझिकोड में रनवे पर फिसला विमान, दो पायलटों समेत 18 लोगों की मौत

वंदे भारत मिशन के तहत दुबई से 190 लोगों को लेकर एयर इंडिया एक्सप्रेस का विमान केरल के कोझिकोड आ रहा था, जब बारिश के बीच लैंडिंग के दौरान हवाईपट्टी पर फिसलने के बाद खाई में जा गिरा.

Kozhikode: Rescue operation underway after an Air India Express flight with passengers on board en route from Dubai skidded off the runway while landing, at Karippur in Kozhikode, Friday, Aug. 7, 2020. (PTI Photo)(PTI07-08-2020 000252B)

दुबई से आ रहा एयर इंडिया एक्सप्रेस का एक विमान शुक्रवार को कोझिकोड में भारी बारिश के बीच लैंडिंग के दौरान हवाईपट्टी पर फिसलने के बाद दुर्घटनाग्रस्त हो गया. (फोटो: पीटीआई)

कोझिकोड/नई दिल्ली: दुबई से 190 लोगों के साथ आ रहे एयर इंडिया एक्सप्रेस का एक विमान शुक्रवार को कोझिकोड में भारी बारिश के बीच लैंडिंग के दौरान हवाईपट्टी पर फिसलने के बाद खाई में जा गिरा. अधिकारियों ने बताया कि खाई में गिरने के बाद विमान दो हिस्सों में टूट गया और उसमें सवार कम से कम 18 लोगों की मौत हो गई.

पुलिस और एयरलाइंस के अधिकारियों ने कहा कि मृतकों में मुख्य पायलट कैप्टन दीपक साठे और उनके सह-पायलट अखिलेश कुमार भी शामिल हैं. साठे भारतीय वायुसेना में पहले विंग कमांडर रह चुके थे.

एयर इंडिया एक्सप्रेस ने आधी रात को जारी बयान में कहा, ‘दुर्भाग्य से पायलटों की मौत हो गई है और दुख की इस घड़ी में हम उनके परिजनों के संपर्क में हैं.’

नागर विमानन मंत्रालय ने कहा कि बी737 द्वारा दुबई से संचालित उड़ान संख्या आईएक्स1344 शुक्रवार को कोझिकोड में शाम सात बजकर 41 मिनट पर रनवे पर फिसल गई. लैंडिंग के समय आग लगने की कोई खबर नहीं है.

मंत्रालय ने कहा, ‘विमान में 10 नवजात समेत 184 यात्री, दो पायलट और चालक दल के चार सदस्य थे.’

यह वंदे भारत मिशन के तहत भारतीयों को वापस घर लाने के लिए उड़ान थी.

समाचार एजेंसी एएनआई से बातचीत में केंद्रीय नागर विमानन मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने कहा, ‘वंदे भारत मिशन के तहत दुबई से एयर इंडिया एक्सप्रेस का विमान 190 यात्रियों को लेकर कोझिकोड आ रहा था. विमान हादसे दो पायलटों समेत 18 लोगों की मौत हो गई. 127 लोगों अस्पताल में भर्ती है, बाकि को इलाज के बाद छुट्टी दे दी गई.’

मलाप्पुरम के जिलाधिकारी के गोपालकृष्णन ने संवाददाताओं से बातचीत में 18 लोगों की मौत की पुष्टि की. उनकी पहचान अभी स्थापित नहीं हो पाई है. उन्होंने कहा कि कुछ घायलों की हालत गंभीर है.

बचाए गए एक यात्री रियास ने कहा कि लैंडिंग से पहले विमान ने दो बार हवा में हवाईअड्डे का चक्कर लगाया.

उन्होंने एक टीवी चैनल को बताया, ‘मैं पीछे की सीट पर था. एक तेज आवाज हुई और मुझे नहीं पता उसके बाद क्या हुआ.’

एक अन्य यात्री फातिमा ने कहा कि विमान काफी ताकत से नीचे उतरा और आगे बढ़ा.

डीजीसीए के बयान में कहा गया कि हवाईपट्टी-10 पर उतरने के बाद विमान रुका नहीं और हवाईपट्टी के अंत तक पहुंचकर खाई में गिरने के बाद दो हिस्सों में टूट गया.

एयर इंडिया एक्सप्रेस के बेड़े में सिर्फ बी737 विमान हैं.

दुर्घटनास्थल की टीवी पर दिखाई जा रहीं तस्वीरों में विमान दो हिस्सों में टूटा दिख रहा है और आसपास काफी मलबा और सामान बिखरा था.

कोझिकोड, शारजाह और दुबई में सहायता केंद्र बनाए जा रहे हैं.

नागर विमानन मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने ट्वीट कर कहा कि वह विमान हादसे से बहुत दुखी और व्यथित हैं. उन्होंने बताया कि एयर इंडिया और भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण (एएआई) के राहत दलों को दिल्ली और मुंबई से तत्काल रवाना किया जा रहा है.

उन्होंने ट्वीट किया, ‘यात्रियों की मदद के लिए हरसंभव प्रयास किए जा रहे हैं. विमान दुर्घटना जांच ब्यूरो (एएआईबी) हादसे की औपचारिक जांच करेगा.’

उन्होंने कहा, ‘एयर इंडिया एक्सप्रेस की उड़ान संख्या एएक्सबी-1344 दुबई से कोझिकोड आ रही थी. विमान बारिश के कारण रनवे से फिसल गया और 35 फुट गहराई में गिरकर दो हिस्सों में टूट गया.’

एक अन्य ट्वीट में उन्होंने कहा, ‘फ्लाइट मेनिफेस्ट के अनुसार फ्लाइट एएक्सबी-1344 में 190 लोग सवार थे, जिनमें 174 लोग, 10 नवजात, चार केबिन क्रू और दो पायलट शामिल थे. दुर्भाग्य से 16 लोगों की मौत हो गई. मैं दिल से अपनी शोक संवेदनाएं पीड़ित परिवारों के प्रति प्रकट करता हूं और घायलों के तेजी से ठीक होने की कामना करता हूं.’

रात 12 बजकर एक मिनट पर किए गए एक अन्य ट्वीट में उन्होंने कहा कि बचाव अभियान पूरा हो गया है.

उन्होंने कहा, ‘देर रात दो बजे और सुबह पांच बजे एयर इंडिया, विमानपत्तन प्राधिकरण और एएआईबी के दो जांच दल रवाना होंगे. विमान से सभी को निकाला जा चुका है. बचाव कार्य अब पूरा हो चुका है. घायलों का विभिन्न अस्पतालों में इलाज चल रहा है.’

बारिश के बीच स्थानीय नागरिकों और पुलिस सहित बचावकर्मियों ने विमान से घायल पुरुष और महिलाओं को बाहर निकालने में फुर्ती दिखाई. विमान तेज आवाज के साथ दो बड़े टुकड़ों में टूटा था और यात्रियों को समझ ही नहीं आया कि पल भर में क्या हो गया.

इलाके में चीख पुकार मच गई.

बचावकर्मियों ने लोगों को बाहर निकाला. इस दौरान चार से पांच साल के छोटे बच्चे बचावकर्मियों की गोद में चिपके दिखाई दिए और यात्रियों का सारा सामान यहां वहां बिखरा था.

तेज आवाज सुन कर स्थानीय लोग भी मदद के लिए दौड़ पड़े.

एक स्थानीय व्यक्ति ने कहा कि तेज आवाज सुनकर वह हवाईअड्डे की ओर भागे.

उन्होंने कहा, ‘छोटे बच्चे सीटों के नीचे फंसे हुए थे और यह बेहद दुखद था. बहुत से लोग घायल थे. उनमें से कई की हालत गंभीर थी.’

उन्होंने कहा, ‘कुछ लोगों के पैर टूटे हुए थे… मेरे हाथ और कमीज घायलों के खून से सनी हुई थी.’

बचाव अभियान में शामिल एक अन्य व्यक्ति ने टीवी चैनल को दिए साक्षात्कार में कहा, ‘घायल पायलट को विमान से कॉकपिट तोड़कर निकाला गया.’

उन्होंने का कि जब तक एंबुलेंस मौके पर पहुंचती लोगों ने यात्रियों को कारों से कोझिकोड और मलाप्पुरम जिले के विभिन्न अस्पतालों में पहुंचाना शुरू कर दिया था.

राष्ट्रपति, उपराष्ट्रपति, प्रधानमंत्री ने दुख जताया

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, उप-राष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडू, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, केंद्रीय मंत्रियों तथा अन्य नेताओं ने शुक्रवार शाम को कोझिकोड में एयर इंडिया एक्सप्रेस के एक विमान के दुर्घटनाग्रस्त होने पर दुख प्रकट किया.

राष्ट्रपति कोविंद ने कहा कि कोझिकोड में एयर इंडिया एक्सप्रेस के विमान हादसे के बारे में सुनकर बेहद व्यथित हूं. उन्होंने कहा, ‘प्रभावित यात्रियों, चालक दल के सदस्यों और उनके परिजनों के साथ हमारी प्रार्थनाएं हैं.’

राष्ट्रपति ने कहा कि उन्होंने केरल के राज्यपाल आरिफ मोहम्मद खान से बात करके हालात की जानकारी ली है.

उप राष्ट्रपति के सचिवालय ने नायडू के हवाले से कहा, ‘कोझिकोड हवाईअड्डे पर भयावह विमान हादसे में लोगों की जान जाने पर बहुत दुखी हूं.’

उन्होंने कहा, ‘हादसे में अपने प्रियजनों को गंवाने वाले परिवारों के प्रति मेरी संवेदनाएं हैं और घायलों के जल्द स्वस्थ होने की प्रार्थना करता हूं.’

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने विमान हादसे पर शोक जताते हुए कहा कि प्रशासन मौके पर है और सभी प्रभावितों को हरसंभव सहायता मुहैया करा रहा है.

उन्होंने इस संबंध में केरल के मुख्यमंत्री पिनराई विजयन से भी बात की.

प्रधानमंत्री ने ट्वीट किया, ‘कोझिकोड में हुए विमान हादसे से शोकाकुल हूं. मेरी संवेदनाएं अपने प्रियजनों को खोने वालों के साथ हैं. घायलों को शीघ्र स्वास्थ्य लाभ मिले.’

मोदी ने लिखा है कि प्रशासन मौके पर है और सभी प्रभावितों को हर प्रकार की सहायता मुहैया करा रहा है.

गृह मंत्री अमित शाह ने कहा, ‘केरल के कोझिकोड में एयर इंडिया एक्सप्रेस विमान के दुर्घटनाग्रस्त होने से दुखी हूं. बचाव कार्य के लिए एनडीआरएफ की टीम को घटनास्थल पर जल्द से जल्द पहुंचने का निर्देश दिया है.’

विदेश मंत्री एस. जयशंकर ने ट्वीट किया, ‘कोझिकोड में हुए विमान हादसे के बारे में सुनकर व्यथित हूं. मेरी प्रार्थनाएं शोकाकुल परिवारों और घायलों के साथ हैं. हम आगे के विवरण का पता लगा रहे हैं.’

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने घटना पर दुख जताते हुए कहा, ‘दुख की इस घड़ी में मेरी संवेदनाएं शोक-संतप्त परिवार के साथ हैं. मैं घायलों के जल्द स्वस्थ होने की कामना करता हूं.’

विदेश मंत्रालय ने कहा कि वह कोझिकोड विमान हादसे से बहुत दुखी है और पीड़ितों की सहायता के लिए उसकी 24 घंटे की हेल्पलाइन खुली हुई है.

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अनुराग श्रीवास्तव ने ट्वीट किया, ‘हम कोझिकोड में एअर इंडिया एक्सप्रेस की उड़ान संख्या आईएक्स 1344 के दुर्घटनाग्रस्त होने से बहुत दु:खी हैं.’

उन्होंने कहा, ‘विदेश मंत्रालय की हेल्पलाइन 24 घंटे चालू हैं. इनमें 1800 118 797, +91 11 23012113, +91 11 23014104, +91 11 23017905, फैक्स: +91 11 23018158 हैं.’

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी, महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा और पार्टी के कई अन्य वरिष्ठ नेताओं ने विमान हादसे पर दुख जताया और घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना की.

राहुल गांधी ने ट्वीट किया, ‘कोझिकोड में विमान दुर्घटना की दुखद खबर सुनकर स्तब्ध हूं. इस हादसे में मारे गए लोगों के मित्रों एवं परिवारों के प्रति संवेदना प्रकट करता हूं. घायलों के जल्द स्वस्थ होने की कामना करता हूं.’

राहुल गांधी ने ट्वीट किया, ‘कोझिकोड में विमान दुर्घटना की दुखद खबर सुनकर स्तब्ध हूं. इस हादसे में मारे गए लोगों के मित्रों एवं परिवारों के प्रति संवेदना प्रकट करता हूं. घायलों के जल्द स्वस्थ होने की कामना करता हूं.’

प्रियंका ने कहा, ‘इस विमान के चालक दल के सदस्यों और यात्रियों तथा उनके परिवारों के प्रति मेरी संवेदना है. इस दु:खद समय में आप लोगों के लिए हमारी प्रार्थना है.’

केरल से ताल्लुक रखने वाले कांग्रेस नेता वेणुगोपाल ने एक बयान में कहा, ‘यह विमान दुर्घटना स्तब्ध कर देने वाली है. राहत एवं मदद के लिए सरकार को सभी जरूरी कदम उठाने चाहिए.’

पार्टी के संगठन महासचिव वेणुगोपाल ने नागर विमानन मंत्रालय से आग्रह किया कि इस हादसे की जांच के लिए तत्काल आदेश जारी किया जाए.

उनके मुताबिक, उन्होंने नागर विमानन मंत्रालय से इस घटना की जांच के लिए तत्काल आदेश जारी करने का आग्रह किया है.

वेणुगोपाल ने कहा कि घायलों को उचित चिकित्सा सेवा मुहैया कराई जाए और मारे गए लोगों के परिजन को वित्तीय सहायता दी जाए.

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और तिरुवनंतपुरम से लोकसभा सदस्य शशि थरूर ने इस विमान हादसे को केरल के लिए दुखद दिन करार दिया और उम्मीद जताई कि यात्रियों को बचाने के प्रयास में सफलता मिलेगी.

भाजपा नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री अल्फोंस केजे ने कहा कि राजामलाई में भूस्खलन के बाद केरल में आज यह दूसरा बड़ा हादसा हुआ है.

राकांपा अध्यक्ष शरद पवार और महाराष्ट्र के उप मुख्यमंत्री अजीत पवार ने भी केरल विमान हादसे पर दुख जताया.

पवार ने ट्वीट किया, ‘कोझिकोड में विमान हादसे की खबर सुनकर दुखी हूं. जो लोग इसमें मारे गए, उनके परिजनों के प्रति मेरी संवेदनाएं.’

पवार ने भी ट्वीट कर घायलों के जल्द स्वस्थ होने की कामना की.

महाराष्ट्र के जल संसाधन मंत्री जयंत पाटिल और बारामती से राकांपा सांसद सुप्रिया सुले ने भी शोक प्रकट किया.

झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने विमान दुर्घटना पर गहरा दुख व्यक्त करते हुए हताहतों के परिजनों के प्रति संवेदना प्रकट की है. गोवा के मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत ने भी इस हादसे पर दुख व्यक्त किया.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)