भारत

मध्य प्रदेशः पुलिस द्वारा युवक से मारपीट का वीडियो सामने आया, जांच के आदेश

घटना मध्य प्रदेश के बड़वानी ज़िले की है, जिसका वीडियो सोशल मीडिया पर सामने आया. इसमें कुछ पुलिसकर्मी युवक को बाल पकड़कर घसीटते हुए दिख रहे हैं. मामले में दो पुलिसकर्मियों को सस्पेंड कर दिया गया है.

(फोटोः वीडियोग्रैब)

(फोटोः वीडियोग्रैब)

भोपालः मध्य प्रदेश के बड़वानी जिले में पुलिसकर्मियों द्वारा एक सिख व्यक्ति के साथ मारपीट का मामला सामने आया है.

इस संबंध में एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ है, जिसमें एक पुलिसकर्मी सिख युवक के बाल पकड़कर उसे घसीटते दिखाई दे रहा है.

एनडीटीवी की रिपोर्ट के मुताबिक, पीड़ित युवक की पहचान प्रेम सिंह के रूप में हुई है. वीडियो में देखा जा सकता है कि पुलिसकर्मी युवक के बाल पकड़े हुए हैं और युवक उनके पैरों में बैठा हुआ है.

वीडियो में यह भी दिखता है कि इस युवक को बचाने आए एक और सिख युवक से पुलिसकर्मी मारपीट करते हुए उसकी पगड़ी उतारने की कोशिश करता है.

वीडियो में पीड़ित युवक कह रहा है, ‘ये पुलिस हमसे मारपीट कर रही है, हम पर अत्याचार कर रही है. बाल खोल-खोलकर हम पर पुलिस अत्याचार कर रही है. पुलिस हमें दुकान लगाने नहीं दे रही है. हमारी सुनवाई करो.’

पीड़ित सिख युवक वहां मौजूद भीड़ से खुद को पुलिस के चंगुल से बचाने की गुहार भी लगाता है.

इस मामले में दो पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया गया है और मामले की जांच का आदेश दिया गया है.

मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने इस घटना का वीडियो ट्वीट करते हुए पीड़ित को इंसाफ देने की बात कही है.

उन्होंने कहा, ‘मध्य प्रदेश के बड़वानी के पलसूद में प्रेम सिंह ग्रंथी जो वर्षों से पुलिस चौकी के पास एक छोटी सी दुकान लगाकर अपना जीवन यापन करते आ रहे हैं उनसे वहां की पुलिस ने अमानवीय तरीक़े से मारपीट की, उनकी पगड़ी उतार दी, बाल पकड़कर बुरी तरह से सड़क पर पिटाई की गई.’

उन्होंने आगे लिखा, ‘यह अत्याचार व गुंडागर्दी सिख धर्म की पवित्र धार्मिक परंपराओं का अपमान भी है. ऐसी घटनाएं बर्दाश्त नहीं की जा सकती है. मैं सरकार से मांग करता हूं कि तत्काल दोषियों के खिलाफ कड़ी से कड़ी कार्यवाही हो. पीड़ित व्यक्ति को न्याय मिले.’

कांग्रेस के राज्य प्रवक्ता नरेंद्र सलूजा का आरोप है कि युवक द्वारा उन्हें घूस देने से मना करने के बाद पुलिसकर्मियों ने उसके साथ मारपीट की.

वहीं, राज्य के गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने बताया कि इस मामले में दो पुलिसकर्मियों को सस्पेंड किया गया है.

बड़वानी जिले के पुलिस अधीक्षक निमिष अग्रवाल का कहना है कि इस मामले में सब डिविजनल पुलिस अधिकारी द्वारा घटना की जांच के आदेश दिए गए हैं.

उन्होंने कहा कि पीड़ित युवक जबलपुर जिले में तीन चोरी की घटनाओं में आरोपी हैं.

अग्रवाल ने कहा, ‘हमारे पुलिसकर्मी वाहनों की चेकिंग कर रहे थे कि उसी दौरान पुलिस ने दो युवकों को रोका, जो बाइक पर थे. इनमें से एक प्रेम सिंह था. बाइक सवार के पास ड्राइविंग लाइसेंस नहीं था और उनमें से एक ने शराब भी पी रखी थी. जब पुलिसकर्मियों ने उन्हें पुलिस चौकी पर लाने की कोशिश की तो उनमें से एक युवक ने हंगामा करना शुरू कर दिया.’