भारत

राजस्थान: कथित तौर पर जय श्रीराम नहीं बोलने पर ऑटोरिक्शा चालक से मारपीट, दो गिरफ़्तार

यह मामला सीकर का है. पीड़ित का कहना है कि उनकी दाढ़ी नोची गई, लात और घुसे मारे गए, जिससे उनके दो से तीन दांत टूट गए. उनकी बाईं आंख, गाल और सिर पर चोटें आई हैं. आरोप है कि पीड़ित को पाकिस्तान भेजने की धमकी भी दी गई.

प्रतीकात्मक तस्वीर (फोटो: पीटीआई)

प्रतीकात्मक तस्वीर (फोटो: पीटीआई)

जयपुरः राजस्थान के सीकर जिले में कथित तौर पर मोदी जिंदाबाद और जय श्रीराम का नारा नहीं लगाने पर एक ऑटोरिक्शा ड्राइवर की बेरहमी से पिटाई करने का मामला सामने आया है. पुलिस ने इस मामले में दो लोगों को गिरफ्तार किया है.

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक, पुलिस का कहना है कि पीड़ित गफ्फार अहमद कच्छवा (52) की शिकायत पर एफआईआर दर्ज कर दो लोगों को गिरफ्तार किया गया है.

कच्छवा को इतनी बेरहमी से पीटा गया है कि उनके दांत टूट गए हैं, आंखों में सूजन आ गई है और चेहरे पर मारपीट के निशान हैं.

पीड़ित के भतीजे शाहिद का कहना है, ‘शुक्रवार तड़के लगभग चार बजे मेरे चाचा ऑटोरिक्शा से सवारी को पास के गांव में छोड़कर लौट रहे थे कि तभी दो लोगों ने उन्हें रोक लिया और उनसे तंबाकू मांगा. चाचा ने तंबाकू देनी चाही तो उन्होंने लेने से इनकार कर दिया और उनसे मोदी जिंदाबाद बोलने को कहा.’

पुलिस की ओर से दर्ज एफआईआर में कच्छवा ने कहा कि जब मैंने नारा लगाने से मना कर दिया तो उन्होंने मुझे थप्पड़ मारा.

पीड़ित ने अपनी शिकायत में कहा, ‘आरोपियों में से एक ने मुझसे मोदी जिंदाबाद का नारा लगाने को कहा. मैंने इनकार किया तो उसने मुझे जोर से थप्पड़ मारा. मैंने अपनी टैक्सी ली और सीकर की तरफ भागने की कोशिश की, लेकिन उन्होंने अपनी कार से मेरा पीछा किया और जगमालपुरा के पास मेरा ऑटो रोक दिया. उन्होंने मुझे ऑटो से बाहर निकाला और बुरी तरह से मेरी पिटाई की. उन्होंने मुझे अपशब्द भी कहे और मोदी जिंदाबाद और जय श्रीराम का नारा लगाने को कहा.’

पीड़ित ने आरोपियों पर 700 रुपये और कलाई घड़ी चुराने का भी आरोप लगाया है.

एफआईआर में पीड़ित की ओर से कहा गया है, ‘आरोपियों ने मेरी दाढ़ी खींची, मुझे लात और घुसे मारे, जिससे मेरे दो-तीन दांत टूट गए. मेरी बाईं आंख, गाल और सिर पर गंभीर चोटें आई हैं. उन्होंने मुझे पर डंडे से हमला किया था. उन्होंने पीटने के बाद कहा कि वे मुझे पाकिस्तान भेजने के बाद ही आराम करेंगे.’

पीड़ित की शिकायत के आधार पर शुक्रवार को आरोपियों के खिलाफ आईपीसी की धारा 323, 341, 504, 506, 327, 382 और 34 के तहत मामला दर्ज किया है.

वहीं, सीकर में सदर पुलिस थाने के एसएचओ पुष्पेंद्र सिंह ने कहा, ‘एफआईआर दर्ज होने के बाद हमने शुक्रवार को शंभूदयाल जाट (35) और राजेंद्र जाट (30) को गिरफ्तार किया. शुरुआती जांच से पता चला है कि इन दोनों लोगों ने अपनी गाड़ी पार्क की थी और शराब पी रहे थे कि तभी इन्होंने कच्छवा को रोक लिया, उससे बदतमीजी की और बेरहमी से पिटाई की.’