राजनीति

कोरोना वायरस: केंद्रीय आयुष मंत्री श्रीपद नाइक संक्रमित पाए गए

कोरोना वायरस से संक्रमित पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के निधन की अफवाह फैलने के बाद नई दिल्ली स्थित सेना के आर एंड आर अस्पताल ने एक बयान जारी कर कहा गया है कि वह कोमा जैसी स्थितियों में हैं. उनके शरीर के सभी महत्वपूर्ण तंत्र स्थिर हैं. उन्हें वेंटिलेटर सपोर्ट पर रखा गया है. इस बीच पुदुचेरी के पूर्व मंत्री ए. एलुमलाई की संक्रमण से मौत हो गई.

The Minister of State for AYUSH (Independent Charge) and Defence, Shri Shripad Yesso Naik addressing at the Unani Day Celebration-cum-International Conference on Unani Medicine, organised by the Central Council for Research in Unani Medicine, Ministry of Ayush, in New Delhi on February 11, 2020.

श्रीपद नाइक. (फोटो साभार: पीआईबी)

नई दिल्ली/पुदुचेरी: केंद्रीय आयुष मंत्री श्रीपद नाइक कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए हैं. इसके बाद उन्होंने खुद को घर में आइसोलेट कर दिया है. वहीं, कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी अस्पताल में कोमा में चले गए हैं. उनकी हालत स्थिर बताई जा रही है. इस बीच, पुदुचेरी के पूर्व मंत्री ए. एलुमलाई का कोरोना वायरस संक्रमण से निधन हो गया है, वह 53 वर्ष के थे.

बुधवार को केंद्रीय मंत्री श्रीपद नाइक ने ट्वीट कर बताया, ‘मैंने आज अपनी कोरोना वायरस जांच कराई और बिना लक्षण के पॉजिटिव पाया गया हूं. मेरे वाइटल्स (शरीर का तापमान, ब्लड प्रेशर, हृदय गति और श्वसन प्रणाली) सामान्य तरीके से काम कर रहे हैं.’

उन्होंने कहा, ‘मैंने घर में आइसोलेट होने का फैसला किया है. बीते कुछ दिनों में जो भी मेरे संपर्क में आए हैं, उनसे आग्रह है कि वे भी अपनी जांच करा लें और जरूरी सावधानियां बरतें.’

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के अनुसार, लॉकडाउन के बाद से नाइक अधिकांश समय गोवा में ही बीता रहे हैं. नाइक रक्षा राज्य मंत्री भी हैं. वह पिछले कुछ दिनों से उत्तर गोवा के अपने संसदीय क्षेत्र में भारी बारिश वाले इलाकों का दौरा करने में व्यस्त थे.

कोरोना वायरस संक्रमण से पुदुचेरी के पूर्व मंत्री ए. एलुमलाई का निधन

पुडुचेरी के पूर्व स्थानीय प्रशासन मंत्री ए. एलुमलाई की बुधवार को यहां केंद्र सरकार के जिपमेर अस्पताल में कोविड-19 संक्रमण से मौत हो गई.

स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण निदेशक एस. मोहन कुमार ने को बताया कि एलुमलाई (53) को संक्रमित पाए जाने के बाद मंगलवार को अस्पताल में भर्ती कराया गया था. बुधवार को उन्होंने दम तोड़ दिया.

उनके परिवार में पत्नी और तीन बेटे हैं.

वर्ष 2001 में तत्कालीन मुख्यमंत्री एन. रंगासामी की अगुवाई वाले कांग्रेस मंत्रिमंडल में एलुमलाई स्थानीय प्रशासन मंत्री रहे थे.

वह राज्य के पुदुचेरी एग्रो सर्विसेज एंड इंडस्ट्रियल कॉरपोरेशन के अध्यक्ष भी रहे थे.

प्रणब मुखर्जी के बेटे ने बताया, उनकी हालत स्थिर

पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी भी कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए हैं, अस्पताल में उनकी हालत नाजुक बनी हुई है. उन्हें नई दिल्ली स्थित सेना के रिसर्च एंड रेफरल अस्पताल (आर एंड आर) में भर्ती कराया गया है.

अस्पताल की ओर से एक बयान जारी कर कहा गया है कि वह कोमा में हैं. उनके सभी महत्वपूर्ण तंत्र (शरीर का तापमान, ब्लड प्रेशर, हृदय गति और श्वसन प्रणाली) स्थिर हैं. उन्हें वेंटिलेटर सपोर्ट पर रखा गया है.

बुधवार को उनके निधन की अफवाह फैला दी गई थी, जिसके बाद प्रणब मुखर्जी के बेटे अभिजीत मुखर्जी और शर्मिष्ठा मुखर्जी ने स्पष्टीकरण जारी किया था और ऐसी खबरे फैलाने वालों की निंदा की थी.

अभिजीत मुखर्जी ने ट्वीट कर कहा था, ‘मेरे पिता श्री प्रणब मुखर्जी अभी भी जिंदा हैं और उनकी हालत स्थिर है. कुछ प्रसिद्ध पत्रकारों द्वारा अटकलें और फर्जी खबरें सोशल मीडिया पर फैलाइ जा रही हैं. इससे पता चलता है कि भारत फर्जी खबरों की फैक्ट्री बन गया है.

प्रणब मुखर्जी की बेटी ने ट्वीट कर कहा, ‘मेरे पिता के बाद चल रही अफवाहें झूठी हैं. खास तौर पर मीडिया और अन्य सभी से अनुरोध है कि मुझे फोन न करें क्योंकि अस्पताल से दी जाने वाली सूचनाओं के लिए मुझे अपना फोन फ्री रखना है.’

मालूम हो कि इस बीच बहुत सारे नेता कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए हैं. कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री सिद्धारमैया जो कि कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए थे, उनकी रिपोर्ट निगेटिव आई है, उन्हें जल्द ही अस्पताल से छुट्टी मिलने की संभावना है.

देश के गृहमंत्री अमित शाह, कर्नाटक के मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा और पूर्व मुख्यमंत्री सिद्धारमैया सहित कई नेता कोरोना संक्रमित पाए जा चुके हैं.

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान भी कोरोना संक्रमित थे लेकिन अब इलाज के बाद उनकी रिपोर्ट निगेटिव आई है.

इसके अलावा केंद्रीय कृषि राज्यमंत्री कैलाश चौधरी, संसदीय मामलों के मंत्री अर्जुन राम मेघवाल और पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान भी कोविड संक्रमित पाए गए हैं.

बीते छह अगस्त को माकपा के वरिष्ठ नेता श्यामल चक्रवर्ती का कोविड-19 के चलते कोलकाता के एक अस्पताल में निधन हो गया था. वह 1982 से 1996 तक तीन बार पश्चिम बंगाल के परिवहन मंत्री रह चुके थे. साथ ही वह दो बार राज्यसभा सदस्य और ट्रेड यूनियन के नेता भी रहे थे.

वहीं, उत्तर प्रदेश की मंत्री कमला रानी वरुण और बिहार में भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (सीपीआई) के सचिव सत्यनारायण सिंह का बीते दिनों कोरोना के चलते निधन हो गया था.

बीते जून महीने में कोरोना वायरस संक्रमण की चपेट में आए पश्चिम बंगाल के दक्षिण 24 परगना में फाल्टा विधानसभा क्षेत्र से तीन बार के विधायक 60 वर्षीय तमोनाश घोष का निधन हो गया था.

जून में ही चेन्नई के चेपॉक से डीएमके विधायक जे. अनबझगन का निधन उनके 62वें जन्मदिन पर हुआ. वह भी कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए थे.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)