भारत

यूपी: मज़दूर की नाबालिग बेटी से बलात्कार, सिगरेट से दागने का आरोप

घटना गोरखपुर के गोला बाज़ार में 14 अगस्त की शाम को हुई. ईंट भट्ठे पर काम करने वाले एक मज़दूर की नाबालिग बेटी हैंडपंप से पानी लेने बाहर गई थी, जब बाइक पर आए दो लोग उसे जबरन उठाकर ले गए और कथित तौर पर उसका बलात्कार किया.

(प्रतीकात्मक फोटो: रॉयटर्स)

(प्रतीकात्मक फोटो: रॉयटर्स)

गोरखपुरः उत्तर प्रदेश के गोरखपुर में एक नाबालिग लड़की से कथित तौर पर बलात्कार करने और उसके शरीर को सिगरेट से दागे जाने का मामला सामने आया है.

यह घटना गोरखपुर के गोला बाजार की है. पुलिस का कहना कि पीड़िता शनिवार को बेहोशी की हालत मे मिली. फिलहाल जिला अस्पताल में लड़की का इलाज चल रहा है. पीड़िता की उम्र 17 साल है.

पीड़िता के पिता ईंट-भट्ठे पर मजदूरी करते हैं और भट्ठे के पास ही रहते हैं. पीड़िता शुक्रवार रात को हैंडपंप से पानी लाने गई थी, जब बाइक से आए दो लोग जबरन उसे उठाकर गांव के ही एक तालाब के पास की झोपड़ी में ले गए और कथित तौर पर उसका बलात्कार किया.

इंडियन एक्सप्रेस के अनुसार, पुलिस में दर्ज शिकायत में पीड़िता के परिजनों ने कहा है कि शुक्रवार की शाम उनके घर के बाहर से उनकी बेटी का अपहरण किया गया था. बहुत देर तक उसके वापस न आने पर परिवार ने तलाश शुरू की, लेकिन वह कहीं नहीं मिली।

अगली सुबह घर के पास ही वह बेहोश पड़ी मिली। उसी दोपहर लड़की अपनी मां के साथ संबंधित थाने गई और पुलिस को बताया कि पास गांव के अर्जुन और उसके दोस्त महेश ने उसका अपहरण कर उसके साथ बलात्कार किया।

गोरखपुर के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक विपुल कुमार श्रीवास्तव ने बताया, ‘लड़की की मां का कहना है कि उनकी बेटी ने उन्हें बताया है कि आरोपियों ने उसे जलती सिगरेट से दागकर प्रताड़ित भी किया।’

उनकी शिकायत के आधार पर पुलिस ने देहरीभर गांव के रहने वाले अर्जुन और महेश के खिलाफ शिकायत दर्ज की है, जिसके बाद पुलिस ने दो लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया.

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सुनील कुमार गुप्ता का कहना है, ‘पीड़िता की मां की शिकायत के आधार पर दो लोगों के खिलाफ अपहण, गैंगरेप और पॉक्सो अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया गया है.’

पुलिस ने दोनों आरोपियों- अर्जुन (27) और उसके सहयोगी महेश उर्फ छोटू (22)को गिरफ्तार कर लिया है.

पीड़िता के परिजनों का आरोप है कि दोनों आरोपियों  ने बलात्कार के बाद सिगरेट से पीड़िता के शरीर को दागा है, लेकिन पुलिस ने इससे इनकार किया है.

विपुल कुमार श्रीवास्तव ने कहा कि पीड़िता के शरीर पर जो घाव हैं, वे शायद सिगरेट से दागे जाने की वजह से नहीं हो सकते.

श्रीवास्तव का कहना है, ‘पीड़िता के चेहरे और गर्दन पर घाव के निशान हैं और हमने इस पर डॉक्टर से राय मांगी है. हमने डॉक्टर से पूछा है कि इस तरह के जख्म किस वजह से हो सकते हैं.’

उन्होंने बताया कि अभी पीड़िता की मेडिकल जांच पूरी नहीं हुई है. आरोपियों को सोमवार को गोरखपुर में स्थानीय अदालत के समक्ष पेश किया जाएगा.

इससे पहले उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी में 13 साल की नाबालिग लड़की का बलात्कार करने के बाद हत्या कर दी गई थी. इसके बाद प्रदेश में बढ़ रहे अपराधों को लेकर विपक्ष ने योगी आदित्यनाथ सरकार पर निशाना साधा था.

(समाचार एजेंसी पीटीआई से इनपुट के साथ)