भारत

उत्तर प्रदेशः बरेली के सरकारी आश्रय गृह की 90 महिलाएं कोरोना संक्रमित

महिला कल्याण विभाग की उप-निदेशक ने बताया कि सभी महिलाओं को आइसोलेट कर दिया गया है. शेल्टर होम को सैनिटाइज़ करा दिया गया है. इससे पहले कानपुर के एक बालिका आश्रय गृह की 57 लड़कियां कोरोना पॉजिटिव पाई गई थीं.

प्रतीकात्मक तस्वीर: पीटीआई

प्रतीकात्मक तस्वीर: पीटीआई

उत्तर प्रदेश के बरेली में एक सरकारी आश्रय गृह (शेल्टर होम) की 90 महिलाओं में कोरोना की पुष्टि हुई है.

महिला कल्याण विभाग की उप-निदेशक नीता अहिरवार ने कहा, ‘बीते दो दिनों में नारी निकेतन (शेल्टर होम) की 90 महिलाओं में कोरोना की पुष्टि हुई है. सभी को आइसोलेट कर दिया गया है.’

उन्होंने कहा कि हालांकि अभी यह पता नहीं चल पाया है कि ये महिलाएं कोरोना संक्रमित कैसे हुईं. उनका कहना है कि महिलाओं में कोरोना के लक्षण नहीं दिखाए दिए थे.

अहिरवार का कहना है कि शेल्टर होम में करीब 200 महिलाएं रहती हैं और इन सभी का कोरोना टेस्ट किया गया था, जिनमें से 90 की रिपोर्ट पॉजिटिव पाई गईं.

डॉक्टरों की एक टीम नियमित रूप से चेकअप के लिए दौरा कर रही है.

समाचार एजेंसी आईएएनएस की रिपोर्ट के मुताबिक, अतिरिक्त मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉक्टर अशोक कुमार ने कहा, ‘हमने शेल्टर होम को सैनिटाइज कर दिया है. फिलहाल हमने किसी भी महिला को अस्पताल में शिफ्ट नहीं किया है, क्योंकि उन सभी में लक्षण नहीं हैं.’

इससे पहले यहां का एक सहायक स्टाफ भी कोरोना संक्रमित पाया गया था.

इससे पहले उत्तर प्रदेश के कानपुर के एक बालिका आश्रय गृह की 57 लड़कियां कोरोना पॉजिटिव पाई गई थीं, जिनमें से पांच लड़कियां गर्भवती भी थीं.

यहां 12 जून को रैंडम सैंपलिंग के दौरान एक लड़की कोरोना पॉजिटिव पाई गई थी, जिसके बाद सभी 171 लड़कियों का टेस्ट कराया गया. यहां 57 लड़कियां और एक स्टाफकर्मी कोरोना संक्रमित पाई गई.

(समाचार एजेंसी पीटीआई से इनपुट के साथ)