भारत

बिहार में नीतीश कुमार के नेतृत्व में एनडीए के तीनों घटक मिलकर चुनाव लड़ेंगेः जेपी नड्डा

बिहार में इस साल के अंत में चुनाव होने हैं. भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने इसके मद्देनज़र बिहार प्रदेश भाजपा कार्यसमिति की बैठक को संबोधित करते हुए कहा कि जब-जब भाजपा, जदयू और लोजपा साथ आई हैं, तब-तब एनडीए की जीत हुई है.

जेपी नड्डा. (फोटो साभार: ट्विटर/बिहार भाजपा)

जेपी नड्डा. (फोटो साभार: ट्विटर/बिहार भाजपा)

नई दिल्लीः भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने तमाम अटकलों पर विराम लगाते हुए रविवार को कहा कि बिहार विधानसभा चुनाव में राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) के तीनों घटक भाजपा, जनता दल (यूनाइटेड) और लोकजनशक्ति पार्टी (लोजपा) मिलकर नीतीश कुमार के नेतृत्व में चुनाव लड़ेंगे और जीत दर्ज करेंगे.

बिहार में इस साल अक्टूबर-नवंबर में चुनाव होने जा रहे हैं.

बिहार भाजपा प्रदेश कार्यकारिणी की शनिवार से शुरू हुई दो दिवसीय डिजिटल बैठक के समापन सत्र को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से संबोधित करते हुए नड्डा ने विपक्षी दलों पर भी निशाना साधते हुए उन पर हल्की राजनीति करने का आरोप लगाया.

उन्होंने कहा, ‘जब-जब भाजपा, नीतीश कुमार की जदयू और लोजपा एक साथ आई है, तब-तब एनडीए की जीत हुई है. इस बार भी हम सब मिलकर चुनाव लड़ेंगे और यशस्वी होंगे.’

नड्डा का यह बयान ऐसे समय में आया है जब एनडीए के सहयोगियों जदयू और लोजपा के बीच लगातार वाकयुद्ध चल रहा है.

लोजपा अध्यक्ष चिराग पासवान कोरोना महामारी के मद्देनजर बिहार चुनाव टालने की मांग करते आ रहे हैं. वह राज्य में कोरोना वायरस संक्रमण और बाढ़ की स्थिति को लेकर भी नीतीश कुमार पर लगातार सवाल उठा रहे हैं.

भाजपा अध्यक्ष ने विपक्षी दलों पर निशाना साधते हुए आरोप लगाया कि न तो उनके पास कोई विचार है और न ही कोई दृष्टि.

उन्होंने कहा, ‘मैं विपक्ष पर कोई कटाक्ष करूं, इसकी कोई जरूरत नहीं है लेकिन इतना जरूर कहूंगा कि बिहार या अन्य स्थानों पर उसकी ताकत खत्म हो गई है. विपक्ष के पास न कोई ताकत है, न विचार है, न दृष्टि है और न ही मन में सेवा का कोई संकल्प है. थोथी राजनीति, हल्की राजनीति. वे इससे ऊपर नहीं उठ सकते.’

नड्डा ने कहा कि बिहार की जनता को भाजपा और एनडीए से उम्मीद है. हम यह गर्व के साथ कह सकते हैं कि हमने उनकी तकदीर और तस्वीर बदलने में योगदान किया है और आगे भी करेंगे.

उन्होंने पार्टी कार्यकर्ताओं से आग्रह किया उन्हें ना सिर्फ भाजपा की जीत सुनिश्चित करनी है बल्कि सहयोगी दलों के कंधों को भी मजबूती देनी होगी.

उन्होंने कहा, ‘भाजपा केवल उन सीटों की ही लड़ाई नहीं लड़ेगी जहां से उसके उम्मीदवार खड़े होंगे बल्कि सभी बूथों पर लड़ेगी और पार्टी के सभी सहयोगी दलों के उम्मीदवारों की जीत सुनिश्चित करने के लिए काम करेगी.’

उन्होंने कहा कि कोरोना के संक्रमण काल में छोटी-छोटी बैठकें और घर-घर जाकर प्रचार करना सबसे प्रभावी होने वाला है. इस दौरान सभी को अपनी सुरक्षा भी करनी है और साथ-साथ राजनीतिक मुद्दों को जनता तक पहुंचाना भी है.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)