भारत

मास्क न पहनने और दूरी बनाकर न रखने से भारत में बढ़ रहा है कोरोना: आईसीएमआर निदेशक

आईसीएमआर के महानिदेशक बलराम भार्गव एक प्रेस वार्ता के दौरान कहा कि ग़ैर-ज़िम्मेदार और कम जागरूक लोगों द्वारा कोविड-19 के मद्देनज़र बनाए गए नियमों का पालन न करने से देश में महामारी बढ़ रही है.

(फोटो: पीटीआई)

(फोटो: पीटीआई)

नई दिल्ली: भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) के महानिदेशक बलराम भार्गव ने मंगलवार को कहा कि कुछ ‘गैर जिम्मेदार’ लोगों के मास्क नहीं पहनने तथा सामाजिक दूरी बनाकर नहीं रखने से भारत में कोरोना वायरस महामारी बढ़ रही है.

भार्गव ने यह भी कहा कि आईसीएमआर ने दूसरा राष्ट्रीय सीरो सर्वे शुरू किया है जो सितंबर के पहले सप्ताह तक पूरा किया जाएगा.

भार्गव ने एक प्रेस ब्रीफिंग में एक सवाल के जवाब में कहा, ‘मैं यह नहीं कहूंगा कि जवान या वृद्ध ऐसा कर रहे हैं, मैं कहूंगा कि गैर-जिम्मेदार, कम जागरुक लोग मास्क नहीं पहन रहे और सामाजिक दूरी का पालन नहीं कर रहे हैं जिससे भारत में महामारी बढ़ रही है.’

उन्होंने कहा कि पिछले राष्ट्रीय सीरो सर्वे की पूरी रिपोर्ट की दो बार समीक्षा की गई है और इस सप्ताह के अंत में इसे इंडियन जर्नल ऑफ मेडिकल रिसर्च में प्रकाशित किया जा सकता है.

समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक उन्होंने कहा, ‘अधिकांश सीरो सर्वेक्षण एंटीबॉडीज़ को देख रहे हैं. इन लंबे सीरो सर्वेक्षणों में तटस्थ एंटीबॉडी और टी-सेल प्रतिक्रियाओं का अध्ययन नहीं किया जा रहा है. सीरो सर्वेक्षण हमें इस बात पर मार्गदर्शन करने के लिए महत्वपूर्ण हैं कि हम महामारी के किस चरण में हैं और सार्वजनिक स्वास्थ्य एंव नियंत्रण क्षेत्र में हमें क्या उपाय करने की आवश्यकता है.’

वहीं, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने मंगलवार को कहा कि हालांकि कोविड -19 परीक्षण में तेजी से वृद्धि की गई है. कोविड-19 के पॉजिटिव मामलों की दर में लगातार गिरावट आई है.

उनके मुताबिक, संक्रमण के सक्रिय मामलों की संख्या पहली बार 24 घंटे की अवधि में 6,423 कम हो गई है.

मंत्रालय ने कहा कि बीते एक अगस्त से कोरोना वायरस परीक्षणों को प्रति 10 लाख में 363 से बढ़ाकर 600 से अधिक प्रति दिन कर दिया गया है. अब तक भारत में लगभग 3.7 करोड़ कोविड-19 नमूनों का परीक्षण किया जा चुका है.

बता दें बुधवार को कोविड-19 के 67,151 नए मामले सामने आने के बाद देश में संक्रमण के मामले बढ़कर 32.34 लाख हो गए हैं. 1,059 लोगों की मौत के बाद मृतक संख्या बढ़कर 59,449 हो गई है.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)