दुनिया

कोविड-19: लगातार तीसरे दिन 75,000 से अधिक मामले, चार दिन से 24 घंटे में 1,000 से अधिक मौत

भारत में कोरोना वायरस संक्रमण के कुल मामले बढ़कर 3,463,972 हो गए हैं, वहीं मरने वालों को आंकड़ा 62,550 हो गया है. दुनियाभर में 2.47 करोड़ से ज़्यादा मामले सामने आए हैं, जबकि 8.37 लाख से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है.

(फोटो: पीटीआई)

(फोटो: पीटीआई)

ई दिल्ली: भारत में लगातार तीसरे दिन कोरोना वायरस संक्रमण के 75 हजार से अधिक मामले दर्ज किए गए हैं.

एक दिन में कोरोना वायरस संक्रमण के 76,472 नए मामले सामने आने के साथ ही देश में शनिवार को संक्रमण के कुल मामले 34 लाख के पार चले गए वहीं संक्रमण से 26,48,998 लोग ठीक हो गए हैं जिससे संक्रमितों के स्वस्थ होने की दर शनिवार को 76.47 प्रतिशत हो गई.

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के शनिवार सुबह आठ बजे अद्यतन किए गए आंकड़ों के अनुसार, पिछले 24 घंटे में देश में संक्रमण के मामले बढ़कर 3,463,972 हो गए हैं, वहीं 1,021 लोगों की मौत होने से मृतक संख्या 62,550 हो गई है.

26 अगस्त से यह लगातार चौथा दिन है, जब एक दिन या 24 घंटे में एक हजार से अधिक लोगों की मौत हुई है. इतना ही नहीं ऐसा आठवीं बार है, मरने वालों की संख्या एक हजार के पार हुई है.

इसके अलावा यह लगातार 10वां दिन है, जब कोरोना वायरस के 60 हजार से अधिक नए मामले और 30 जुलाई से यह लगातार 30वां दिन है, जब संक्रमण के 50,000 से ज्यादा नए मामले सामने आए हैं.

आंकड़ों पर गौर करें तो अगर भारत में संक्रमण के मामले इसी तरह से बढ़ते रहे तो वो जल्दी ही दूसरे सर्वाधिक प्रभावित देश ब्राजील को पीछे कर देगा. ब्राजील में शनिवार तक संक्रमण के कुल मामलों की संख्या 38 लाख से अधिक हो गई है.

बीते 24 घंटे या एक दिन में संक्रमण के नए मामलों की बात करें तो बीते 28 अगस्त को 77,266, 27 अगस्त को 75,760, 26 अगस्त को 67,151, 25 अगस्त को 60,975, 24 अगस्त को 61,408, 23 अगस्त को 69,239 और 22 अगस्त को 69,874 नए मामले सामने आए थे, जो अब तक की सर्वाधिक संख्या थी.

30 जुलाई से 22 अगस्त के बीच 24 घंटे या एक दिन में संक्रमण के नए मामलों की संख्या 52 हजार (52,123) से लेकर करीब 70 हजार (69,874) के बीच रही थी.

सात अगस्त को पहली बार नए मामलों की संख्या 60 हजार (62,538) के पार हुई थी. 30 जुलाई को पहली बार 50 हजार के पार, 20 जुलाई को यह पहली बार 40 हजार के पार, 16 जुलाई को पहली बार 30 हजार के पार, 10 जुलाई को पहली बार 25 हजार (26,506) के पार, तीन जुलाई को पहली बार 20 हजार के पार, 21 जून को पहली बार 15 हजार के पार और 20 जून को संक्रमण के नए मामलों की संख्या पहली बार 14 हजार के पार हुई थी.

अब एक दिन या 24 घंटे के दौरान मरने वालों संख्या की बात करें तो बीते 28 अगस्त को 1,057, 27 अगस्त को 1,023, 26 अगस्त को 1,059, 25 अगस्त को 848, 24 अगस्त को 836, 23 अगस्त को 912, 22 अगस्त को 945, 21 अगस्त को 983, 20 अगस्त को 977 और 19 अगस्त को 1,092 मामले सामने आए थे, जो अब तक की सर्वाधिक संख्या है.

18 अगस्त को 876, 17 अगस्त को 941, 16 अगस्त को 944, 15 अगस्त को 996, 14 अगस्त को 1,007, 13 अगस्त को 942, 12 अगस्त को 834, 11 अगस्त को 871, 10 अगस्त को 1,007 लोगों की मौत हुई थी.

24 जुलाई से नौ अगस्त के बीच एक दिन या 24 घंटे में मौत का आंकड़ा 700 से लेकर 933 (आठ अगस्त का आंकड़ा) के बीच रहा है. एक जुलाई से 23 जुलाई के बीच यह आंकड़ा 507 से 1,129 के बीच रहा.

11 जून से 30 जून के बीच मरने वालों की संख्या 300 से 500 के अंदर रही है. 22 जून को एक दिन में मरने वालों की संख्या पहली बार 400 से अधिक रही थी. और 11 जून को पहली बार मरने वालों की संख्या 300 के आंकड़े को पार कर गई थी.

शनिवार को स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से जारी आंकड़ों के अनुसार, देश में संक्रमण से मृत्य दर घटकर 1.81 प्रतिशत रह गई है. फिलहाल 7,52,424 लोगों के संक्रमण का इलाज चल रहा है, जो कुल मामलों का 21.72 प्रतिशत है.

देश में संक्रमण के मामले सात अगस्त को 20 लाख के पार हो गए थे, वहीं 23 अगस्त को मामले 30 लाख के पार हो गए.

भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) के अनुसार, देश में 28 अगस्त तक 40,4066,09 नमूनों की जांच की गई, जिनमें से 928,761 नमूनों की जांच शुकवार को की गई.

आंकड़ों के अनुसार, पिछले 24 घंटे में जिन 1,021 लोगों की जान गई, उनमें से सबसे अधिक 331 लोग महाराष्ट्र के थे. इसके अलावा कनार्टक के 136, तमिलनाडु के 102, आंध्र प्रदेश के 81, उत्तर प्रदेश के 77, पश्चिम बंगाल के 56, पंजाब के 51, बिहार और दिल्ली में 20-20, मध्य प्रदेश के 17, हरियाणा के 15, गुजरात के 14, राजस्थान के 12 और उत्तराखंड के 11 लोग थे.

पुदुचेरी और तेलंगाना में नौ-नौ, असम, झारखंड और ओडिशा में आठ-आठ, जम्मू कश्मीर और केरल में सात-सात, छत्तीसगढ़ में छह, त्रिपुरा में पांच, गोवा में चार, चंडीगढ़, मणिपुर और मेघालय में दो-दो लोगों की मौत हुई. लद्दाख में एक व्यक्ति की मौत संक्रमण से हुई.

कुल 62,550 मौतों में से महाराष्ट्र में सबसे अधिक 23,775, तमिलनाडु में 7,050, कर्नाटक में 5,368, दिल्ली में 4,389, आंध्र प्रदेश में 3,714, उत्तर प्रदेश में 3,294, पश्चिम बंगाल में 3,073, गुजरात में 2,976 और मध्य प्रदेश में 1,323 लोगों की मौत हुई है.

अब तक पंजाब में 1,307, राजस्थान में 1,017, तेलंगाना में 808, जम्मू कश्मीर में 678, हरियाणा में 661, बिहार में 558, ओडिशा में 456, झारखंड में 381, असम में 286, केरल में 274 , छत्तीसगढ़ में 251 और उत्तराखंड में 239 लोगों की मौत संक्रमण से हुई.

पुदुचेरी में 199, गोवा में 175, त्रिपुरा में 94, चंडीगढ़ में 45, अंडमान और निकोबार द्वीप समूह में 42, हिमाचल प्रदेश में 33, लद्दाख में 28, मणिपुर में 27, मेघालय में 10, नगालैंड में नौ, अरुणाचल प्रदेश में पांच, सिक्किम में तीन और दादरा एवं नगर हवेली तथा दमन और दीव में दो लोगों की मौत संक्रमण से हुई.

स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि संक्रमण से मरने वाले 70 प्रतिशत से अधिक लोगों में पहले से भी कोई बीमारी थी.

दुनियाभर में 2.47 करोड़ से ज़्यादा मामले, 8.37 लाख से अधिक की मौत

अमेरिका की जॉन्स हॉपकिन्स यूनिवर्सिटी की ओर से जारी आंकड़ों के अनुसार, पूरी दुनिया में कोरोना वायरस संक्रमण के कुल मामले बढ़कर 24,765,771 हो गए हैं और अब तक 837,700 लोगों की जान जा चुकी है.

दुनियाभर में कोरोना से अमेरिका सबसे अधिक प्रभावित देश है. यहां संक्रमण के अब तक 5,918,381 मामले सामने आए हैं, जबकि मरने वालों की संख्या 181,775 हो चुकी है.

अमेरिका के बाद संक्रमण से सर्वाधिक प्रभावित देश ब्राजील में संक्रमण के अब तक 3,804,803 मामले मिले हैं और 119,504 लोग दम तोड़ चुके हैं.

संक्रमण के मामलों में भारत तीसरे स्थान पर है. भारत के बाद रूस चौथे स्थान पर है, जहां संक्रमण के 982,573 मामले मिले हैं और 16,977 लोगों की जान जा चुकी है.

रूस के बाद दक्षिण अफ्रीका को पछाड़कर पेरू संक्रमण से पांचवा सर्वाधिक प्रभावित देश बन गया है. यहां अब तक 629,961 मामले आए हैं, जबकि 28,471 मरीजों की मौत दर्ज की जा चुकी है.

पेरू के बाद छठे सर्वाधिक प्रभावित देश दक्षिण अफ्रीका में संक्रमण के 620,132 मामले हैं और 13,743 लोगों ने जान गंवा दी है.

संक्रमण से सातवें प्रभावित देश कोलंबिया में 590,492 मामले दर्ज हुए हैं, जबकि 18,766 मौतें हुई हैं. कोलंबिया के बाद संक्रमण से आठवें सर्वाधिक प्रभावित देश मैक्सिको में 585,738 मामले सामने आए हैं और 63,146 मौतें हुई हैं.

मैक्सिको के बाद नौवें सर्वाधिक प्रभावित स्पेन में संक्रमण के कुल 439,286 मामले हैं, वहीं मरने वालों का आंकड़ा 29,011 हो गया है.

स्पेन के बाद 10वें स्थान पर चिली में संक्रमण के 405,972 मामले सामने आ चुके हैं, जबकि 11,132 लोगों की यह महामारी जान ले चुकी है.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)