भारत

सरकार ने पबजी सहित चीन से जुड़े 118 मोबाइल ऐप पर पाबंदी लगाई

बीते जून माह में सरकार ने देश की संप्रभुता, अखंडता और राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए ख़तरा बताते हुए टिकटॉक और यूसी ब्राउज़र सहित चीन से संबंधित 59 मोबाइल ऐप पर प्रतिबंध लगा दिया था. इसके बाद जुलाई में चीन से जुड़े 47 मोबाइल ऐप पर प्रतिबंध लगाया था.

पबजी (फोटो: रॉयटर्स)

पबजी (फोटो: रॉयटर्स)

नई दिल्ली: सूचना और प्रौद्योगिकी मंत्रालय ने बुधवार को बेहद लोकप्रिय गेमिंग ऐप पबजी और चीन से जुड़े 117 मोबाइल ऐप पर प्रतिबंध लगा दिया.

पबजी मोबाइल नॉर्डिक मैप: लिविक, पबजी मोबाइल लाइट, वीचैट वर्क एंड वीचैट रीडिंग प्रतिबंधित मोबाइल ऐप में से हैं.

बता दें कि इससे पहले जुलाई में सरकार ने 47 ऐप्स पर प्रतिबंध लगा दिया था, जो जून में पहले से प्रतिबंधित 59 ऐप्स के क्लोन (प्रतिरूप) या इसी के प्रकार थे.

इंडियन एक्सप्रेस के अनुसार, एक बयान में सरकार ने कहा कि उसने 118 मोबाइल ऐप को प्रतिबंधित कर दिया, जो भारत की संप्रभुता, अखंडता, भारत की रक्षा, राज्य की सुरक्षा और सार्वजनिक व्यवस्था के लिए खतरा हैं.

बता दें कि सरकार ने देश की संप्रभुता, अखंडता और राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए खतरा बताते हुए 29 जून टिकटॉक और यूसी ब्राउज़र सहित चीन से संबंधित 59 मोबाइल ऐप पर प्रतिबंध लगा दिया था.

सरकार की ओर से कहा गया है कि विभिन्न स्रोतों से मिली तमाम शिकायतों के बाद इन मोबाइल ऐप पर प्रतिबंध लगाया गया है. इन शिकायतों में इन ऐप पर उपभोक्ताओं का डाटा चुराने और चोरी-छिपे उन्हें भारत के बाहर स्थित सर्वरों पर ट्रासंफर करने का आरोप था.

प्रतिबंधित सूची में वी चैट, वीगो लाइव, हैलो, लाइकी, कैम स्कैनर, वीगो वीडियो, एमआई वीडियो कॉल- शाओमी, एमआई कम्युनिटी, क्लैश ऑफ किंग्स के साथ ही ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म क्लब फैक्ट्री और शी इन शामिल थे.