दुनिया

कोरोना वायरस: 24 घंटे में सर्वाधिक 95,735 नए मामले दर्ज, रिकॉर्ड 1,172 लोगों की मौत

भारत में कोरोना वायरस संक्रमण के मामले बढ़कर 44 लाख से अधिक हो गए हैं, वहीं मरने वालों की संख्या 75 हज़ार के आंकड़े को पार कर गई है. वहीं, विश्व में अब तक नौ लाख से अधिक लोगों की जान जा चुकी है और संक्रमण के 2.78 करोड़ से ज़्यादा मामले दर्ज किए गए हैं.

Mannequins wearing protective face masks and face shields are displayed at a market amid the coronavirus disease (COVID-19) outbreak in Jakarta, Indonesia, July 30, 2020. REUTERS/Ajeng Dinar Ulfiana

(फोटो: रॉयटर्स)

नई दिल्ली: भारत में एक दिन या 24 घंटे के दौरान कोरोना वायरस के नए मामलों और इससे होने वाली मौतों में अब तक की सर्वाधिक वृद्धि दर्ज की गई है.

एक दिन में कोविड-19 के सर्वाधिक 95,735 नए मामले सामने आने के बाद देश में संक्रमण के मामले बढ़कर बृहस्पतिवार को 44 लाख के आंकड़े को पार कर 4,465,863 हो गए. वहीं रिकॉर्ड 1,172 और लोगों की मौत के बाद मृतक संख्या बढ़कर 75,062 हो गई.

आंकड़ों के विश्लेषण से पता चलता है कि दो सितंबर से यह लगातार आठवां दिन है, जब 24 घंटे में मरने वालों की संख्या एक हजार से अधिक रही है. और आठ सितंबर से लगातार तीसरा दिन है, जब 1,100 से अधिक लोगों की मौत हुई है.

अब एक दिन या 24 घंटे के दौरान मरने वालों संख्या की बात करें तो बीते नौ सितंबर को 1,115 और आठ सितंबर को 1,133 लोगों की मौत हुई, जो अब तक की सर्वाधिक संख्या थी. सात सितंबर को 1,016, छह सितंबर को 1,065, पांच अगस्त को 1,089, चार सितंबर को 1,096 लोगों की मौत हुई.

तीन सितंबर को 1,043, दो सितंबर को 1,045, एक सितंबर को 819, 31 अगस्त को 971, 30 अगस्त को 948, 29 अगस्त को 1,021, 28 अगस्त को 1,057, 27 अगस्त को 1,023, 26 अगस्त को 1,059, 25 अगस्त को 848, 24 अगस्त को 836, 23 अगस्त को 912, 22 अगस्त को 945, 21 अगस्त को 983, 20 अगस्त को 977 और 19 अगस्त को 1,092 मामले सामने आए थे.

18 अगस्त को 876, 17 अगस्त को 941, 16 अगस्त को 944, 15 अगस्त को 996, 14 अगस्त को 1,007, 13 अगस्त को 942, 12 अगस्त को 834, 11 अगस्त को 871, 10 अगस्त को 1,007 लोगों की मौत हुई थी.

24 जुलाई से नौ अगस्त के बीच एक दिन या 24 घंटे में मौत का आंकड़ा 700 से लेकर 933 (आठ अगस्त का आंकड़ा) के बीच रहा है. एक जुलाई से 23 जुलाई के बीच यह आंकड़ा 507 से 1,129 के बीच रहा.

11 जून से 30 जून के बीच मरने वालों की संख्या 300 से 500 के अंदर रही है. 22 जून को एक दिन में मरने वालों की संख्या पहली बार 400 से अधिक रही थी. और 11 जून को पहली बार मरने वालों की संख्या 300 के आंकड़े को पार कर गई थी.

बीते 24 घंटे या एक दिन में संक्रमण के नए मामलों की बात करें तो बीते नौ सितंबर को 89,706, आठ सितंबर को 75,809 और सात सितंबर को 90,802 नए मामले दर्ज किए गए थे, जो अब तक की सर्वाधिक संख्या थी.

इसके अलावा छह सितंबर को 90,632, पांच सितंबर को 86,432, चार सितंबर को 83,341, तीन सितंबर को 83,883, दो सितंबर को 78,357, एक सितंबर को 69,921, 31 अगस्त को 78,512 और 30 अगस्त को 78,761, 29 अगस्त को 76,472 नए मामले सामने आए थे.

28 अगस्त को पहली बार संक्रमण के नए मामलों की संख्या 70 हजार (75,760) के पार हुई थी. सात अगस्त को पहली बार नए मामलों की संख्या 60 हजार (62,538) के पार हुई थी. 30 जुलाई को पहली बार 50 हजार के पार, 20 जुलाई को यह पहली बार 40 हजार के पार, 16 जुलाई को पहली बार 30 हजार के पार, 10 जुलाई को पहली बार 25 हजार (26,506) के पार, तीन जुलाई को पहली बार 20 हजार के पार, 21 जून को पहली बार 15 हजार के पार और 20 जून को संक्रमण के नए मामलों की संख्या पहली बार 14 हजार के पार हुई थी.

इतना ही नहीं सात अगस्त से यह लगातार 35वां दिन है, जब 60 हजार से अधिक और 30 जुलाई से यह लगातार 43वां दिन है, जब 50,000 से ज्यादा नए मामले सामने आए हैं.

भारत में कोविड-19 मरीजों की संख्या सात अगस्त को 20 लाख को पार कर गई थी, जबकि 23 अगस्त को 30 लाख के पार और पांच सितंबर को 40 लाख के पार पहुंच गई थी.

आंकड़ों के मुताबिक, भारत में कोविड-19 संक्रमण के कुल मामलों की संख्या 10 लाख से 20 लाख तक पहुंचने में 21 दिनों का समय लगा था, जबकि 20 से 30 लाख की संख्या होने में 16 और दिन लगे. हालांकि 30 लाख से 40 लाख तक पहुंचने में मात्र 13 दिनों का समय लगा है.

देश में ठीक होने की दर 77.74 प्रतिशत, मृत्यु दर 1.68 प्रतिशत

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से सुबह आठ बजे जारी किए गए अद्यतन आंकड़ों के अनुसार, बृहस्पतिवार तक 3,471,783 लोग संक्रमण मुक्त हो चुके हैं. उसके अनुसार मृत्यु दर गिरकर 1.68 प्रतिशत हो गई और मरीजों के ठीक होने की दर 77.74 प्रतिशत है.

एक दिन पहले नौ सितंबर को ठीक होने की दर 77.77 प्रतिशत और मृत्यु दर 1.69 प्रतिशत थी.

आंकड़ों के अनुसार, देश में अभी 919,018 मरीजों का कोरोना वायरस का इलाज जारी है, जो कुल मामलों का 20.58 प्रतिशत है.

भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) के अनुसार देश में नौ सितंबर तक 52,934,433 नमूनों की कोविड-19 के लिए जांच की गई है, जिनमें से 1,129,756 नमूनों की जांच बुधवार को ही की गई.

दुनियाभर में मामले 2.78 करोड़ से ज्यादा, नौ लाख से अधिक की मौत

अमेरिका की जॉन्स हॉपकिन्स यूनिवर्सिटी की ओर से जारी आंकड़ों के अनुसार, पूरी दुनिया में कोरोना वायरस संक्रमण के कुल मामले बढ़कर 27,869,036 हो गए हैं और अब तक 903,746 लोगों की जान जा चुकी है.

दुनियाभर में कोरोना से अमेरिका सबसे अधिक प्रभावित देश है. यहां संक्रमण के अब तक 6,362,107 मामले सामने आए हैं, जबकि मरने वालों की संख्या 199,869 हो चुकी है.

भारत संक्रमण से सर्वाधिक प्रभावित दूसरा देश है. भारत के बाद तीसरे सर्वाधिक प्रभावित देश ब्राजील में संक्रमण के अब तक 4,197,889 मामले मिले हैं और 128,539 लोग दम तोड़ चुके हैं.

ब्राजील के बाद रूस चौथे स्थान पर है, जहां संक्रमण के 1,037,526 मामले (बुधवार तक) मिले हैं और 18,080 लोगों की जान जा चुकी है.

रूस के बाद संक्रमण से पांचवें सर्वाधिक प्रभावित देश पेरू में 696,190 मामले आए हैं, जबकि 30,123 मरीजों की मौत दर्ज की जा चुकी है.

पेरू के बाद छठे सर्वाधिक प्रभावित देश कोलंबिया में संक्रमण के 686,851 मामले हैं और 22,053 लोगों ने जान गंवा दी है. कोलंबिया के बाद सातवें प्रभावित देश मैक्सिको में 647,321 मामले सामने आए हैं और 69,049 मौतें हुई हैं.

संक्रमण से आठवें प्रभावित देश दक्षिण अफ्रीका में 642,431 मामले दर्ज हुए हैं, जबकि 15,168 मौतें हुई हैं. दक्षिण अफ्रीका के बाद संक्रमण से नौवें सर्वाधिक प्रभावित देश स्पेन में 543,379 मामले सामने आए हैं और 29,628 मौतें हुई हैं.

स्पेन के बाद 10वें सर्वाधिक प्रभावित देश अर्जेंटीना में संक्रमण के 512,293 मामले सामने आ चुके हैं, जबकि 10,658 लोगों की यह महामारी जान ले चुकी है.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)