भारत

कोविड-19 से 69 फ़ीसदी लोगों की जान चार राज्यों और एक केंद्र शासित प्रदेश में गई: सरकार

केंद्र सरकार ने गुरुवार को बताया कि देश में कोरोना वायरस से संक्रमित कुल मरीज़ों में से 74 प्रतिशत मरीज़ कोविड-19 से सबसे अधिक प्रभावित नौ राज्यों में हैं, जबकि अब तक हुईं कुल मौतों में से 69 प्रतिशत मौतें महाराष्ट्र, तमिलनाडु, कर्नाटक, दिल्ली और आंध्र प्रदेश में हुई हैं.

(फोटो:पीटीआई)

(फोटो:पीटीआई)

नई दिल्ली: केंद्र ने बताया कि देश में कोरोना वायरस से अब भी संक्रमित कुल मरीजों में से 74 प्रतिशत मरीज, कोविड-19 से सबसे अधिक प्रभावित नौ राज्यों में हैं जबकि अब तक हुई कुल मौतों में से 69 प्रतिशत महाराष्ट्र, तमिलनाडु, कर्नाटक, दिल्ली और आंध्र प्रदेश में हुई हैं.

मंत्रालय ने कहा कि कोविड-19 के कुल मामलों में से 60 प्रतिशत मामले (10 सितंबर तक) केवल पांच राज्यों से सामने आए हैं- महाराष्ट्र से 967,349, आंध्र प्रदेश से 527,512, तमिलनाडु से 480,524, कर्नाटक से 421,730 और उत्तर प्रदेश से 285,041 मामले हैं.

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के 10 सितंबर सुबह आठ बजे तक के अद्यतन डेटा के मुताबिक, देश में 919,018 लोग अब भी कोरोना संक्रमण की चपेट में थे, जो कुल मामलों का 20.58 प्रतिशत है.

संक्रमण का इलाज करा रहे 74 प्रतिशत से अधिक मरीज नौ सबसे ज्यादा प्रभावित राज्यों- महाराष्ट्र, कर्नाटक, आंध्र प्रदेश, उत्तर प्रदेश, तमिलनाडु, तेलंगाना, असम, ओडिशा और छत्तीसगढ़ में हैं.

मंत्रालय ने कहा कि कोरोना वायरस से अब भी संक्रमित 49 प्रतिशत लोग महाराष्ट्र, कर्नाटक और आंध्र प्रदेश से हैं. महाराष्ट्र इस मामले में सबसे ऊपर है, जहां ऐसे मरीजों की संख्या 250,000 से अधिक है, जबकि कर्नाटक और आंध्र प्रदेश 97,000 मामलों के साथ दूसरे नंबर पर हैं.

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, शुक्रवार को देश में कोविड-19 के 96,551 नए मामले सामने आने के बाद संक्रमण के मामले बढ़कर शुक्रवार को 45 लाख के पार चले गए. वहीं 1,209 और लोगों की मौत के बाद मृतकों की संख्या बढ़कर 76,271 हो गई. जबकि स्वस्थ होने वालों की संख्या बढ़कर 35 लाख से अधिक हो गई है.

देश में पिछले 24 घंटों में सामने आए कोरोना वायरस संक्रमण के कुल 96,551 मामलों में से 23,000 से ज्यादा मामले महाराष्ट्र से और 10,000 से ज्यादा मामले आंध्र प्रदेश से हैं.

वहीं पिछले 24 घंटों में कुल 1,209 लोगों की मौत हुई, जिसमें से 32 प्रतिशत मौत यानी 495 लोगों की मौत महाराष्ट्र से हैं. इसके बाद कर्नाटक में 129 लोगों की और उत्तर प्रदेश में 94, आंध्र प्रदेश में 68, तमिलनाडु में 64 लोगों की मौत हुई है.

मंत्रालय ने कहा कि कुल मौतों में से 69 प्रतिशत मौत पांच राज्यों और एक केंद्र शासित प्रदेश- महाराष्ट्र, तमिलनाडु, कर्नाटक, दिल्ली और आंध्र प्रदेश में हुई हैं.

मंत्रालय के मुताबिक, पूरे देश में मृत्यु दर घटकर 1.67 प्रतिशत हो गई और मरीजों के ठीक होने की दर 77.65 प्रतिशत है.