जन की बात

‘जन की बात’: राजनीति में अपराधीकरण और पेड ​न्यूज़, एपिसोड 2

‘जन की बात’ के दूसरे एपिसोड में वरिष्ठ पत्रकार विनोद दुआ राजनीति में अपराधीकरण और पेड न्यूज़ पर चर्चा कर रहे हैं.

‘जन की बात’ के सारे एपिसोड देखने के लिए यहां क्लिक करें.

  • Deepak Jain

    दुआ
    साहेब जैसे लोगो के आने से पुनः मीडिया की साख मजबूत होगी नही तो ज़ी न्यूज़
    अब जागरण ने जिस तरह से मीडिया को बदनाम कर रखा है लोगो का विश्वास मीडिया
    पर से उठता जा रहा है ।
    भांड
    मीडिया और बिकाऊ पत्रकारिता के दौर में कुछ ईमानदार पत्रकार मीडिया भी है
    कुछ तसल्ली होती है इनको देख सुनकर वरना कारपोरेट हॉउस के राग दरबारी चैनल
    को देख कर कोफ़्त होता है दुवा जी वरिष्ठतम पत्रकार है उनकी बात में
    गम्भीरता और सच्चाई होता है

  • Numanath Poudel

    समाचार मूल भुत रुपसे दो किसिमके होते है।
    १ कुसमाचार
    २ सुसमाचार
    ज्यादातर सनसनीखेज और धमाकेदार समाचार कुसमाचार कि वर्ग मे हि पाई जाती है।

  • Keshav Lal Goswami

    Independent news Anchors and media high rated news reporters and editors are now news of the past
    Dua and Ravish Kumar express their independent views they are labeled as an anti national by ruling clique and their followers bhakats

  • Keshav Lal Goswami

    Jagran proprietors are having political links with BJP and also ZEE TV proprietors too having tilt towards BJP so they can go to extend in supporting and making fake news

  • Dharm

    glad to see you again….vinod sir….desh ko bahut jyadda jarurat hai aap jaise patrakaron ki