भारत

कंगना रनौत की हवाई यात्रा में सुरक्षा नियमों के उल्लंघन पर डीजीसीए ने इंडिगो से रिपोर्ट मांगी

9 सितंबर को इंडिगो की चंडीगढ़-मुंबई फ्लाइट में अभिनेत्री कंगना रनौत सवार थीं. इस दौरान मीडियाकर्मियों द्वारा नियमों की अनदेखी करते हुए फोटोग्राफी और वीडियोग्राफी करने के आरोप हैं. इसके बाद डीजीसीए ने विमानन कंपनियों को चेताया है कि अगर आगे ऐसा हुआ तो दो हफ़्तों के लिए फ्लाइट सस्पेंड कर दी जाएगी.

(फोटोः पीटीआई)

(फोटोः पीटीआई)

नई दिल्लीः विमानन नियामक महानिदेशालय (डीजीसीए) ने विमानन कंपनी इंडिगो से उसकी नौ सितंबर की चंडीगढ़-मुंबई की उड़ान में मीडियाकर्मियों द्वारा सुरक्षा प्रोटोकॉल और सामाजिक दूरी के नियमों के कथित उल्लंघन को लेकर एक्शन रिपोर्ट मांगी है.

टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक, इस मामले में डीजीसीए ने इंडिगो से पंद्रह दिनों के भीतर एक्शन रिपोर्ट पेश करने को कहा है.

वहीं, इस मामले में डीजीसए ने सभी विमानन कंपनियों को नसीहत जारी की है.

डीजीसीए ने बयान जारी कर कहा, ‘अगर भविष्य में किसी भी यात्री विमान में विमानन नियम 1937 के नियम 13 का उल्लंघन हुआ तो उस विशेष मार्ग पर संबंधित एयरलाइंस की उड़ान सेवा अगले दिन से ही दो हफ्ते के लिए निलंबित कर दी जाएगी. विमान सेवा तभी बहाल होगी, जब एयरलाइन लापरवाही के लिए जिम्मेदार लोगों के खिलाफ दंडात्मक कार्रवाई करेगी.’

डीजीसीए का कहना है कि नौ सितंबर को इंडिगो के जिस विमान में कंगना रनौत सवार थी, उसमें मीडियाकर्मियों ने सुरक्षा प्रोटोकॉल और सोशल डिस्टेंसिंग नियमों का पालन नहीं किया. इस संबंध में जिम्मेदार लोगों के खिलाफ कंपनी पंद्रह दिनों के भीतर कार्रवाई रिपोर्ट पेश करे.

बता दें कि इससे पहले डीजीसीए ने इंडिगो को उसकी चंडीगढ़-मुंबई की उड़ान सेवा में मीडियाकर्मियों द्वारा सुरक्षा और सामाजिक दूरी के नियमों के कथित उल्लंघन के लिए रिपोर्ट सौंपने को कहा था.

डीजीसीए के एक अधिकारी ने बताया था, ‘हमने ऐसे कुछ वीडियो देखे हैं जिसमें मीडियाकर्मी नौ सितंबर को 6ई264 उड़ान में एक-दूसरे से बहुत सटकर खड़े थे. यह सुरक्षा और सामाजिक दूरी के नियमों के उल्लंघन की तरह है. हमने विमानन कंपनी इंडिगो से इस घटना पर रिपोर्ट सौंपने को कहा है.’

इस पर इंडिगो ने कहा था, ‘हमने अपना बयान डीजीसीए को दे दिया है. हमारे केबिन क्रू ने कैप्टन ने प्रोटोकॉल का पालन किया. इस दौरान विमान में तस्वीरें न खींचने, वीडियोग्राफी न करने और सामाजिक दूरी का ध्यान रखने सहित अन्य सुरक्षा नियमों को बनाए रखने के बारे में घोषणा की गई थी.’

डीजीसीए ने इस मामले में इंडिगो की रिपोर्ट मिलने के बाद आदेश जारी करते हुए कहा कि इस दौरान सुरक्षा नियमों और यात्रा प्रोटोकॉल का उल्लंघन किया गया.

इस दौरान मीडियाकर्मियों ने न मास्क पहन रखे थे और न ही उन्होंने सोशल डिस्टेंसिंग नियमों का पालन किया था.

एक अधिकारी ने कहा, ‘नियमों के उल्लंघन के बहुत सारे मामले हैं, जिसमें से प्रमुख विमान में फोटोग्राफी करना है. कोविड प्रोटोकॉल का भी उल्लंघन किया गया है. हमने विमानन कंपनी से इसके लिए जिम्मेदार लोगों के खिलाफ उचित कार्रवाई करने को कहा है.’

डीजीसीए अधिकारियों का कहना है, ‘विमान में इतने सारे मीडियाकर्मियों को सवार होने से रोककर इस स्थिति से बचा जा सकता था. अगर इंडिगो कर्मियों को लगा कि वे इसे नहीं रोक सकते तो उन्हें चंडीगढ़ हवाईअड्डे पर मौजूद सुरक्षाकर्मियों की मदद लेना चाहिए थी.’

मालूम हो कि विमान में हुई इस घटना का एक वीडियो शुक्रवार को सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था, जिसके बाद डीजीसीए ने इंडिगो से इस पर रिपोर्ट मांगी थी.

इंडिगो की इसी फ्लाइट में नौ सितंबर को अभिनेत्री कंगना रनौत सवार थी, जिस दौरान विमान में मीडियाकर्मियों ने सभी नियमों को ताक पर रखकर फोटोग्राफी और वीडियोग्राफी की थी.

अधिकारी ने कहा कि कंगना रनौत नौ सितंबर को विमान की चंडीगढ़-मुंबई फ्लाइट के दौरान आगे की कतार में बैठी थीं. कई मीडियाकर्मी भी उसी फ्लाइट में सवार थे.

बता दें कि नागर विमानन मंत्रालय ने कोरोना वायरस के मद्देनजर सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखने के लिए 25 मई को नए नियम जारी किए थे, जिसमें कहा गया था कि गंतव्य पर पहुंचने के बाद यात्रियों को विमान से क्रम से निकलने की अनुमति देनी चाहिए ताकि ज्यादा लोग इकट्ठा नहीं हो.