भारत

प्रधानमंत्री मोदी के जन्मदिन पर सोशल मीडिया पर ट्रेंड हुआ ‘राष्ट्रीय बेरोजगारी दिवस’

17 सितंबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के 70वें जन्मदिन के अवसर पर ट्विटर पर दिनभर कई ऐसे हैशटैग ट्रेंड करते रहे, जिनके माध्यम से ट्विटर यूज़र्स ने देश में बढ़ती बेरोज़गारी और गहरे आर्थिक संकट की तरफ इशारा करते हुए प्रधानमंत्री से जवाब मांगा.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी. (फोटो साभार: पीआईबी)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी. (फोटो साभार: पीआईबी)

नई दिल्ली: 17 सितंबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के 70वें जन्मदिन के अवसर पर ट्विटर पर राष्ट्रीय बेरोजगारी दिवस’ ट्रेंड कर रहा है जिसके माध्यम से ट्विटर यूजर्स ने प्रधानमंत्री का ध्यान देश में बढ़ती बेरोजगारी और गहरे आर्थिक संकट पर दिलाने का प्रयास किया.

कई ट्विटर यूजर्स और राजनीतिक दलों ने एक साथ एक सोशल मीडिया अभियान चलाया जिसे उन्होंने सोशल मीडिया पर आज के दिन को राष्ट्रीय बेरोजगारी दिवस का नाम दिया.

सुबह से ही  ‘#17Sept17Hrs17Minutes’, ‘#राष्ट्रीयबेरोजगारदिवस’ and ‘#NationalUnemploymentDay’ जैसे हैशटैग ट्विटर पर ट्रेंड कर रहे हैं. ये हैशटैग रोजगार उपलब्ध करा पाने में सरकार की विफलता के खिलाफ चलाए जा रहे अभियान का हिस्सा हैं.

इस खबर के प्रकाशित होने तक #राष्ट्रीय_बेरोजगारी_दिवस पर 20.9 लाख से अधिक ट्वीट हो चुके थे. वहीं, ‘#NationalUnemploymentDay’ पर 40.22 लाख से अधिक ट्वीट हो चुके थे.

भारत में बेरोजगारी की दर लगातार बढ़ती जा रही है और पिछली तिमाही में नौकरियों की संख्या में नाटकीय वृद्धि हुई है.

भारतीय अर्थव्यवस्था निगरानी केंद्र (सीएमआईई) की रिपोर्ट के अनुसार, मार्च में लॉकडाउन लागू होने के बाद से देश में नौकरियों में बहुत तेजी से कमी आई है. यही कारण है कि मार्च 2020 में कुल बेरोजगारी दर 23 फीसदी से अधिक हो गई थी.

हाल के महीनों में कुछ सुधार होने के बावजूद लॉकडाउन के पहले की तुलना में बेरोजगारी दर अभी भी अधिक है.

सीएमआईई के हालिया अनुमान दिखाते हैं कि मार्च 2020 की शुरुआत की तुलना में रोजगार की स्थिति खराब हो गई. मार्च के अंत और अप्रैल 2020 में कुछ सुधार होने के बाद से गिरावट जारी है.

वहीं, राष्ट्रीय सांख्यिकी कार्यालय (एनएसओ) की रिपोर्ट भी संकेत देती है कि भारत की अप्रैल-जून तिमाही की जीडीपी 40 सालों में पहली बार 23.9 फीसदी तक संकुचित हो गई है.

गुरुवार की सुबह से ही ट्विटर पर किए जा रहे मीम्स और मैसेजों से बेरोजगारी को लेकर युवाओं के गुस्से को दिखा रहे हैं.

कांग्रेस नेता राहुल गांधी भी इस मुहिम का हिस्सा बने और आर्थिक संकट के बीच देश में बढ़ती बेरोजगारी को लेकर उन्होंने भी केंद्र सरकार पर निशाना साधा.

उन्होंने ट्वीट कर लिखा, ‘बेतहाशा बेरोजगारी ने देश के युवाओं को आज के दिन को #राष्ट्रीयबेरोजगारदिवस के रूप में मनाने पर मजबूर कर दिया. रोजगार सम्मान है. आखिर कब तक सरकार इससे इनकार करेगी?’

अपने ट्वीट में राहुल गांधी ने एक न्यूज रिपोर्ट का फोटो भी साझा किया, जिसमें बताया गया था कि देश में एक करोड़ से अधिक युवा नौकरी मांग रहे हैं जबकि विभिन्न राज्यों में मात्र 1.77 लाख नौकरियां उपलब्ध हैं.

हालांकि, इस संकट के दौर में भी देशभर में भाजपा और मोदी समर्थक बहुत ही उत्साह के साथ उनका जन्मदिन मनाने में लगे हैं.

दिल्ली के अशोक रोड पर लगा एक होर्डिंग. (फोटो: द वायर)

दिल्ली के अशोक रोड पर लगा एक होर्डिंग. (फोटो: द वायर)

कई जगहों पर आश्चर्यजनक रूप से पार्टी कार्यकर्ता मोदी की तुलना हिंदू देवताओं से करने लगे. महाराष्ट्र में भाजपा प्रवक्ता अवधूत वाग ने मोदी की तुलना हिंदू देवता विष्णु के 11वें अवतार से कर दी.

उन्होंने ट्वीट कर कहा, ‘माननीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी भगवान विष्णु के 11वें अवतार हैं.’

हालांकि, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ऐसी तुलना कोई नई बात नहीं है. पहले भी पार्टी नेता मोदी की तुलना विष्णु के अवतार कल्कि से कर चुके हैं.

तीन साल पहले पार्टी के मणिपुर नेता लायश्रम जात्रा सिंह ने कल्कि अवतार एंड नरेंद्र मोदी नाम से एक किताब लॉन्च की थी.