भारत

मध्य प्रदेशः पत्नी के साथ मारपीट का वीडियो सामने आने के बाद आईपीएस अधिकारी पद से हटाए गए

मध्य प्रदेश में डीजी स्तर के आईपीएस अधिकारी पुरुषोत्तम शर्मा एक वीडियो में कथित तौर पर पत्नी को पीटते नज़र आ रहे हैं. मामला सामने आने के बाद उन्होंने कहा है कि यह अपराध का नहीं, बल्कि उनका पारिवारिक मामला है.

पद से हटाए गए आईपीएस अधिकारी पुरुषोत्तम शर्मा (फोटोः एएनआई)

पद से हटाए गए आईपीएस अधिकारी पुरुषोत्तम शर्मा (फोटोः एएनआई)

भोपालः मध्य प्रदेश में डीजी (पुलिस महानिदेशक) स्तर के आईपीएस अधिकारी पुरुषोत्तम शर्मा का अपनी पत्नी को पीटते हुए एक वीडियो वायरल हुआ था, जिसके बाद उन्हें उनके पद से हटा दिया गया है.

सोमवार को वायरल हुए इस वीडियो में पुरुषोत्तम शर्मा बहस के बाद अपनी पत्नी को पीटते नजर आ रहे हैं. वीडियो में उन्हें अपनी पत्नी का सिर जमीन पर दबाते हुए भी देखा जा सकता है.

एक अन्य वीडियो में, जो उनकी पत्नी ने ही रिकॉर्ड किया है. शर्मा कमरे में किसी महिला के साथ बैठे नजर आ रहे हैं और और उनकी पत्नी उनसे पूछ रही है कि वह यहां क्या कर रहे हैं.

मीडिया में आई खबरों के अनुसार, पुरुषोत्तम शर्मा को उनकी पत्नी ने एक महिला के घर पर पकड़ा था, जिसके बाद अधिकारी ने कथित तौर पर पत्नी के साथ मारपीट की थी.

शर्मा के पुत्र तथा आयकर विभाग में उपायुक्त पार्थ (32) ने प्रदेश के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा और वरिष्ठ अधिकारियों को यह वीडियो भेजा और उनसे अनुरोध किया कि उनके पिता के खिलाफ शिकायत दर्ज की जाए.

मध्य प्रदेश के गृह विभाग के अवर सचिव अन्नू भलावी ने भारतीय पुलिस सेवा (आईपीएस) के 1986 बैच के अधिकारी पुरुषोत्तम शर्मा को संचालक, लोक अभियोजन के पद से तत्काल स्थानांतरित कर कार्यमुक्त करने का आदेश जारी किया.

इस संबंध में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा, ‘अधिकारी को पदमुक्त कर दिया गया है. जो भी व्यक्ति जिम्मेदार पद पर है, यदि वह अवैध गतिविधि में लिप्त है और कानून को अपने हाथ में ले रहा है तो उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी.’

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक, सेवा आचरण नियमों के मुताबिक, गृह विभाग ने शर्मा से मामले पर स्पष्टीकरण देने को कहा है, जिसके बाद आगे की कार्रवाई पर फैसला किया जाएगा.

इससे पहले शर्मा को उनके पद्भार से मुक्त कर गृह विभाग भेज दिया गया था लेकिन उन्हें अभी तक कोई पद नहीं दिया गया है.

गृह विभाग से जुड़े एक अधिकारी ने कहा, ‘न ही उनकी पत्नी और न ही उनके बेटे ने हमसे शिकायत की है. सभी पहलुओं को ध्यान में रखते हुए एफआईआर और इसी तरह की कोई कार्रवाई शुरू नहीं की गई लेकिन अनुशासनात्मक जांच शुरू कर दी गई है.’

समाचार एजेंसी भाषा के अनुसार, यह पूछे जाने पर कि शर्मा के खिलाफ क्या कार्रवाई की जाएगी तो गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा, ‘यदि कोई लिखित शिकायत मेरे पास आती है तो इसकी जांच की जाएगी. मैंने इसे (वीडियो) भी देखा है.’

वहीं, राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष शोभा ओझा ने इस घटना को बेहद आपत्तिजनक और शर्मनाक बताया. ओझा ने कहा कि शर्मा के खिलाफ राज्य सरकार द्वारा की गई कार्रवाई अपर्याप्त है. उन्होंने शर्मा के खिलाफ आपराधिक मामला दर्ज करने और उनको सेवा से तत्काल बर्खास्त करने की मांग की है.

राष्ट्रीय महिला आयोग ने भी मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को पत्र लिखकर आईपीएस अधिकारी के खिलाफ उचित कार्रवाई की मांग की है.

इस पूरे मामले पर शर्मा ने कहा कि यदि उन्होंने कुछ गलत किया है तो उनके बेटे को बताना चाहिए कि उनकी मां इतने लंबे समय से मेरे साथ क्यों रह रही हैं?

उन्होंने कहा, ‘मेरे बेटे को बताना चाहिए पिछले 12-15 सालों से वह (उनकी पत्नी) मुझसे पैसा क्यों ले रही हैं और विदेश यात्रा पर जाती रहीं है. जीवन में इतना आराम पाने के बाद परिवार की प्रतिष्ठा बचाने का दायित्व उन (पत्नी) पर है.’

शर्मा ने संवाददाताओं से कहा, ‘यह एक पारिवारिक मामला है, अपराध का नहीं… मैं अपराधी नहीं हूं.’

इंडियन एक्सप्रेस के अनुसार, शर्मा ने कहा, ‘मेरी पत्नी ने 2008 में मेरे खिलाफ पहली शिकायत की थी. लेकिन अगर मेरा इस तरह का हिंसक व्यवहार होता तो वह इतने सालों तक मेरे साथ क्यों रहतीं? मेरे साथ विदेशी दौरें क्यों करतीं? मैं अपनी सारी संपत्ति उनके नाम क्यों करता?’

पत्नी द्वारा लगाए गए आरोपों पर उन्होंने कहा, ‘इस बारे में जब कोई जांच एजेंसी मुझसे सवाल करेगी तो मैं जवाब दूंगा, मैं मीडिया को कोई जवाब नहीं दूंगा.’

इन दोनों वीडियो के सामने आने के बाद पुलिस की एक टीम को शर्मा की पत्नी प्रिया से मिलने के लिए भेजा गया. पुलिस महानिदेशक विवेक जौहरी का कहना है, ‘हमें अभी तक इस संबंध में आधिकारिक शिकायत नहीं मिली है.’

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)