भारत

निजी अस्पतालों में कोरोना मरीजों के लिए 80 फीसदी से अधिक बेड भर गए: अहमदाबाद हॉस्पिटल एसोसिएशन

अहमदाबाद हॉस्पिटल्स एंड नर्सिंग होम्स एसोसिएशन द्वारा जारी आंकड़ों के मुताबिक निजी कोटा के 1,820 बिस्तर में से 1,516 बेड मरीज़ों से भर गए हैं, सिर्फ़ 304 बिस्तर ख़ाली हैं. वहीं, एक अधिकारी का कहना है कि अहमदाबाद नगर निगम और राज्य सरकार द्वारा संचालित अस्पतालों में पर्याप्त बिस्तर हैं.

(प्रतीकात्मक फोटो: पीटीआई)

(प्रतीकात्मक फोटो: पीटीआई)

अहमदाबाद: गुजरात के अहमदाबाद में पिछले एक सप्ताह में कोविड-19 के नए मामले तेजी से बढ़ने के कारण अब निर्धारित निजी अस्पतालों में 80 फीसदी से अधिक बिस्तर भरे हुए हैं. अहमदाबाद हॉस्पिटल्स एंड नर्सिंग होम्स एसोसिएशन (एएचएनए) ने इस संबंध में आंकड़े दिए हैं.

एएचएनए के अध्यक्ष डॉ. भगत गढ़वी ने सोमवार को बताया कि 83.29 फीसदी बिस्तर भर जाने से इन अस्पतालों में नए मरीजों को बेड हासिल करने में परेशानी हो रही है.

आंकड़ों के अनुसार, सोमवार को निजी कोटा के 1820 बिस्तर में से 83.29 फीसदी या 1516 बेड मरीजों से भर गए हैं, और बस 304 बिस्तर खाली हैं.

आंकड़ों के अनुसार, बिना वेंटिलेटर सुविधा वाले करीब 81 फीसदी आईसीयू बिस्तर भर गए हैं और महज 55 ऐसे बेड खाली हैं. इसी तरह वेंटिलेटर सुविधा वाले 89.11 फीसदी बिस्तर पर मरीज हैं तथा केवल 16 ऐसे बेड खाली हैं.

डॉ. गढ़वी ने कहा, ‘पिछले एक सप्ताह में मामलों में अचानक वृद्धि के कारण निजी अस्पतालों में कोविड-19 मरीजों के लिए उपलब्ध करीब 80 फीसदी बिस्तर भर गए हैं. निजी अस्पतालों में कोरोना वायरस के नए मरीजों को भर्ती करना मुश्किल हो रहा है.’

समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक नगर निकाय के एक अधिकारी ने बताया कि दूसरी तरफ अहमदाबाद नगर निगम (एएमसी) और राज्य सरकार द्वारा संचालित अस्पतालों में पर्याप्त बिस्तर हैं.

डिप्टी म्यूनिसिपल कमिश्नर ओपी माचरा ने कहा कि एएमसी कोटे के तहत निजी अस्पतालों और राज्य द्वारा संचालित अस्पतालों में पर्याप्त संख्या में बिस्तर उपलब्ध हैं.

माचरा ने कहा, ‘यह सच है कि निजी अस्पतालों में बिस्तर भर रहे हैं लेकिन हमारे पास अभी भी पर्याप्त बिस्तर हैं. एएमसी कोटा के तहत चलने वाले अस्पतालों और राज्य द्वारा संचालित अस्पतालों दोनों में उपलब्ध हैं.’

साथ ही माचरा ने कहा कि निजी अस्पताल उन लोगों को पसंद है, जिनकी आर्थिक स्थिति अच्छी है.

अधिकारी ने कहा, ‘अगर निजी अस्पतालों में कोटा समाप्त हो जाता है, तो लोग एएमसी कोटा के तहत भर्ती हो सकते हैं.’

माचरा ने बताया कि एएमसी भविष्य की मांग को पूरा करने के लिए और अधिक निजी अस्पतालों को शामिल करने पर विचार कर रही है.

सरकार द्वारा संचालित अस्पतालों पर बोझ को कम करने के लिए अहमदाबाद नगर निगम ने अब तक 64 निजी अस्पतालों को कोविड-19 अस्पतालों के रूप में अधिसूचित किया है.

शहर में सितंबर के तीसरे हफ्ते तक औसत कोविड-19 के 150 नए मरीज सामने आ रहे थे लेकिन पिछले एक सप्ताह से रोजाना करीब 170 नए मामले सामने आ रहे हैं.

गुजरात में सोमवार को 1,404 लोगों में कोरोना वायरस का संक्रमण पाया गया था और संक्रमण के कारण 12 लोगों की मौत हो गई थी. राज्य में अब तक कोविड-19 के कुल 1.33 लाख से अधिक मामले हो गए हैं और मृतक संख्या 3,431 पहुंच गई है.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)