दुनिया

कोरोना वायरस: संक्रमण के मामले 65 लाख के पार, स्वस्थ होने वालों की संख्या 55 लाख से अधिक हुई

भारत में कोरोना वायरस से मृतकों की कुल संख्या बढ़कर 101,782 हो गई है, जबकि संक्रमण के 6,549,373 मामले सामने आ चुके हैं. दुनियाभर में कुल मामले 3.49 करोड़ से ज़्यादा हो गए हैं और 10.33 लाख से अधिक लोगों की मौत हुई है.

A couple wearing face masks walk by a wall with graffitis after health authorities reverse the measures of reopening following the increase in cases of the coronavirus disease (COVID-19) in San Jose, Costa Rica July 13, 2020. REUTERS/Juan Carlos Ulate

(फोटो: रॉयटर्स)

नई दिल्ली: देश में पिछले 24 घंटे में कोरोना वायरस संक्रमण की वजह से 940 मरीजों की मौत हुई जिससे मृतकों की कुल संख्या बढ़कर 101,782 हो गई. वहीं एक दिन में 75,829 और लोगों के संक्रमित पाए जाने के बाद संक्रमण के कुल मामलों की संख्या बढ़कर 6,549,373 हो गई. स्वास्थ्य मंत्रालय की तरफ से यह जानकारी दी गई.

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से रविवार सुबह आठ बजे तक के अद्यतन आंकड़ों के अनुसार, देश में कोरोना वायरस संक्रमण के मामले जहां 65 लाख से पार पहुंच गए, वहीं इससे स्वस्थ होने वाले लोगों की संख्या भी 55 लाख से ज्यादा हो गई. इसके साथ ही देश में इस संक्रमण से स्वस्थ होने की दर 84.13 फीसदी हो गई है.

आंकड़ों के अनुसार, संक्रमण से स्वस्थ होने वाले लोगों की संख्या 5,509,966 है. देश में फिलहाल 937,625 कोविड-19 मरीजों का इलाज चल रहा है, जो कि कुल मामलों का 14.32 फीसदी है. कोविड-19 मृत्यु दर अब घटकर 1.55 फीसदी रह गई है.

भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) के अनुसार तीन अक्टूबर तक 78,992,534 नमूनों की जांच हुई है, जबकि शनिवार को 1,142,131 नमूनों की जांच हुई.

भारत में कोविड-19 मरीजों की संख्या सात अगस्त को 20 लाख को पार कर गई थी, जबकि 23 अगस्त को 30 लाख के पार और पांच सितंबर को 40 लाख के पार पहुंच गई थी. 16 सितंबर को यह आंकड़ा 50 लाख के पार चला गया.

आंकड़ों के मुताबिक, भारत में कोविड-19 संक्रमण के कुल मामलों की संख्या 10 लाख से 20 लाख तक पहुंचने में 21 दिनों का समय लगा था, जबकि 20 से 30 लाख की संख्या होने में 16 और दिन लगे. हालांकि 30 लाख से 40 लाख तक पहुंचने में मात्र 13 दिनों का समय लगा है. वहीं, 40 लाख के बाद 50 लाख की संख्या को पार करने में केवल 11 दिन लगे.

देश में 110 दिन में कोविड-19 के मामले एक लाख हुए थे और 59 दिनों में वह 10 लाख के पार चले गए थे.

महाराष्ट्र में सर्वाधिक मौतें

देश में संक्रमण से पिछले 24 घंटे में 940 लोगों की मौत हुई. इनमें से महाराष्ट्र में 278, कर्नाटक में 100, तमिलनाडु में 65, पश्चिम बंगाल में 62, पंजाब में 61, उत्तर प्रदेश में 60, आंध्र प्रदेश में 41 और दिल्ली में 34 लोगों की मौत हुई.

देश में अब तक संक्रमण से कुल 101,782 लोगों की मौत हुई है, जिनमें से महाराष्ट्र में 37,758, तमिलनाडु में 9,718, कर्नाटक में 9,219, उत्तर प्रदेश में 5,977, आंध्र प्रदेश में 5,941, दिल्ली में 5,472, पश्चिम बंगाल में 5,132, पंजाब में 3,562, गुजरात में 3,487 लोगों की मौत हुई.

स्वास्थ्य मंत्रालय ने मुताबिक मरने वालों में से 70 फीसदी लोग अन्य बीमारियों से भी ग्रसित थे.

वायरस के मामले और मौतें

बीते 24 घंटे या एक दिन में संक्रमण के नए मामलों की बात करें तो बीते तीन अक्टूबर को 79,476, दो अक्टूबर को 81,484, एक अक्टूबर को 86,821, 30 सितंबर को 80,472, 29 सितंबर को 70,589, 28 सितंबर को 82,170, 27 सितंबर को 88,600, 26 सितंबर को 85,362, 25 सितंबर को 86,052, 24 सितंबर को 86,508, 23 सितंबर को 83,347, 22 सितंबर को 75,083, 21 सितंबर को 86,961, 20 सितंबर को 92,605, 19 सितंबर को 93,337, 18 सितंबर को 96,424, 17 सितंबर को 97,894 मामले दर्ज किए गए थे, जो अब तक का सर्वाधिक आंकड़ा है.

इसके अलावा 16 सितंबर को 90,123, 15 सितंबर को 83,809, 14 सितंबर को 92,071, 13 सितंबर को 94,372, 12 सितंबर को 97,570, 11 सितंबर को 96,551, 10 सितंबर को 95,735, नौ सितंबर को 89,706, आठ सितंबर को 75,809 और सात सितंबर को 90,802 नए मामले दर्ज किए गए थे.

छह सितंबर को संक्रमण के नए मामले पहली बार 90 हजार (90,632) के पार हो गए थे. 28 अगस्त को पहली बार 70 हजार (75,760) के पार, सात अगस्त को पहली बार 60 हजार (62,538) के पार, 30 जुलाई को पहली बार 50 हजार के पार हो गए थे.

इसी तरह 20 जुलाई को यह पहली बार 40 हजार के पार, 16 जुलाई को पहली बार 30 हजार के पार, 10 जुलाई को पहली बार 25 हजार (26,506) के पार, तीन जुलाई को पहली बार 20 हजार के पार, 21 जून को पहली बार 15 हजार के पार और 20 जून को संक्रमण के नए मामलों की संख्या पहली बार 14 हजार के पार हुई थी.

एक दिन या 24 घंटे के दौरान मरने वालों संख्या की बात करें तो बीते तीन अक्टूबर को 1,069, दो अक्टूबर को 1,095, एक अक्टूबर को 1,181, 30 सितंबर को 1,179, 29 सितंबर को 776, लोगों की मौत हुई थी. बीते 28 दिनों में यह पहली बार था, जब मृतकों की संख्या एक हजार से कम रही है.

इसके अलावा 28 सितंबर को 1,039 लोगों की मौत, 27 सितंबर को 1,124, 26 सितंबर को 1,089, 25 सितंबर को 1,141, 24 सितंबर को 1,129, 23 सितंबर को 1,085, 22 सितंबर को 1,053, 21 सितंबर को 1,130, 20 सितंबर को 1,133, 19 सितंबर को 1,247, 18 सितंबर को 1,174, 17 सितंबर को 1,132, 16 सितंबर को 1,290 लोगों की मौत हुई, जो अब तक की सर्वाधिक संख्या है.

15 सितंबर को 1,054, 14 सितंबर को 1,136, 13 सितंबर को 1,114, 12 सितंबर को 1,201, 11 सितंबर को 1,209, 10 सितंबर को 1,172, नौ सितंबर को 1,115 और आठ सितंबर को 1,133, सात सितंबर को 1,016, छह सितंबर को 1,065, पांच अगस्त को 1,089, चार सितंबर को 1,096, तीन सितंबर को 1,043, दो सितंबर को 1,045, एक सितंबर को 819 लोगों की मौत हुई.

10 अगस्त से 31 अगस्त तक बीते 24 घंटे या एक दिन में मरने वालों की संख्या 1007 से अधिकतम 1,092 (19 अगस्त का आंकड़ा) के बीच रही. 24 जुलाई से नौ अगस्त के बीच एक दिन या 24 घंटे में मौत का आंकड़ा 700 से लेकर 933 (आठ अगस्त का आंकड़ा) के बीच रहा है. एक जुलाई से 23 जुलाई के बीच यह आंकड़ा 507 से 1,129 के बीच रहा.

11 जून से 30 जून के बीच मरने वालों की संख्या 300 से 500 के अंदर रही है. 22 जून को एक दिन में मरने वालों की संख्या पहली बार 400 से अधिक रही थी. और 11 जून को पहली बार मरने वालों की संख्या 300 के आंकड़े को पार कर गई थी.

दुनियाभर में मामले 3.49 करोड़ से ज़्यादा, 10.33 लाख से अधिक की मौत

अमेरिका की जॉन्स हॉपकिन्स यूनिवर्सिटी की ओर से जारी आंकड़ों के अनुसार, पूरी दुनिया में कोरोना वायरस संक्रमण के कुल मामले बढ़कर 34,907,906 हो गए हैं और अब तक 1,033,234 लोगों की जान जा चुकी है.

दुनियाभर में कोरोना से अमेरिका सबसे अधिक प्रभावित देश है. यहां संक्रमण के अब तक 7,382,944 मामले सामने आए हैं, जबकि मरने वालों की संख्या 209,394 हो चुकी है.

भारत संक्रमण से सर्वाधिक प्रभावित दूसरा देश है. भारत के बाद तीसरे सर्वाधिक प्रभावित देश ब्राजील में संक्रमण के अब तक 4,906,833 मामले मिले हैं और 145,987 लोग दम तोड़ चुके हैं.

ब्राजील के बाद रूस चौथे स्थान पर है, जहां संक्रमण के 1,198,663 मामले मिले हैं और 21,153 लोगों की जान जा चुकी है.

रूस के बाद संक्रमण से पांचवें सर्वाधिक प्रभावित देश कोलंबिया में 848,147 मामले आए हैं, जबकि 26,556 मरीजों की मौत दर्ज की जा चुकी है.

कोलंबिया के बाद छठे सर्वाधिक प्रभावित देश पेरू में संक्रमण के 821,564 मामले हैं और 32,609 लोगों ने जान गंवा दी है. पेरू के बाद स्पेन को पछाड़कर अर्जेंटीना संक्रमण से सातवां सर्वाधिक प्रभावित देश बन गया है. यहां संक्रमण के 790,818 मामले सामने आए हैं और 20,795 मौतें हुई हैं.

अर्जेंटीना के बाद आठवें प्रभावित देश स्पेन में संक्रमण के 789,932 मामले दर्ज हुए हैं, जबकि 32,086 मौतें हुई हैं. स्पेन के बाद नौवें सर्वाधिक प्रभावित मैक्सिको में संक्रमण के 757,953 मामले सामने आए हैं और 78,880 मौतें हुई हैं.

मैक्सिको के बाद 10वें सर्वाधिक प्रभावित देश दक्षिण अफ्रीका में संक्रमण के 679,716 मामले सामने आ चुके हैं, जबकि 16,938 लोगों की यह महामारी जान ले चुकी है.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)