राजनीति

बिहार: निर्भया ट्रस्ट ने कहा, महिलाओं के ख़िलाफ़ अपराधों को अंजाम देने वालों को टिकट न दें दल

बिहार में विधानसभा चुनाव के लिए मतदान तीन चरणों में- 28 अक्टूबर, 3 नवंबर और 7 नवंबर को होने वाले हैं. मतगणना 10 नवंबर को होगी.

(इलस्ट्रेशन: एलिज़ा बख़्त)

(इलस्ट्रेशन: एलिज़ा बख़्त)

नई दिल्ली: साल 2012 के निर्भया सामूहिक बलात्कार मामले की पीड़ित के परिवार द्वारा बनाए गए निर्भया ज्योति ट्रस्ट ने राजनीतिक दलों से अपील की है कि वे महिलाओं के खिलाफ अपराधों को अंजाम देने वालों को बिहार विधानसभा चुनाव में टिकट न दें.

ट्रस्ट ने एक बयान में कहा कि राजनीतिक दलों को वोट बैंक की राजनीति में शामिल न होकर बिहार चुनाव में बेदाग पृष्ठभूमि वाले उम्मीदवारों को टिकट देना चाहिए.

बयान में कहा गया, ‘हम अनुरोध करते हैं कि महिलाओं के खिलाफ अपराधों को अंजाम देने की पृष्ठभूमि वाले उम्मीदवारों को टिकट न दिए जाएं. अगर राजनीतिक पार्टियां वोट बैंक की राजनीति के बजाय इस बात को ध्यान में रखकर टिकट देंगी, तो न केवल बेदाग पृष्ठभूमि वाले लोग विधानसभा पहुंचेंगे, बल्कि इससे महिलाओं के प्रति सम्मान भी बढ़ेगा.’

समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक हाथरस में सामूहिक बलात्कार के बाद मौत हुई 19 वर्षीय दलित युवती के परिवार का दुख बांटने पहुंच रहीं सभी पार्टियों से ट्रस्ट ने अपील की कि वे गंभीरता से सोचें और किसी आपराधिक छवि वाले व्यक्ति को विधायक, सांसद और मंत्री बनने न दें.

बयान में कहा, ‘सभी राजनीतिक दल दुखद घटना के बाद हाथरस पीड़िता के परिवार तक पहुंच रहे हैं. यह सिर्फ राजनीतिक बातचीत तक सीमित नहीं होनी चाहिए. राजनीतिक दलों को गंभीरता से विचार करना चाहिए कि आपराधिक पृष्ठभूमि वाले विधायक, सांसद और मंत्री लोकतंत्र के मंदिर तक न पहुंच पाएं.’

एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स (एडीआर) की हाल की एक रिपोर्ट के आंकड़ों के मुताबिक, बिहार में 2005 से अब तक हुए लोकसभा और विधानसभा चुनावों में हिस्सा लेने वाले कुल 10,785 उम्मीदवारों में 3,230 यानी 30 फीसदी आपराधिक और 2,204 यानी 20 फीसदी के खिलाफ गंभीर अपराध के मामले दर्ज थे.

वहीं, बिहार के कुल 820 सांसद और विधायकों में से 469 यानी 57 फीसदी के खिलाफ आपराधिक और 295 यानी 36 फीसदी पर गंभीर आपराधिक मामले दर्ज थे.

बता दें कि मुज़फ़्फ़रपुर बालिका गृह मामले में जेल जा चुकीं मंजू वर्मा को नीतीश कुमार की नेतृत्व वाली पार्टी जदयू ने बेगूसराय ज़िले से उम्मीदवार बनाया है.

बिहार में विधानसभा चुनाव के लिए मतदान तीन चरणों में- 28 अक्टूबर, 3 नवंबर और 7 नवंबर को होने वाले हैं. मतगणना 10 नवंबर को होगा.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)