भारत

अप्रैल से सितंबर के बीच राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग को मिलीं 32,876 शिकायतें

राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग के अध्यक्ष  (रिटा.) जस्टिस एचएल दत्तू ने बताया कि एक अक्टूबर 2019 से 30 सितंबर 2020 तक आयोग ने 73,729 शिकायतें दर्ज की हैं.

(फोटो: पीटीआई)

(फोटो: पीटीआई)

नई दिल्ली: राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग (एनएचआरसी) ने सोमवार को कहा कि कोविड-19 महामारी के प्रकोप के दौरान अप्रैल से सितंबर के बीच आयोग में 32,876 शिकायतें दर्ज की गईं.

आयोग की स्थापना की 27वीं वर्षगांठ के अवसर पर एनएचआरसी के अध्यक्ष जस्टिस (सेवानिवृत्त) एचएल दत्तू की ओर से जारी एक वक्तव्य में यह जानकारी दी गई.

उन्होंने कहा कि मानवता के लिए यह वर्ष वैश्विक स्तर पर बहुत कठिनाई भरा रहा है.

दत्तू ने कहा, ‘कोविड योद्धाओं के साथ हम भी चुनौतियों का सामना कर रहे हैं. एनएचआरसी के कुछ कर्मचारी भी इस महामारी का शिकार हुए हैं.’

उन्होंने दर्ज की गई शिकायतों का विवरण साझा करते हुए कहा, ‘एक अक्टूबर 2019 से इस वर्ष 30 सितंबर तक, आयोग ने 73,729 शिकायतें दर्ज की. इनमें एक अप्रैल से लेकर 30 सितंबर 2020 तक दर्ज की गई 32,876 शिकायतें शामिल हैं.’

वक्तव्य में उन्होंने कहा कि इन शिकायतों में मानवाधिकार उल्लंघन के 29 ऐसे मामले भी शामिल हैं जिन पर आयोग द्वारा स्वतः संज्ञान लिया गया.

वक्तव्य में कहा गया कि इसके अलावा प्रवासी श्रमिकों के मामले में उच्चतम न्यायालय ने एनएचआरसी द्वारा स्वतः संज्ञान लिए जाने पर आयोग के हस्तक्षेप को मंजूरी दी.

एनडीटीवी के मुताबिक दत्तू ने कहा, ‘इस साल महामारी के कारण जीवन के हर मोर्चे पर अभूतपूर्व चुनौतियों का सामना करना पड़ रहा है. हालांकि हम आशा करते हैं और प्रार्थना करते हैं कि स्थिति में सुधार हो और हम 10 दिसंबर को अंतरराष्ट्रीय मानवाधिकार दिवस मनाने में सक्षम हों.’

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)