भारत

दिल्ली: कश्मीरी महिला ने मकान मालकिन पर ‘आतंकवादी’ कहने के आरोप लगाए, मामला दर्ज

मामला दक्षिण पूर्व दिल्ली का है, जहां एक कश्मीरी महिला ने आरोप लगाया है कि उनकी ग़ैर-मौजूदगी में मकान मालकिन ने घर में घुसकर फर्नीचर हटाया, पैसे और सामान चोरी किया. साथ ही पुलिसकर्मी की मौजूदगी में उनके साथ अभद्रता की गई. मामले में दिल्ली महिला आयोग ने पुलिस को नोटिस जारी किया है.

ईस्ट ऑफ कैलाश में बना फेमस्टे. (फोटो साभार: hikersbay)

ईस्ट ऑफ कैलाश में बना फेमस्टे. (फोटो साभार: hikersbay)

नई दिल्ली: दक्षिण पूर्व दिल्ली की एक महिला ने आरोप लगाया है कि ‘कश्मीरी’ होने के कारण उनकी मकान मालकिन ने उन्हें ‘आतंकवादी’ कहा और उनकी गैर मौजूदगी में उनका फर्नीचर हटा दिए.

महिला की शिकायत पर पुलिस ने मामला दर्ज करने के बाद यह जानकारी दी. घटना बुधवार की है. श्रीनगर की रहने वाली महिला ने शिकायत में आरोप लगाया है कि उनकी मकान मालकिन एक व्यक्ति के साथ घर में घुसीं और उनके कश्मीर से होने के कारण उन्हें ‘आतंकवादी’ कहा.

एनडीटीवी के मुताबिक, यह घटना ईस्ट ऑफ कैलाश की है. पीड़ित महिला नूर का कहना है कि उन्होंने दिल्ली के ईस्ट ऑफ कैलाश में फेमस्टे लक्ज़री होम्स में मकान किराये पर लिया था. किराये को लेकर बुधवार को मकान मालकिन और उनके सहयोगी जबरन उनके घर में घुसे उनका सामान ले गए, उनके साथ बदतमीजी की गई और ये सब कुछ दिल्ली पुलिस के एक कर्मचारी की मौजूदगी में हुआ.

नूर ने 14 अक्टूबर को एक ट्वीट कर कहा, ‘पुलिस के सामने मकान मालकिन और एक आदमी, जिसे मैंने पहले कभी नहीं देखा था, मेरे घर में घुस आए, मुझे और मेरी दोस्त को ‘आतंकवादी’ कहा क्योंकि हम कश्मीर से हैं, वो भी एक पुलिसकर्मी के सामने. उन्होंने हमारा फर्नीचर तोड़ दिया और पैसे चुरा लिए.’

उन्होंने आगे लिखा, ‘उन्होंने फिर हम पर वो फर्नीचर चुराने का आरोप लगाया, जो उन्होंने खुद हमारी गैर-मौजूदगी में वहां से हटाया था. उन्होंने हमें गालियां दीं और उकसाया.’

नूर ने ये भी कहा है कि मकान मालिकन ने उन्हें धमकाया कि वे सिगरेट से उनका चेहरा जला देंगी और उन्हें बालकनी से नीचे फेंक देंगी.

उधर, फेमस्टे की मालकिन तरुणा मखीजा ने कहा है, ‘जब ये शोरगुल कर रहे थे और ये लोग धमकी दे रहे थे तो मेरे दोस्त ने ये बात कही कि ‘आप लोग आकर आतंकवाद फैला रहे हो.’

इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक, तरुणा ने भी नूर के खिलाफ शिकायत दर्ज करवाई है, जिसकी जांच चल रही है.

22 साल की नूर एमिटी यूनिवर्सिटी से पढ़ाई पूरी करने के बाद पांच महीने पहले इस घर में शिफ्ट हुई थीं और अपनी बड़ी बहन और दोस्तों के साथ रहती हैं.

नूर का कहना है कि वे बुधवार को अपने रिश्तेदार के यहां गई हुई थीं जब मखीजा ने उन्हें फोन करके कहा कि कोई उनके घर में घुसकर सब फर्नीचर ले गया है. वे जब घर लौटीं तो घर का ताला टूटा था और कीमती सामान गायब थे. उनकी मकान मालकिन भी वहीं थी. इसके बाद उनके बीच तेज बहस हुई.

पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया, ‘मकान मालकिन ने पीसीआर को फोन किया था. एक महिला के घर में चोरी के बारे में हमें पीसीआर कॉल मिली थी. घटनास्थल पर पहुंचने पर पता चला कि घर दो बहनों को किराये पर दिया गया था. दोनों श्रीनगर की रहने वाली हैं. ’

अधिकारी ने कहा कि किरायेदार ने आरोप लगाए कि उनकी मकान मालकिन ने घर का ताला तोड़ा और फर्नीचर हटा दिया तथा कपड़े और 20 हजार रुपये चोरी कर लिए.

पुलिस उपायुक्त (दक्षिण पूर्व) आरपी मीणा ने कहा कि शिकायत के आधार पर आईपीसी की विभिन्न धाराओं में अमर कॉलोनी थाने में मामला दर्ज किया गया है और मामले की जांच जारी है.

मीणा ने बताया कि वहां मकान मालकिन और किरायेदार के बीच झगड़ा था. युवती की शिकायत पर मकान मालकिन के खिलाफ अनाधिकृत प्रवेश, मारपीट, आपत्तिजनक शब्द कहने, चोरी करने सहित अन्य धाराओं मामला दर्ज कर लिया है.

पुलिस अधिकारियों का कहना है कि मकान मालकिन ने भी युवती पर जून से किराया और बिजली बिल न देने का आरोप लगाया है और कहा है कि इस कारण फ्लैट का बिजली कनेक्शन भी कट गया है.

एनडीटीवी के मुताबिक, मकान मालिकन का कहना है कि अगस्त के बाद से उन लोगों ने किराया और बिजली बिल देना बंद कर दिया था.

वहीं नूर ने बताया कि इस घर का किराया 55 हजार रुपये है. जब एक जून को मकान किराये पर लिया था, तो पहले महीने का बिजली बिल 6 हजार रुपये आया था. दूसरे महीने यह बढ़कर 33 हजार रुपये पर पहुंच गया. फिर अगस्त में 60 हजार रुपये का बिजली का बिल आया, तो पता लगा कि वहां कॉमर्शियल मीटर लगा हुआ है.

साथ ही नूर का यह भी कहना है कि वो हर महीने पूरा किराया देते थे, जिसके सबूत उनके पास हैं.

 

 

दिल्ली महिला आयोग ने इस सिलसिले में पुलिस को नोटिस जारी किया है और कार्रवाई रिपोर्ट, प्राथमिकी की प्रति और मामले में कोई गिरफ्तारी हुई है अथवा नहीं, इस बारे में जानकारी मांगी है.

महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने ट्वीट कर कहा, ‘दिल्ली में एक कश्मीरी लड़की पर मकान मालिकों द्वारा मारपीट और बदतमीज़ी की घटना सामने आई है. हम दिल्ली पुलिस को नोटिस जारी कर रहे हैं, मामले में एफआईआर हो और जल्द से जल्द दोषियों पर कार्रवाई हो.’

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)