भारत

हरियाणा: बल्लभगढ़ में कॉलेज के बाहर छात्रा की हत्या के आरोप में दो गिरफ़्तार

बल्लभगढ़ में सोमवार को दो युवकों ने एक छात्रा को कार में खींचने का प्रयास किया था और असफल रहने पर उसे गोली मार दी. परिजनों का आरोप है कि मुख्य आरोपी छात्रा पर शादी का दबाव बना रहा था. पुलिस ने आरोपियों को अदालत में पेश करने के बाद रिमांड पर लिया है.

हरियाणा के बल्लभगढ़ में कॉलेज के बाहर छात्रा की हत्या की तस्वीर. (फोटो: वीडियो ग्रैब)

हरियाणा के बल्लभगढ़ में कॉलेज के बाहर छात्रा की हत्या की तस्वीर. (फोटो: वीडियो ग्रैब)

फरीदाबाद: हरियाणा के बल्लभगढ़ शहर स्थित अग्रवाल कॉलेज की बीकॉम ऑनर्स की एक छात्रा की गोली मारकर हत्या किए जाने के मामले में  पुलिस ने मंगलवार को दो लोगों को गिरफ्तार किया है.

छात्रा निकिता तोमर की सोमवार को हुई हत्या से गुस्साए सैकड़ों लोग मंगलवार को सड़क पर उतर गए और पुलिस प्रशासन व सरकार से न्याय की मांग करने लगे. प्रदर्शनकारी आरोपियों को फांसी देने की मांग कर रहे थे.

मृतका के परिजनों ने पुलिस प्रशासन पर आरोप लगाया कि जो प्राथमिकी दर्ज की गई है, उसमें कुछ खामियां हैं. आरोपी निकिता पर धर्म बदलने का दबाव डाल रहा था, जिसका जिक्र इसमें नहीं किया गया है.

उन्होंने मांग की कि मामला फास्ट ट्रैक अदालत में भेजा जाए तथा आरोपियों को फांसी की सजा दी जाए. परिजनों ने कहा कि जब तक उनकी मांगें पूरी नहीं होतीं तब तक उनका प्रदर्शन जारी रहेगा.

द ट्रिब्यून तक उन्होंने मंगलवार को करीब चार घंटे तक राष्ट्रीय राजमार्ग-2 पर चक्काजाम किया था.

उल्लेखनीय है कि सोमवार को आरोपियों ने पहले छात्रा को कार में खींचने का प्रयास किया और फिर असफल रहने पर गोली मारकर उसकी हत्या कर दी.

अधिकारी ने बताया कि घटना के बाद उसे अस्पताल ले जाया गया लेकिन उसने दम तोड़ दिया.

इस पूरी घटना की सीसीटीवी फुटेज सामने आ गई है. इस मामले को लेकर मृतका के परिजनों ने फरीदाबाद के सेक्टर-23 में भी प्रदर्शन भी किया. परिजनों का आरोप है कि मुख्य आरोपी छात्रा पर शादी का दबाव बना रहा था.

हरियाणा के गृहमंत्री ने कहा कि परिवार की सुरक्षा के लिए फरीदाबाद पुलिस आयुक्त से बात की गई है, जल्द ही उन्हें सुरक्षा दी जाएगी और आरोपियों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की जाएगी.

उधर, पुलिस ने छात्रा को गोली मारने वाले मुख्य आरोपी तौफीक के साथ-साथ उसके साथी रेहान निवासी नूंह को भी मंगलवार को गिरफ्तार कर लिया.

अपराध शाखा डीएलएफ ने मुख्य आरोपी तौफीक को सोमवार रात ही गिरफ्तार कर लिया था. वह कबीर नगर, सोहना, गुरुग्राम का निवासी है.

पुलिस आयुक्त ओपी सिंह के अनुसार तुरंत प्रभाव से अपराध शाखा की 10 टीमों को जल्द से जल्द आरोपियों को गिरफ्तार करने के दिशानिर्देश दिए गए थे.

अपराध शाखा ने फरीदाबाद से पलवल एवं मेवात तक चलाए गए 5 घंटे के अभियान के दौरान मुख्य आरोपी को धर दबोचा.

उन्होंने बताया कि आरोपी वर्ष 2018 में भी लड़की को अपने साथ ले गया था जिसपर मामला थाना सिटी बल्लभगढ़ में दर्ज किया गया था. गिरफ्तार आरोपी तौफीक की उम्र 21 वर्ष है. दूसरा आरोपी रेहान रेवासन मेवात का रहने वाला है.

उन्होंने बताया कि दोनों को फरीदाबाद जिला अदालत में पेश किया गया और उन्हें दो दिन के रिमांड पर लिया गया है. सिंह ने कहा कि पुलिस के पास पर्याप्त साक्ष्य हैं, जिनके आधार पर आरोपियों को कड़ी से कड़ी सजा दिलाई जाएगी.

मुख्य आरोपी तौफीक के दादा कबीर अहमद विधायक रह चुके हैं, जबकि चाचा खुर्शीद अहमद हरियाणा के पूर्व मंत्री रहे हैं.

वहीं, एक अन्य रिश्तेदार आफताब अहमद वर्तमान में कांग्रेस के नूंह (मेवात) विधानसभा क्षेत्र से विधायक हैं और भूपेंद्र सिंह हुड्डा सरकार में परिवहन मंत्री भी रहे हैं.

तौफीक के चाचा जावेद अहमद ने भी 2019 में सोहना विधानसभा क्षेत्र से बसपा के टिकट पर चुनाव लड़ा था, लेकिन हार गए थे.

बुधवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए विज ने कहा, ‘आरोपी कांग्रेस नेताओं का रिश्तेदार है. कांग्रेस नेताओं के दबाव के कारण ही लड़की के माता-पिता को 2018 में आरोपियों के खिलाफ दर्ज मामले को वापस लेने के लिए मजबूर होना पड़ा था.’