दुनिया

अमेरिकी टीवी चैनलों ने बीच में रोकी राष्ट्रपति ट्रंप की लाइव कवरेज, ‘झूठ’ बोलने का हवाला दिया

अमेरिका में राष्ट्रपति चुनाव के मतों की गिनती के बीच निवर्तमान राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप एक सार्वजनिक संबोधन में डेमोक्रेट्स द्वारा ‘अवैध मतों’ का इस्तेमाल करते हुए ‘उनसे यह चुनाव चोरी करने’ का दावा कर रहे थे, जब कई टीवी नेटवर्कों ने इसका लाइव कवरेज बीच में काटते हुए कहा कि ट्रंप ग़लत जानकारियां फैला रहे हैं.

डोनाल्ड ट्रंप. (फोटो: रॉयटर्स)

डोनाल्ड ट्रंप. (फोटो: रॉयटर्स)

वॉशिंग्टन/न्यूयॉर्क: संयुक्त राष्ट्र अमेरिका में राष्ट्रपति चुनाव के मतों की गिनती के उतार-चढ़ाव के बीच कई टीवी नेटवर्कों ने राष्ट्रपति चुनाव की रात के बाद पहली बार दिए जा रहे अमेरिका के निवर्तमान डोनाल्ड ट्रंप के पहले सार्वजनिक संबोधन के लाइव कवरेज (सजीव प्रसारण) को यह कहते हुए रोक दिया कि ट्रंप गलत जानकारियां फैला रहे हैं.

एनडीटीवी की खबर के अनुसार, अपने 17 मिनट के संबोधन में ट्रंप ने कई भड़काऊ और बेबुनियाद दावे करते हुए जोर दिया कि डेमोक्रेट्स ‘अवैध मतों’ का इस्तेमाल करते हुए ‘उनसे यह चुनाव चोरी कर रहे हैं.’

ट्रंप यह सम्बोधन उस समय दे रहे थे, जब कुछ मुख्य राज्यों में डेमोक्रेटिक उम्मीदवार जो बाइडेन के बढ़त बनाने की ख़बरें आ रही थीं.

एमएसएनबीसी के एंकर ने इस लाइव कवरेज को बीच में ही काटा और एंकर ब्रायन विलियम्स ने कहा, ‘हम एक बार फिर एक असामान्य स्थिति में हैं, जहां हम न केवल अमेरिका के राष्ट्रपति के संबोधन को रोक रहे हैं बल्कि अमेरिका के राष्ट्रपति के तथ्यों को सही भी कर रहे हैं.’

उन्होंने कहा, ‘हमें पता है कि कोई अवैध वोट नहीं है, और हमें पता है कि ट्रंप जीतने भी नहीं वाले.’

एनबीसी और एबीसी भी ट्रंप के संबोधन से दूरी बनाते नजर आए और उन्होंने इसकी लाइव कवरेज को बीच में ही रोक दिया.

‘एनबीसी’ के लेस्टेर होल्ट ने कहा, ‘हमें इसे रोकना ही था क्योंकि राष्ट्रपति ने चुनाव में धोखाधड़ी सहित कई गलत बयान दिए थे. उनके कोई सबूत मौजूद नहीं हैं.’

‘एबीसी’ के कवरेज समाप्त करने के बाद व्हाइट हाउस में उनके संवाददाता जोनाथन कार्ल ने कहा कि अवैध वोट के संबंध में कोई सबूत मौजूद नहीं है.

हालांकि ‘फॉक्स न्यूज चैनल’ और ‘सीएनएन’ ने उनका पूरा संबोधन प्रसारित किया था.

सीएनएन के जेक टेपर ने कहा, ‘यह अमेरिका के लिए दुख की रात है कि उन्हें अमेरिका के राष्ट्रपति को लोगों पर चुनाव चोरी करने का झूठा आरोप लगाते हुए सुनना पड़ रहा है.’

समाचार एजेंसी एपी के अनुसार, ट्रंप के संबोधन के बाद ‘सीएनएन’ के एंडरसन कूपर ने कहा कि ट्रंप एक ऐसे आलसी कछुए की तरह पेश आ रहे हैं, जिसे पता हो की उसका समय समाप्त हो चुका है और वह अब आराम कर रहा हो.

सीबीसी की नोराह ओडोनेल ने संबोधन को बीच में रोकते हुए संवाददाता नैंसी कोर्डस से ट्रंप के उस दावे की जांच करने को कहा, जिसमें उन्होंने कहा था कि अगर ‘वैध मतों’ की गिनती हुई तो वह आसानी से चुनाव जीत जाएंगे.

इस पर कोर्डस ने कहा कि अवैध वोटों की बड़ी संख्या का कोई संकेत नहीं है और वोटों के देर से पहुंचने के मामले में ट्रंप का संदर्भ ‘एक और झूठ’ था.

इसके अलावा कई मीडिया संगठनों के लोगों ने मतदान के दिन आधी रात को गुस्से में दिए ट्रंप के भाषण की काफी आलोचना की थी, लेकिन उनके संबोधन को पूरा प्रसारित किया था.

गुरुवार को ट्रंप उतने गुस्से में नजर नहीं आए लेकिन चुनाव, डाक-मतपत्रों को ‘दबाने’और धोखाधड़ी की बात करते रहे, लेकिन उनके द्वारा किसी भी तथ्य का स्पष्ट वर्णन नहीं किया गया.

गौरतलब है कि अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने दावा किया है कि अगर केवल ‘वैध मतों’ की ही गिनती होती तो वह कांटे की टक्कर वाले राष्ट्रपति चुनाव में आसानी से जीत गए होते.

व्हाइट हाउस में गुरुवार को संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए ट्रंप ने संकेत दिया कि अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव के नतीजों का फैसला अंतत: उच्चतम न्यायालय में होगा क्योंकि उन्होंने चुनाव में कथित धांधली के खिलाफ बड़े पैमाने पर वाद दाखिल करने की योजना बनाई है.

ट्रंप ने संवाददाता सम्मेलन में किसी पत्रकार के सवाल का जवाब नहीं दिया, लेकिन आरोप लगाया कि डेमोक्रेटिक पार्टी धांधली से वर्ष 2020 का राष्ट्रपति चुनाव जीतना चाहती है. हालांकि उन्होंने अपने दावे के समर्थन में कोई सबूत पेश नहीं किया.

ट्रंप ने कहा, ‘अगर वैध मतों की गिनती होती है तो मैं आसानी से जीत जाऊंगा. अगर आप अवैध मतों की गिनती करते हैं तो वे अमेरिका से जीत को छीनने की कोशिश कर सकते हैं.’

ट्रंप का यह संदेश जॉर्जिया और पेनसिल्वेनिया राज्यों में गिनती के दौरान उनके और जो बाइडेन के बीच अंतर कम होने के बीच आया. राष्ट्रपति ने कहा कि वह देर से डाले गए मतों की गिनती को रोकने की वकालत कर रहे हैं.

ट्रंप ने दावा किया, ‘‘मैं पहले ही कई अहम राज्यों सहित बड़ी जीत हासिल कर चुका हूं. डेमोक्रेटिक पदाधिकारी मानते हैं कि वे ईमानदारी से कभी चुनाव नहीं जीत सकते… इसलिए बड़े पैमाने पर धांधली चल रही है.’

ट्रंप ने इसके साथ ही कहा कि उनके दावे के पीछे कई सबूत हैं, लेकिन उन्होंने इसके बारे में कुछ साझा नहीं किया.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)