राजनीति

कर्नाटक उपचुनाव: भाजपा ने दोनों सीटें जीतीं, सिरा सीट पर पहली बार जीत दर्ज की

कर्नाटक के बेंगलुरु शहरी ज़िला स्थित आरआर नगर सीट पर भाजपा उम्मीदवार एन. मुनिरत्न और तुमकुरु ज़िले की सिरा सीट पर पार्टी उम्मीदवार बीएम राजेश गौड़ा विजयी रहे.

भाजपा उम्मीदवार राजेश गौड़ा और मुनिरत्न. (फोटो साभार: ट्विटर)

भाजपा उम्मीदवार राजेश गौड़ा और मुनिरत्न. (फोटो साभार: ट्विटर)

बेंगलुरु: मंगलवार को 11 राज्यों की 58 सीटों पर हुए विधानसभा उपचुनाव के लिए भी मतगणना हुई. कर्नाटक की विधानसभा सीटों दो सीटों पर उपचुनाव हुए. इन दोनों सीटों- आरआर नगर और सिरा पर सत्तारूढ़ भाजपा ने जीत दर्ज की है.

मंगलवार को भाजपा ने तुमकुरु जिले की सिरा विधानसभा सीट पर पहली बार जीत दर्ज कर इतिहास रच दिया. इस सीट पर हुए उपचुनाव में पार्टी उम्मीदवार बीएम राजेश गौड़ा ने कांग्रेस के अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी और छह बार विधायक रहे टीबी जयचंद्र को 12,000 से अधिक मतों के अंतर से पराजित किया.

जद (एस) ने 2018 में हुए विधानसभा चुनावों में इस सीट पर जीत दर्ज की थी जो इस बार तीसरे स्थान पर रही.

जद (एस) के विधायक बी. सत्यनारायण का अगस्त में निधन होने के बाद सिरा में तीन नवंबर को उपचुनाव कराया गया था. जद (एस) ने सत्यनारायण की पत्नी अम्माजम्मा बी. को चुनाव मैदान में उतारा था.

विजयी भाजपा उम्मीदवार राजेश गौड़ा एक रेडियोलॉजिस्ट हैं और कांग्रेस के पूर्व सांसद सीपी मुदालगिरियप्पा के बेटे हैं. गौड़ा हाल ही में सत्तारूढ़ पार्टी में शामिल हुए थे.

उनकी जीत को महत्वपूर्ण माना जा रहा है, क्योंकि सिरा में भाजपा ने पहली बार जीत दर्ज की है.

भाजपा 2018 के विधानसभा चुनाव में सिरा विधानसभा सीट पर तीसरे स्थान पर रही थी. सत्यनारायण ने उस समय कांग्रेस के जयचंद्र को पराजित किया था. इस सीट पर हुए उपचुनाव के लिए कांग्रेस ने जयचंद्र को ही उम्मीदवार बनाया था.

आरआर नगर विधानसभा सीट पर भाजपा के मुनिरत्न विजयी

कर्नाटक में बेंगलुरु शहरी जिला स्थित राजराजेश्वरी नगर (आरआर नगर) विधानसभा सीट पर हुए उपचुनाव में भाजपा प्रत्याशी एन. मुनिरत्न ने मंगलवार को जीत हासिल की.

अधिकारियों ने बताया कि पिछले साल भाजपा में शामिल होने वाले मुनिरत्न ने अपने निकटम प्रतिद्वंद्वी कांग्रेस प्रत्याशी कुसुमा एच. को 57,000 से ज्यादा वोटो से शिकस्त दी.

जद (एस) इस सीट पर तीसरे स्थान पर रही. आरआर नगर सीट पर तत्कालीन कांग्रेस विधायक मुनिरत्न को दल-बदल कानून के तहत अयोग्य ठहराए जाने की वजह से उपचुनाव कराया गया है.

मुनिरत्न की यह 2013 से लगातार तीसरी जीत है. वह पहली बार भाजपा के टिकट पर विधायक निर्वाचित हुए हैं.

तीन नवंबर को हुए उपचुनाव में आरआर नगर में वोट प्रतिशत (45.24 प्रतिशत) बहुत कम था, जबकि सिरा सीट पर वोट प्रतिशत (82.31 प्रतिशत) बहुत अच्छा रहा था.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)